Sunday, July 25, 2021

Breaking News

   बिहार: पटना में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़, 2 गिरफ्तार     ||   जम्मू-कश्मीर: आतंकवादियों ने पुलिस कांस्टेबल की पत्नी और बेटी पर गोलियां चलाईं, दोनों जख्मी     ||   पेगासस मामला: दुनिया के 14 बड़े नेताओं की भी की गई जासूसी, PM इमरान समेत कई अन्य का लिस्ट में नाम     ||   जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट केस: कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की पत्नी के खिलाफ गैर जमानती वॉरंट जारी     ||   पेगासस मामला: शिवसेना ने की जेपीसी जांच की मांग, कहा- यह हमला आपातकाल से भी बदतर     ||   महाराष्ट्र सरकार ने भी HC से कही थी ऑक्सीजन की कमी से मौत ना होने की बात- अमित मालवीय     ||   नवजोत सिंह सिद्धू के आवास पर पहुंचे 62 MLA, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बोले- बदलाव की बयार     ||   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||

आखिर जावडेकर और रविशंकर प्रसाद को क्यों किया कैबिनेट से बाहर , सामने आया बड़ा कारण

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आखिर जावडेकर और रविशंकर प्रसाद को क्यों किया कैबिनेट से बाहर , सामने आया बड़ा कारण

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट का बुधवार को विस्तार हो गया । इसके साथ ही कैबिनेट में व्यापक फेर बदल भी किए गए , जिसमें कई चौंकाने वाले थे तो कई को उनके कामकाज के रिजल्ट का परिणाम कहा गया । बुधवार को मोदी सरकार के 12 मंत्रियों को कैबिनेट से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया । रमेश पोखरियाल , डॉक्टर हर्षवर्धन , बाबुल सुप्रीयो , सदानंद गौड़ा समेत कई मंत्रियों को उनके खराब रिपोर्ट कार्ड के चलते अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा । लेकिन केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और रविशंकर प्रसाद के बेहतर कामकाज के बाद उन्हें कैबिनेट से अलग करने पर सबने हैरानी जताई । हालांकि उन्हें पदमुक्त किए जाने के बाद अब पार्टी के ही कुछ वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि पिछले कुछ समय में भाजपा ने अपने दिग्गज नेताओं को खोया है । आने वाले समय में संगठन को फिर से पहले जैसा मजबूत करने के लिए इन दो वरिष्ठ नेताओं की संगठन को बहुत जरूरत थी , इसलिए इन्हें पदमुक्त किया गया है । 

निशंक उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को मोदी सरकार ने दूसरे कार्यकाल में अहम जिम्मेदारी देते हुए शिक्षा मंत्री बनाया था । कई किताबों के लेखक और भारतीय संस्कृति के जानकार के रूप में उनसे बेहतर काम की अपेक्षा था , लेकिन ऐसा नहीं हुआ। नई शिक्षा नीति के अंतिम रूप देने के अलावा उनके पास बताने के लिए कोई उपलब्धि नहीं है। कोरोना के कारण देश की पूरी शिक्षा प्रणाली अस्त-व्यस्त रही। शिक्षा के क्षेत्र में कोई नवाचार लाकर उसे नई दिशा देने की जगह निशंक उससे निपटने के लिए संघर्ष करते दिखे। 

कोरोना काल में हर्षवर्धन ने किया ''सरेंडर''

वर्ष 2014 में डॉक्टर हर्षवर्धन को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री की कमान सौंपी गई थी । उन्हें ये जिम्मेदारी पेशे से डाक्टर और पोलियो उन्मूलन अभियान की रूपरेखा तैयार करने में उनके योगदान को ध्यान रखते हुए दी गई थी । हालांकि दो साल बाद ही उन्हें  स्वास्थ्य मंत्रालय से हटाकर अर्थ साइंस मंत्रालय में भेज दिया गया और स्वास्थ्य मंत्रालय की जिम्मेदारी जेपी नड्डा को सौंपी गई। हालांकि एक बार फिर से मोदी सरकार पार्ट 2 में उन्हें फिर से स्वास्थ्य मंत्रालय सौंपा गया ।  कोरोना जैसे वैश्विक संकट के दौर में वह कुछ खास नहीं कर पाए , जिसके चलते नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पाल और भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार डाक्टर विजय राघवन ने आगे बढ़कर कमान संभाली। 

इन मंत्रियों की कुछ ऐसी थी स्थिति

- केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत का इस्तीफा लेने से पहले उन्हें सम्मानजनक विदाई देते हुए कर्नाटक का राज्यपाल बना दिया गया । 


- वर्ष 2019 में जीत के बाद अपनी सादगी के लिए चर्चा में आने के बाद प्रधानमंत्री ने प्रताप चंद्र षड्ंगी को राज्यमंत्री बनाकर उनपर भरोसा भी जताया, लेकिन बीते दो सालों में उनका योगदान शून्य रहा। 

- कुछ यही हाल राज्यमंत्री बाबुल सुप्रियो, रतनलाल कटारिया और देवाश्री चौधरी का भी रहा। उनके रिपोर्ट कार्ड में उपलब्धियां न के बराबर नजर आईं, जिसके चलते उन्हें मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया।

- बात सदानंद गौड़ा की करें तो रसायन और उर्वरक मंत्री के रूप में वह कोरोना काल के दौरान जरूरी दवाओं और उनके लिए जरूरी बल्क ड्रग की सप्लाई सुनिश्चित करने में विफल रहे। 

- कुछ ऐसा ही हाल श्रम मंत्रालय को देख रहे संतोष गंगवार का भी रहा । कोरोना काल में श्रमिकों के बड़े पैमाने पर पलायन और उनकी दुश्वारियों को दूर करने के लिए एक पोर्टल बनाने की घोषणा की गई, लेकिन अभी तक यह बनकर तैयार नहीं हो पाया। इसको लेकर

सुप्रीम कोर्ट सरकार की फटकार भी लगा चुकी है।

 

ravi shanker prashad    prakash javadekar resign    politics     national     New Ministers in Modi Cabinet 2     Modi Cabinet Reshuffle     portfolio allocated of ministers     Modi Cabinet Portfolio    cabinet meeting    ministers list    new ministers     DA    pm narendra modi    dilip kumar Died    modi cabinet      modi government       cabinet extention      modi cabinet reshuffle    bjp      new faces in modi cabinet    news live      news update    JDU   . LJP        apna dal       nishad party    narayan rane      pashupati nath    . news in hindi      national news      hindi khaber      politics news       मोदी सरकार      मोदी कैबिनेट    कैबिनेट विस्तार      कैबिनेट में बदलाव       यूपी चुनाव      महाराष्ट्र    पश्चिम बंगाल    पशुपति पारस      चिराग पासवान      मंत्री पद      कैबिनेट विस्तार का ऐलान      जेपी नड्डा       नरेंद्र मोदी      प्रधानमंत्री      खबरें हिंदी में      हिंदी खबर    हर्षवर्धन    रमेश पोखरियाल    निशंक       

Todays Beets: