Saturday, January 16, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

नास्त्रेदमस ने 2021 के लिए की हैं कई डराने वाली भविष्यवाणियां , कोरोना वायरस का 450 साल पहले जताई थी आशंका

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नास्त्रेदमस ने 2021 के लिए की हैं कई डराने वाली भविष्यवाणियां , कोरोना वायरस का 450 साल पहले जताई थी आशंका

नई दिल्ली । भविष्यवक्ता नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों को लेकर समय समय पर चर्चाएं उठने लगती हैं । एक बार फिर से इन दिनों फ्रांस में जन्म लेने वाले नास्त्रेदमस के करीब 450 सालों पूर्व की गई भविष्यवाणियों पर बहस शुरू हुई है । असल में उनके द्वारा अपनी किताब 'लेस प्रोफेटीस' में 6338 भविष्यवाणियां की थीं , जिनमें से 70 फीसदी के करीब अब तक सच हो चुकी हैं। वर्ष 2020 में फैले कोरोना वायरस को लेकर भी उनकी भविष्यवाणी से जोड़कर देखा गया है । वहीं अब 2021 के लिए की गई उनकी कुछ भविष्यवाणियों पर चर्चाएं शुरू हो गई हैं । 

असल में सन् 1555 में उनकी पहली किताब आई थी , जिसमे हजारों भविष्यवाणियां की गई थीं । उनकी भविष्यवाणियां पूरी दुनिया को लेकर थीं , जिन्हें छंदों के रूप में कहा गया था और इन्हें 'क्वाट्रेन' कहा गया । 

कोरोना काल भी सांकेतिक जिक्र

असल में नास्त्रेदमस ने अपनी इस किसाब में धरती पर अकाल, भूकंप, तरह-तरह की बीमारियां और महामारियों के चलते पूरी दुनिया पर एक साथ परेशानी आने की बात लिखी है । उन्होंने इसे दुनिया के अंत की शुरुआत से जोड़ा, जिसे लोग अब इस साल पूरी दुनिया पर महामारी बनकर आए कोरोना वायरस की तरह देख रहे हैं । उन्होंने अपनी किताब में लिखा है यह एक ऐसा अकाल होगा, जिसका सामना दुनिया ने पहले कभी नहीं किया । दुनिया की आबादी का एक बड़ा हिस्सा इस तबाही से उबर नहीं पाएगा ।

सूर्य की तबाही का जिक्र


इतना ही नहीं उनकी किताब में 2021 को दुनियाभर की प्रमुख घटनाओं के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण वर्ष के तौर पर लिखा गया है । इस दौरान सूर्य की तबाही पृथ्वी के क्षतिग्रस्त का कारण बनेगी । नास्त्रेदमस ने एक चेतावनी में समुद्र तल के बढ़ने और पृथ्वी के उसमें समाने की बात भी कही थी । जलवायु परिवर्तन के ये नुकसान युद्ध और टकराव की स्थिति पैदा करेंगे। 

पृथ्वी पर आएगा बड़ा संकट

नास्त्रेदमस ने अपनी किताब के एक छंद में पृथ्वी से धूमकेतु के टकराने का भी जिक्र किया हुआ है । यह भूकंप और कई तरह की प्राकृतिक आपदाओं का कारण बनेगा । पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश करने के बाद ये एस्टेरॉयड उबलना शुरू कर देगा । आकाश में ये नजारा 'ग्रेट फायर' जैसा होगा । हालांकि नासा के वैज्ञानिकों ने भी ऐसी ही एक आशंका के बारे में चेताया है । उनके अनुसार , 2009 KF1 नाम के एक एस्टेरॉयड के 6 मई 2021 को पृथ्वी से टकराने का खतरा है । वैज्ञानिकों का कहना है कि इस एस्टेरॉयड की ताकत 1945 में हिरोशिम पर अमेरिका द्वारा गिराए गए परमाणु बस से करीब 15 गुना ज्यादा होगी ।

कैलिफॉर्निया में भूकंप

इसी क्रम में नास्त्रेदमस ने पृथ्वी पर एक प्रलयकारी भूकंप आने की बात कही है जो 'न्यू वर्ल्ड' को तबाह कर देगा । कैलिफॉर्निया को इसका लॉजिकल प्लेस कह सकते हैं, जहां ये घटना हो सकती है ।

Todays Beets: