Tuesday, July 16, 2019

Breaking News

   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||   मनी लॉन्ड्रिंग कानून से जुड़ी कांग्रेस सांसद की याचिका पर SC का केंद्र सरकार को नोटिस    ||   पीएम मोदी लोकसभा में ट्रिपल तलाक बिल पास करने के वक्त सांसदो की कम उपस्थिती पर नाराज    ||   सोनिया गांधी ने लोकसभा में रायबरेली की रेल कैच फैक्टरी का मुद्दा उठाया    ||   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||

मुरली मनोहर जोशी गुस्से में वित्त सचिव से बोले- मुझे GDP ना समझाओ, मेरी और जीडीपी की उम्र एक बराबर 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मुरली मनोहर जोशी गुस्से में वित्त सचिव से बोले- मुझे GDP ना समझाओ, मेरी और जीडीपी की उम्र एक बराबर 

नई दिल्ली । भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी की अध्यक्षता वाली प्राक्कलन समिति ने बैकों के बढ़ते कर्ज के मुद्दे पर जानकारी के लिए मंगलवार को मुख्य आर्थिक सलाहकार पद से इस्तीफा देने वाले अरविंद सुब्रमण्यम के साथ-साथ ईडी और सीबीआई के अधिकारियों को बुलाया था। इस दौरान बैकों के बढ़ते एनपीए पर बातचीत के लिए वित्त सचिव हंसमुख आदिया और आरबीआई  के डिप्टी गवर्नर समेत वित्त मंत्रालय के कई अफसरों को बुलाया गया था। खबरों के अनुसार, बैठक के दौरान जब वित्त सचिव आदिया ने मुरली मनोहर जोशी को एनपीए की जानकारी देते हुए जीडीपी के बारे में कुछ कहा तो भाजपा के ये वरिष्ठ नेता भड़क उठे। उन्होंने वित्त सचिव को कड़े अंदाज में कहा कि मेरा जन्म 5 जनवरी, 1934 को हुआ था जबकि जीडीपी का 4 जनवरी, 1934 को हुआ था इसलिए मैं जीडीपी को जन्म से फॉलो कर रहा हूं। इसलिए मुझे GDP के बारे मत बताइए। 

समलैंगिकता पर केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- कोर्ट ही तय करे सहमति से बालिगों का समलैंगिक संबंध अपराध है या नहीं

30 सदस्यी समिति ने उठाए कई सवाल

बता दें कि इस बैठक के दौरान 30 सदस्यीय समिति के सदस्यों ने बैंकिंग क्षेत्र में बढ़ते एनपीए और एनपीए के कारण उत्पन होने वाले संकट पर कई सवाल उठाए । बैठक में वित्त सचिव हंसमुख आदिया और आरबीआई  के डिप्टी गवर्नर समेत वित्त मंत्रालय के कई वरिष्ठ अफसरों को बुलाया गया करीब 4  घंटे तक चली इस बैठक में समिति सदस्यों ने उन बैंकों के बोर्ड मीटिंग्स के मिनट्स और दस्तावेज मांगें जिनमें बड़े बैंक कर्ज को मंजूरी दी गई थी। 


सोशल मीडिया पर अब नहीं फैलेंगी फर्जी खबरें, कानून और आईटी मंत्रालय मिलकर जारी करेंगे दिशा-निर्देश

शिकायतों की जांच किस स्तर पर पहुंची

वहीं इस बैठक में ईडी निदेशक करनैल सिंह और सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को भी बुलाया गया था। उन्हें बुलाए जाने के बारे में खबर है कि इन दोनों अफसरों को आने वाले दिनों में समिति को जानकारी देनी होगी कि बैंकों के द्वारा दिए वो लोन जो एनपीए हो चुके हैं और बैंकिंग बोर्ड में जिन अधिकारियों के खिलाफ शिकायत आई है, उनकी जांच किस स्तर पर की जा रही है। 

अब सेना के जवानों से नहीं लिया जाएगा अर्दली जैसा काम, सेनाप्रमुख ने जारी की नई गाइडलाइन

Todays Beets: