Tuesday, November 30, 2021

Breaking News

   टीम इंडिया भी रद्द कर सकती है साउथ अफ्रीका दौरा? इस वजह से बढ़ी टेंशन     ||   CJI सीजेआई ने सरकार को दी ये नसीहत, कहा- तभी निडर होकर काम कर पाएंगे जज     ||   DNA: अमेरिका की महागरीबी का विश्लेषण, 17 प्रतिशत आबादी है गरीबी रेखा से नीचे     ||   कृषि कानूनों को रद्द करने का रास्ता साफ, लोक सभा में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पेश करेंगे बिल     ||   52वां इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया 20 से 28 नवंबर तक गोवा में होगा     ||   पीएम मोदी की अपील- मेड इन इंडिया सामान खरीदने पर जोर दें, इसके लिए सब प्रयास करें     ||   भारत में 100 करोड़ वैक्सीनेशन पर बिल गेट्स ने दी पीएम मोदी को बधाई     ||   सेना की 39 महिला अफसरों की बड़ी जीत, मिलेगा स्थायी कमीशन; SC ने दिया आदेश     ||   बिहार में महागठबंधन टूटा, कांग्रेस का ऐलान 2024 के आम चुनाव में सभी 40 सीटों पर लड़ेगी पार्टी     ||   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||

पेट्रोल - डीजल की ऊंची कीमतों से राहत! , महज 62 रुपये प्रति लीटर वाला ईंधन बना विकल्प 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पेट्रोल - डीजल की ऊंची कीमतों से राहत! , महज 62 रुपये प्रति लीटर वाला ईंधन बना विकल्प 

नई दिल्ली । देश में पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच अब इसके विकल्प पर भी बातें शुरू हो गई हैं । इस सबके बीच केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने वाहनों में पेट्रोल डीजल के बजाए इथेनॉल के इस्तेमाल पर जोर देते की बात कही है । उन्होंने कहा कि इथेनॉल - पेट्रोल डीजल की तुलना में ज्यादा किफायती और प्रदूषण मुक्त ईंधन है । इसके अलावा गडकरी ने बताया कि आने वाले कुछ ही दिनों में फ्लैक्स-फ्यूल इंजन भारत में अनिवार्य किए जाने वाले हैं. । फ्लैक्स-फ्यूल या फ्लैक्सिबल फ्यूल एक वैकल्पिक फ्यूल मोड है जो गैसोलीन, मिथेनॉल या इथेनॉल का मिश्रण है । 

असल में महाराष्ट्र स्टेट कोऑपरेटिव बैंक के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री गडकरी ने रशियन तकनीक का जिक्र किया । इस दौरान उन्होंने इस तकनीक की जानकारी दी , जिसके चलते पेट्रोल और इथेनॉल की क्लोरिफिक वेल्यू बराबर हो जाती है । गडकरी ने गन्ने की बड़ी पैदावार वाले इलाके पश्चिमी महाराष्ट्र की चर्चा करते हुए कहा कि, अगर ऐसा होता है तो पेट्रोल पंप की जगह इथेनॉल पंप ले लेंगे ।

वह बोले - पेट्रोल का उपयोग ना करें.. बढ़ती कीमत को लेकर आपको घबराने की जरूरत नहीं है । इथेनॉल की कीमत 62 रुपए प्रति लीटर है और यह आयात का विकल्प होने के साथ पैसा वसूल और प्रदूषण मुक्त है।


प्रदूषण मुक्त वाहनों के प्रचार के लिए गडकरी दिल्ली में ग्रीन हाइड्रोजन कार का इस्तेमाल करेंगे । वह बोले - अगर कॉर्पोरेट सैक्टर से पहले कोऑनरेटिव सैक्टर हाइड्रोजन तकनीक का इस्तेमाल शुरू करता है जो इसे फायदा भी पहले मिलेगा । 

उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र में पहले से 3 इथेनॉल पंप काम कर रहे हैं, इसके अलावा पश्चिम महाराष्ट्र में ऑटो-रिक्शा को 100 प्रतिशत इथेनॉल से चलाने का परमिट देने के लिए राज्य सरकार से आग्रह किया है ।

विदित हो कि पेट्रोल में इथेनॉल की ज्यादा मात्रा मिलने पर भारत का ईंधन आयात कम होगा । इतना ही नहीं इससे गन्ना किसानों के साथ शुगर मिल के मालिकों को भी फायदा होगा । टोयोटा और किर्लोसकर से अपनी हालिया मीटिंग की चर्चा करते हुए गडकरी ने कहा कि, “उन्होंने फ्लैक्स इंजन के साथ कारें बना ली हैं. फ्लैक्स इंजन 100 प्रतिशत पेट्रोल या इथेनॉल से चलते हैं. इसे यूरो 6 नियमों के हिसाब से तैयार किया गया है और मैं भारत में इसे अनिवार्य करने वाला हूं । 

Todays Beets: