Sunday, October 20, 2019

Breaking News

   दिल्ली में भी भोपाल जैसा हनी ट्रैप , कई रईसजादों को विदेशी लड़कियों की मदद से फंसाया    ||   घाटी में घनघटाने लगीं मोबाइल फोन की घंटियां, इंटरनेट पर अभी भी प्रतिबंध    ||   इकबाल मिर्ची की इमारत में प्रफुल्ल पटेल का भी फ्लैट , ईडी ने भेजा समन    ||   रणवीर सिंह ने ठुकराया संजय लीला भंसाली की फिल्म का ऑफर , आलिया भट्ट हैं फिल्म की हिरोइन    ||   वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति ने भी माना- अर्थव्यवस्था की हालत खराब     ||   दिल्ली में डेंगू ने तोड़ा रिकॉर्ड, इस हफ्ते में 111 नए मामले आए सामने     ||   अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्ड्रिंग केस: 25 अक्टूबर तक बढ़ी रतुल पुरी की न्यायिक हिरासत     ||   तमिलनाडु: मसाले की फैक्ट्री में लगी आग, मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद     ||   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||

मधुर भंडारकर - कंगना - प्रसून जोशी समेत 61 दिग्गजों का PM मोदी पर 'तंज' करने वालों पर पलटवार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मधुर भंडारकर - कंगना - प्रसून जोशी समेत 61 दिग्गजों का PM मोदी पर

नई दिल्ली । केंद्र की मोदी सरकार को सवालों के घेरे में खड़ते हुए बॉलीवुड की कुछ हस्तियों समेत 49 शख्सियतों ने पिछले दिनों देश में हो रहीं मॉब लिन्चिंग और 'जय श्री राम' के नारे को एक हथियार के तौर पर इस्तेमाल किए जाने के आरोप लगाते हुए चिंता जताई थी । लेकिन अब इन लोगों को जवाब देते हुए 61 अन्य शख्सियतों ने पीएम मोदी को एक खुला खत लिखकर आड़े हाथों लिया है । भारतीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (CBFC) के प्रमुख प्रसून जोशी, बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत, फिल्मकार मधुर भंडारकर, तथा विवेक अग्निहोत्री के अलावा शास्त्रीय नर्तकी व राज्यसभा सदस्य सोनल मानसिंह समेत कई अन्य दिग्गजों ने अपने खत में मोदी सरकार को सवालों के घेरे में खड़ा करने वालों पर 'चुनिंदा घटनाओं पर गुस्सा जताने, झूठे किस्से सुनाने और साफतौर पर राजनैतिक पक्षपात' के आरोप लगाए हैं । 

मोदी सरकार ने एसोचैम की मांग मानी तो 48 रुपये होगी देश में पेट्रोल की कीमत , 25 रुपये की कटौती है संभव

इन 61 दिग्गजों के खत में लिखा गया है, "23 जुलाई, 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम प्रकाशित खुले खत ने हमें अचंभे में डाल दिया है... देश की चेतना के 49 स्वयंभू रखवालों और अभिभावकों ने चुनिंदा चिंता व्यक्त की है, और साफतौर पर राजनैतिक पक्षपात का प्रदर्शन किया है... हम लोगों ने, जिन्होंने इस खत पर साइन किए हैं, हमारी नजर में चुनिंदा रूप से भड़ास निकालना , एक फर्जी किस्से को सच्चा साबित करने की कोशिश करना है ।  पीएम मोदी के प्रयासों को नकारात्मक रूप से दिखाने की कोशिश है...

कर्नाटक LIVE :  येदियुरप्पा आज 6 बजे शपथ लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ , 7 दिन बाद करना होगा बहुमत साबित 


इस खत में इन दिग्गजों ने मोदी सरकार पर तंज करने वालों पर हल्ला बोलते हुए लिखा है - खुले खत पर दस्तखत करने वालों ने अतीत में उस समय चुप्पी साधे रखी थी, जब जनजातीय लोगों और हाशिये पर सरक चुके लोगों को नक्सलियों ने शिकार बनाया था... वे उस समय भी चुप्पी साधे रहे थे, जब अलगाववादियों ने कश्मीर में स्कूलों को जला डालने का फरमान जारी किया था । वे तब भी खामोश रहे थे, जब भारत को तोड़ने की मांग की गई थी।"

LokSabha LIVE: आजम के विवादित बोल पर महिला सांसदों का 'हल्ला बोल' , स्मृति बोलीं- पहले किसी पुरुष ने ऐसी हिमाकत नहीं की

इस नए खत में लिखा गया है - दरअसल,  मोदी सरकार के कार्यकाल में अलग राय रखने, सरकार को कोसने और उसकी आलोचना करने की सबसे ज्यादा आजादी है , असहमति की भावना इससे ज्यादा मजबूत कभी नहीं रही है । 

 

Todays Beets: