Thursday, February 25, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

नए साल में घट जाएगी आपकी सैलरी , नए वेतनमान नियमों के चलते कुछ ये मिलेगा लाभ  

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नए साल में घट जाएगी आपकी सैलरी , नए वेतनमान नियमों के चलते कुछ ये मिलेगा लाभ  

नई दिल्ली । अगर आप नौकरी पेशा हैं तो अगले वित्तवर्ष से आपको अपनी सैलरी में कटौती का कष्ट भी झेलना होगा  , हालांकि ऐसे लोगों को रिटायर होने पर इसका लाभ भी मिलेगा । असल में यह सब 2021-22 वित्त वर्ष से शुरू होने वाले नए वेतनमान नियमों (New Wage Rule) के लागू होने के चलते होगा। नए वेतनमान नियमों के चलते आपकी सैलरी (In hand salary), प्रोविडेंट फंड (Provident Fund) और ग्रेच्युटी (Gratuity) पर फर्क पड़ेगा । 

बता दें कि पिछले दिनों केंद्र की मोदी सरकार ने संसद में वेज कोड (Wage Code) पास करवाया था । यह वेज कोड अब वित्तवर्ष 2021-22 से लागू होगा , यानी 1 अप्रैल 2021 से । इसका असर प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले छोटे बड़े सभी कर्मचारियों और अधिकारियों की सैलरी पर पड़ेगा ।  

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक , नए नियम के हिसाब से कर्मचारियों को मिलने वाले तमाम भत्ते जैसे ग्रेच्युटी, PF वगैरह कुल सैलरी (Total Salary) के 50 परसेंट से ज्यादा नहीं हो सकते हैं ।  यानि कंपनियों को अप्रैल 2021 से कुल सैलरी में बेसिक सैलरी का हिस्सा 50 परसेंट या फिर इससे ज्यादा रखना होगा । वेतनमान के इन नए नियमों के बाद सैलरी के स्वरूप में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। 


जहां इस नए वेतनमान नियमों से लोगों को कुछ नुकसान होगा , वहीं कुछ फायदे भी होंगे ।  जानकारों का कहना है कि इन नए नियमों से जहां लोगों की सैलरी कम हो जाएगी , वहीं रिटायरमेंट के बाद उनकी ग्रेच्युटी की रकम बढ़ जाएगी । क्योंकि ग्रेच्युटी बेसिक सैलरी के हिसाब से कैलकुलेट की जाती है, और बेसिक सैलरी बढ़ने से ग्रेच्युटी की रकम भी बढ़ जाएगी।  इसके अलावा कंपनी और कर्मचारी दोनों का ही PF योगदान भी बढ़ जाएगा । इस सबके चलते लंबी अवधी तक एक कंपनी में काम करने वाले लोगों को अपने रियाटर्मेंट के समय पहले की तुलना में ज्यादा रकम मिलेगी । 

असल में नए वेतनमान नियम में आपके हाथ में आने वाली सैलरी कम हो जाएगी । इसका सीधा नुकसान उन लोगों को होगा जो बड़े पैकेज पर काम कर रहे हैं। उनकी सैलरी में 70-80 फीसदी हिस्सा भत्तों का होता है । वहीं कंपनियों पर भी इस नए नियम से आर्थिक बोझ बढ़ेगा । 

Todays Beets: