Sunday, February 5, 2023

Breaking News

   Supreme Court: कलेजियम की सिफारिशों को रोके रखना लोकतंत्र के लिए घातक: जस्टिस नरीमन     ||   Ghaziabad: NGT के फैसले पर नगर निगम को SC की फटकार, 1 करोड़ जमा कराने की शर्त पर वूसली कार्रवाई से राहत     ||   दिल्लीः फ्लाइट में स्पाइसजेट की क्रू के साथ अभद्रता के मामले में एक्शन, आरोपी गिरफ्तार     ||   मोरबी ब्रिज हादसा: ओरेवा ग्रुप के मालिक जयसुख पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी     ||   भारत जोड़ो यात्राः राहुल गांधी बोले- हम चाहते हैं कि बहाल हो जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा     ||   MP में नहीं माने बजरंग दल और हिंदू जागरण मंच, 'पठान' की रिलीज के विरोध का किया ऐलान     ||   समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्या पर लखनऊ में FIR     ||   बजरंग पुनिया बोले - Oversight Committee बनाने से पहले हम से कोई परामर्श नहीं किया गया     ||   यमुना एक्सप्रेस-वे पर कोहरे की वजह से 15 दिसंबर से स्पीड लिमिट कम कर दी जाएगी     ||   भारत की यात्रा करने वाले ब्रिटेन के नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा फिर से शुरू     ||

पहलवानों की गुहार....पीएम साहब , हमें मजबूर न करें कि बहन- बेटियों के शोषण की कहानी आप लोगों को सुनाएं , हमारे साथ न्याय हो

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पहलवानों की गुहार....पीएम साहब , हमें मजबूर न करें कि बहन- बेटियों के शोषण की कहानी आप लोगों को सुनाएं , हमारे साथ न्याय हो

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री जी...अब आपसे हमें उम्मीद है कि आप हमें न्याय दिलाएंगे । हम देश की वो बेटियां हैं, जिन्होंने देश को सम्मान दिलाया है....बल्कि आप लोगों ने भी हमें सम्मानित किया है । हम नहीं चाहते कि किसी लड़की को पीएम मोदी , गृहमंत्री जी के सामने जाना पड़े और बताना पड़े कि हमारे साथ क्या हुआ है । हम झूठ नहीं बोल रहे । हमें मजबूर न किया जाए कि हमें जनता को बताना पड़े कि उनकी बहन बेटियों के साथ क्या क्या हुआ है ...ये कहना है कि जंतर मंतर पर कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह शरण पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली अंतरराष्ट्रीय पदक विजेता कुश्ती महिला पहलवानों का । खेल सचिव के साथ बैठक कर वापस लौंटे पहलवानों के प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने मीडिया से बातचीत में ये बातें कहीं । 

देश के लिए लड़ सकते हैं तो खुद लिए नहीं लड़ेंगे क्या , यह हमारे सम्मान की लड़ाई है - बजरंग पूनिया

अध्यक्षजी मेरे से दो मिनट आंख लगाकर बात कर लें - विनेश

इस दौरान कुश्ती खिलाड़ी विनेश फोगाट ने कहा कि आज कुश्ती महासंघ के अध्यक्षजी मेरे सामने आ जाएं , दो मिनट बैठकर आंख मिलाकर बात करके दिखाएं ।  हमारे साथ बहुत गलत हुआ है । यूपी की लड़कियों का कुश्ती का करियर खत्म हो गया । केरला की लड़कियां फोन करके हमें बधाई दे रही हैं कि आप सामने आई हैं । अब ये महाराष्ट्र की लड़कियों के पीछे पड़ गए हैं । 

देश के पहलवानों का कुश्ती फेडरेशन संग 'दंगल' , खेल मंत्रालय में फेडरेशन भंग करने की मांग

हम अपना सबकुछ दांव पर लगाकर यहां बैठे हैं 

विनेश ने कहा - आप हम अपना सबकुछ दांव लगाकर यहां बैठे हैं । जब पत्रकारों ने उनसे सबूतों के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि कैमरे के सामने सबूत नहीं होते । आरोप लगाने वाली लड़कियां खुद सबूत हैं । उन्होंने सवाल उठाया कि बंद कमरे में हमें डराने वाली आंखें आज कहां हैं । इस दौरान उन्होंने अपनी सुरक्षा पर भी चिंता जताई , कहा हम रातों को अकेले हैं , पुलिस सुरक्षा भी नहीं ली है । हम जानते हैं कि हम सच बोल रहे हैं । हम कुश्ती छोड़कर बैठे हैं , लेकिन अध्यक्ष जी पद नहीं छोड़ रहे । हम खेल मंत्री से मिलने का इंतजार कर रहे हैं ।

जरूरत पड़ी तो FIR दर्ज कराएंगे

इस दौरान विनेश फोगाट ने कहा कि अगर पुलिस में मामला दर्ज करने की जरूरत होगी तो हम वो भी करेंगे । बृजमोहन सिंह को इस्तीफा तो देना ही होगा । हम अध्यक्ष का इस्तीफा लेकर ही रहेंगे । उन्होंने कहा कि आज हमारे साथ पांच - छह लड़कियां हैं जो कल अध्यक्षजी के खिलाफ मामला दर्ज करवाएंगी । हम न केवल उनका इस्तीफा लेंगे बल्कि उन्हें जेल में बंद भी करवाएंगे ।

विनेश फोगाट बोलीं- अध्यक्षजी ने खुद कई लड़कियों का शोषण किया है , 10-12 के नाम मैं बता सकती हूं , इस्तीफा देंगे बृजभूषण सिंह!

हमें नहीं मिला संतोषजनक जवाब

इस दौरान महिला पहलवान साक्षी मलिक ने कहा - अभी तक हमें संतोषजनक जवाब नहीं मिला है , हमने जो आरोप लगाए हैं वो सत्य है । आज हमारे पास 5-6 लड़कियां सामने आने को तैयार हैं , जो महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण की काली करतूत को सबूतों के सामने रखने को तैयार हैं । खेल सचिव के साथ हुई बैठक में कोई ठोस बात नहीं कही गई है , हमें सिर्फ आश्वासन दिया गया है कि हमारे साथ न्याय होगा । लेकिन हम आश्वासन से खुश नहीं है । हम न केवल इस्तीफा लेंगे बल्कि उन्हें जेल भी भिजवाएंगे , अब कई राज्यों से हमें फोन आ रहे हैं और वहां की फेडरेशन के पीड़ित खिलाड़ी भी हमारे साथ आ रहे हैं । 

हमारी लड़ाई सरकार ने नहीं

इस दौरान बजरंग पूनिया ने कहा कि हमारी लड़ाई की राजनीतिक दल से या सरकार से नहीं है । हम अव्यवस्था और अपनी कुश्ती के लिए लड़ रहे हैं । हमारे साथ जो व्यवहार होता है वह ठीक नहीं है । पहलवानों ने यह भी साफ कर दिया कि जब तक कार्रवाई नहीं होगी, तब तक धरना जारी रहेगा। वे आश्वासन से खुश नहीं हैं। उन्हें कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला है। वह ठोस कार्रवाई चाहते हैं। वह इस बात की उम्मीद में बैठे हैं कि उन्हें न्याय मिलेगा। पूरे कुश्ती संघ को भंग करना चाहिए, जब तक संघ को भंग नहीं किया जाएगा, हम पीछे नहीं हटेंगे।

Todays Beets: