Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

राजद सुप्रीमो की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, रेलवे होटल भ्रष्टाचार में पटियाला कोर्ट ने भेजा समन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राजद सुप्रीमो की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, रेलवे होटल भ्रष्टाचार में पटियाला कोर्ट ने भेजा समन

पटना। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भले ही नीतीश सरकार पर हमलावर हों लेकिन उनके परिवार की मुश्किलें कम नहीं हो रहीं हैं। आईआरसीटीसी होटल घोटाले मामले में पटियाला हाउस कोर्ट ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव को समन भेजा है। इससे पहले 27 जुलाई को हुई सुनवाई के बाद जज ने 30 जुलाई तक अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। जज ने मामले का अध्ययन करने के लिए समय मांगा था। यहां बता दें कि सीबीआई ने इस मामले में 16 अप्रैल को आरोप-पत्र दायर किया था।

गौरतलब है कि लालू प्रसाद के रेल मंत्री रहते हुए विनय और विजय कोचर नाम के व्यापारियों को फायदा पहुंचाने के लिए पटना के पाॅश इलाके में जमीन लेने का आरोप है। बताया जा रहा है कि इस जमीन के बदले लालू प्रसाद ने रांची और पुरी में आईआरसीटीसी के 2 होटलों की जिम्मेदारी इन दोनों की कंपनी सुजाता होटल को सौंप दिया था।  इस मामले की जांच कर रही सीबीआई ने 16 अप्रैल को लालू प्रसाद, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और पुत्र तेजस्वी यादव समेत 14 अन्य लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी। 


ये भी पढ़ें - असम में रहने वाले 40 लाख लोग अवैध, एनआरसी ने जारी किया दूसरा ड्राफ्ट

यहां बता दें कि सीबीआई ने अदालत को बताया कि रेलवे बोर्ड के अतिरिक्त सदस्य और आईआरसीटीसी के पूर्व ग्रुप मैनेजर बी. के. अग्रवाल पर मुकदमा चलाने के लिए संबंधित अधिकारियों से मंजूरी प्राप्त की गई है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अग्रवाल पर कार्रवाई की अनुमति दी है। इस अधिकारी पर मामले में लालू व उनके परिवार को फायदा पहुंचाने के लिए जानबूझकर देरी कर मामले को कमजोर करने का आरोप है। बता दें कि रेल मंत्री रहते हुए लालू पर यह भी आरोप लगा कि सुजाता होटल को फायदा पहुंचाने के लिए निविदा की प्रक्रिया में भी छेड़छाड़ की गई है। 

Todays Beets: