Thursday, August 22, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

भाजपा ने ओडिशा में किसानों की आत्महत्या के लिए सरकार को बताया जिम्मेदार, कृषि की अनदेखी का आरोप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपा ने ओडिशा में किसानों की आत्महत्या के लिए सरकार को बताया जिम्मेदार, कृषि की अनदेखी का आरोप

भुवनेश्वर। ओडिशा भाजपा इकाई ने राज्य में किसानों की आत्महत्या के लिए राज्य सरकार को दोषी ठहराया है। भाजपा राज्य इकाई के प्रमुख बसंत पांडा ने संवाददाताओं से कहा कि सरकार आसान ऋण नहीं मुहैया करा रही है इस कारण किसान महाजनों से काफी ऊंचे ब्याज दर पर ऋण लेते हैं और नहीं चुका पाने की वजह से आत्महत्या कर लेते हैं। बता दें कि बसंत पांडा ने सरकार पर कृषि की अनदेखी करने का आरोप लगाया। 

गौरतलब है कि भाजपा नेता ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘फसल खराब होने के कारण कई किसान ऋण चुकाने में असफल रहते हैं और कर्ज से दबे होने के करने वे आत्महत्या के लिए विवश हो जाते हैं।’ उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को खाद, बीज और सिंचाई जैसी सुविधाओं के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने में भी ‘विफल’ रही है। उन्होंने कहा कि किसानों को उनके उत्पादों के लिए केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) भी नहीं दिया जा रहा है।

ये भी पढ़ें - राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष का मंदिर पर बड़ा बयान, कहा-दिसंबर से शुरू हो जाएगा निर्माण


यहां बता दें कि भाजपा इकाई के नेता बसंत पांडा ने कहा कि प्रदेश सरकार कृषि क्षेत्र की ओर खास ध्यान नहीं दे रही है। उन्होंने भाजपा शासित दूसरे राज्यों का उदाहरण देते हुए कहा कि सरकार को यहां भी पीड़ित किसानों को मुआवजा राशि देने के साथ ब्याज मुक्त ऋण देना चाहिए।  

 

Todays Beets: