Thursday, June 30, 2022

Breaking News

   मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया, कुलगाम में बैंक मैनेजर की हत्या में शामिल था: IGP कश्मीर     ||   जालंधर: अरविंद केजरीवाल के दौरे से पहले दीवारों पर लिखे मिले खालिस्तान के सपोर्ट वाले स्लोगन     ||   पुलिस लॉरेंस बिश्नोई को लेकर मोहाली पहुंची, अज्ञात जगह हो रही पूछताछ     ||   राष्ट्रपति चुनाव: ममता बनर्जी की मीटिंग में जाएंगे मल्लिकार्जुन खड़गे और जयराम रमेश     ||   दिल्ली: कांग्रेस कार्यकर्ताओं का उग्र प्रदर्शन, बैरिकेड तोड़े, टायर जलाए     ||   सुवेंदु अधिकारी समेत निलंबित भाजपा विधायकों ने पश्चिम बंगाल विधानसभा में धरना दिया     ||   18 जून को 100 साल की हो जाएंगी नरेंद्र मोदी की मां हीराबा, मिलने जाएंगे पीएम     ||    रोडरेज मामले में सिद्धू को 1 साल कठोर कारावास की सजा, SC ने 34 साल पुराने केस में सुनाई सज़ा    ||   बिहार विधानसभा में कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा, CPI-ML के 12 विधायकों को किया गया बाहर     ||   गौतमबुद्ध नगर के तीनों प्राधिकरणों के 49,500 करोड़ नहीं चुका रहीं रियल एस्टेट कंपनियां     ||

अग्निवीर बनने के लिए आखिर क्या है आयुसीमा - योग्यता और वेतन....यहां जाने पूरी डिटेल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अग्निवीर बनने के लिए आखिर क्या है आयुसीमा - योग्यता और वेतन....यहां जाने पूरी डिटेल

नई दिल्ली ।  रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को तीनों सेना प्रमुखों के साथ एक पत्रकार वार्ता करते हुए अग्निपथ की स्कीम का ऐलान किया । यह योजना देश के युवाओं के लिए सेना में भर्ती का एक मौका देगी , जिसमें युवाओं को 4 साल तक सेना में सेवा करने का मौका मिलेगा । 4 साल की सेवा के बाद जवानों को आयकर से मुक्त करीबन 10:30 लाख रुपए की संयुक्त निधि और उपार्जित ब्याज का लाभ भी दिया जाएगा । इतना ही नहीं भर्ती होने वाले जवानों को 30 से  40 हजार रुपये तक प्रतिमाह वेतन भी दिया जाएग । इस सब के बावजूद बुधवार को बिहार में इस योजना के विरोध में काफी बवाल मचा । युवाओं ने इस बात पर आपत्ति जताई कि आखिर 4 साल की सेवा करने के बाद उन्हें निकाल देने पर उनका भविष्य क्या होगा । कई युवाओं ने इस योजना पर सवाल उठाते हुए इसमें बदलाव करने की मांग उठाई है। 

बता दें कि मोदी सरकार ने देश के युवाओं को सेना से जोड़ने और शत-शत सेनाओं के आधुनिकरण के लिए अग्निपथ स्कीम की योजना की है । इस योजना के तहत चयनित जवानों को अग्निवीर कहा जाएगा । इनकी भर्ती के लिए निर्धारित योग्यता और आयु सीमा का भी कल हुई प्रेसवार्ता में पूरी तरह ब्यौरा दिया गया है । 

असल में इस समय सभी सेनाओं में सैनिकों की औसत आयु 32 वर्ष है और अपनी सेनाओं को युवाओं से परिपूर्ण करने के लिए यह अग्निपथ स्कीम लाई गई है । इस योजना के तहत भर्ती किए जाने वाले जवानों को अग्निवीर कहा जाएगा । इन जवानों की आयु साढ़े 17 साल से 21 साल के बीच होनी चाहिए । 

चलिए एक बार फिर हम अग्नीपथ बनने की चयन प्रक्रिया और उसकी निर्धारित योग्यताओं के बारे में आपको बता दें आपको बताते हैं कि इस योजना का लाभ कि नहीं मिलेगा पर इस योजना के तहत चयनित जवानों को कितना वेतन और क्या सुविधाएं मिलेगी। 

- आपको बता दें कि सेना में भर्ती के लिए शैक्षिक योग्यता पहले जैसी ही रहेगी यानी भर्ती के लिए आने वाले जवानों को 12वीं पास होना जरूरी है । 

- भर्ती के लिए आने वाले युवाओं की आयु साढ़े 17 साल से 21 साल के बीच होनी चाहिए । 

 

- भर्ती होने वाले युवाओं को 6 महीने की ट्रेनिंग के साथ 4 साल तक सेना में सेवा का मौका दिया जाएगा । 

- अपने इस 4 साल के सेवाकाल के दौरान किए गए प्रदर्शन को आधार बनाते हुए इनमें से 25 फीसदी को आगे भी सेवा के लिए चुना जाएगा । 

 

-  हालांकि 100% उम्मीदवार वॉलिंटियर के तौर पर रेगुलर काडर के लिए आवेदन कर सकते हैं । 

- भर्ती के लिए आने वाले छात्रों को फिजिकल और मेडिकल टेस्ट पास करना जरूरी होगा। 


 

- 4 साल की सेवा देने वाले इन अग्निवीरों के लिए सरकार ने एक सेवा निधि की घोषणा भी की है ।

- इसके तहत पहले साल युवाओं को ₹30000 मासिक वेतन पर रखा जाएगा , इस योजना के तहत ईपीएफ और पीपीएफ की सुविधा पाते हुए अग्निवीर पहले साल में ₹470000 पाएंगे ।

- वहीं चौथे साल तक यह वेतन ₹40,000 प्रतिमाह और सालाना 6,42, 000 रुपये तक हो जाएगा। 

इतना ही नहीं सालाना पैकेज के साथ इन अग्निवीरों को कुछ भत्ते भी मिलेंगे जिसमें रिस्क एंड हार्डशिप राशन ड्रेस और ट्रैवल एलाउंस शामिल होंगे। 

-

हालांकि ये अग्निवीर ग्रेच्युटी और पेंशन संबंधी लाभों के हकदार नहीं होंगे। 

- इसी क्रम में अग्निवीरों को भारतीय सशस्त्र बलों में उनकी अवधि के लिए 48, 00, 000 रुपए का गैर अंशदाई जीवन बीमा कवर प्रदान किया जाएगा। 

- 4 साल की समयावधि के दौरान सभी अग्निवीरों को विभिन्न सैन्य कौशल अनुशासन शारीरिक फिटनेस देश प्रेम की ट्रेनिंग दी जायेगी। 

- इसी क्रम में प्रत्येक अग्निवीर द्वारा प्राप्त कौशल को उसके यूनिक बायोडाटा का हिस्सा बनाने के लिए एक प्रमाण पत्र दिया जाएगा। 

 

 

 

Todays Beets: