Friday, September 17, 2021

Breaking News

   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||   तालिबान की अमेरिका को धमकी, 31 अगस्त के बाद भी रही सेना तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे    ||   कर्नाटक CM से स्थानीय BJP विधायक की मांग- कोरोना के चलते किसी भी हिंदू पर्व पर ना लगे बंदिशें    ||   तेजप्रताप की नाराजगी के सवाल पर बोले तेजस्वी- राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर ही देंगे जवाब    ||   अंडमान एंड निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में महसूस किए गए 4.3 तीव्रता के भूकंप     ||   दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कनॉट प्लेस पर भारत के पहले स्मॉग टावर का उद्घाटन किया     ||   गुजरात में शराबबंदी के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका मंजूर, 12 अक्टूबर को होगी सुनवाई     ||   सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री ने चेताया, आर्थिक गतिविधियां खुलने के साथ ही बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले     ||   पत्नी शालिनी के आरोपों पर बोले हनी सिंह- सभी आरोप गलत, कोर्ट में चल रहा केस     ||   रांचीः महिला हॉकी में झारखंड से शामिल हर खिलाड़ियों को मिलेंगे 50-50 लाख रुपयेः CM हेमंत सोरेन     ||

ये थीं राजकुंद्रा को गिरफ्तारी करने की असल वजह , सरकारी वकील ने किए खुलासे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ये थीं राजकुंद्रा को गिरफ्तारी करने की असल वजह , सरकारी वकील ने किए खुलासे

मुंबई । पोर्नोग्राफी केस में मुंबई क्राइम ब्रांच की रडार पर आए व्यापारी राज कुंद्रा को लेकर सोमवार कई खुलासे हुए हैं । कुंद्रा द्वारा अपनी गिरफ्तारी को अवैध बताते हुए बांबे हाईकोर्ट में एक रिट पिटीशन दाखिल की गई थी , जिसपर आज सुनवाई हुई । इस दौरान सरकारी वकील ने कोर्ट में कई तथ्य रखते हुए इस बात को साबित करने की दलीलें दी कि आखिर राज कुंद्रा की गिरफ्तारी क्यों जरूरी थी । इस दौरान सरकारी वकील ने कोर्ट को बताया कि कुंद्रा के लैपटॉप से जांच एजेंसी को कई विवादित चीजें मिली थीं । इसमें कई टैक्स एनवॉयस के साथ ही कुछ डाटा और करीब 68 एडल्ट मूवी बरामद हुई थी । इतना ही नहीं उसके लैपटॉप की हिस्ट्री में कई अहम तथ्य जांच एजेंसी के साथ लगे थे । इससे इतर, महाराष्ट्र साइबर सेल के मामले में राज कुंद्रा (Raj Kundra) के अग्रिम जमानत की याचिका पर सुनवाई 7 अगस्त तक के लिए टल गई है। 

सबूत मिटाने में जुटे थे कुंद्रा

बांबे हाईकोर्ट में कुंद्रा द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने कहा- कुंद्रा लगातार पोर्नोग्राफी मामले में घिरने की आशंका के चलते ऐसे सबूत मिटा रहे थे , जिसके चलते वह घिर सकते थे । हालांकि जांच एजेंसी ने उनके लैपटॉप से यूजर फाइल्स, इमेल्स, मैसेज, फेसटाइम, इंटरनेट ब्राउजिंग हिस्ट्री मिली है, जिसमें सब्सक्राइबर डिटेल्स, अलग-अलग तरह कर इनवॉयस भी मिली है। क्राइम ब्रांच (Crime Branch) को स्टोरेज नेटवर्क  से 51 एडल्ट मूवीज मिली हैं, जबकि राज कुंद्रा के लैपटॉप से 68 एडल्ट मूवीज मिली हैं। 

कुंद्रा नहीं कर रहे जांच में सहयोग

उन्होंने कोर्ट से कहा कि गिरफ्तारी के बाद से कुंद्रा जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं । कुंद्रा को 41A नोटिस दिया गया था, लेकिन उन्होंने उसे एक्सेप्ट नहीं किया था। इसके अलावा वह कई चैट्स और सबूतों को नष्ट कर चुके थे।  राज कुंद्रा जिस हॉटशॉट्स एप के व्हाट्सएप ग्रुप के एडमिन थे, उसे गूगल से पोर्नोग्राफी के कंटेंट के चलते बैन भी कर दिया गया था । इनका कंटेंट न्यूडिटी और सेक्सुअल कंटेंट की गाइडलाइंस की अवहेलना था।


क्या जांच एजेंसी उन्हें सबूत मिटाने देती

सरकारी वकील ने कोर्ट में कहा कि कुंद्रा (Raj Kundra) एक ब्रिटिश नागरिक हैं । वह लगातार सबूतों को मिटा रहे थे । क्या जांच एजेंसी उन्हें ये सब करते हुए बस चुपचाप देखती रहती। कुंद्रा ने iPhone से iCloud डेटा से काफी डाटा डिलीट किया है । पीपीटी प्रेजेंटेशन में हॉटशॉट्स एप की जानकारी मिली, जिसमें मार्केटिंग से जुड़े काफी तथ्य है । 

फिल्म की स्क्रिप्ट में सेक्सुअल कंटेंट

अधिवक्ता ने कोर्ट को बताया कि कुंद्रा के पास से एक फिल्म की स्क्रिप्ट मिली है , जिसमें काफी मात्रा में सेक्सुअल कंटेंट मौजूद है । इतना ही नहीं कई इमेल को रिवाइव किया गया है। इतना ही नहीं राज कुंद्रा (Raj Kundra) के व्हाट्सऐप ग्रुप में रायन, वियान इंडस्ट्रीज एकाउंट, BollyFame Takeover मिले हैं. आरोपी नंबर 11 रायन ने जो कंटेंट डिलीट किया है, उसे रिवाइव नहीं किया जा सका है । रायन के फरार चल रहे प्रदीप बख्शी, आरोपी राज कुंद्रा और आरोपी उमेश कामत के साथ चैट्स मिले हैं । 

Todays Beets: