Sunday, January 29, 2023

Breaking News

   दिल्लीः फ्लाइट में स्पाइसजेट की क्रू के साथ अभद्रता के मामले में एक्शन, आरोपी गिरफ्तार     ||   मोरबी ब्रिज हादसा: ओरेवा ग्रुप के मालिक जयसुख पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी     ||   भारत जोड़ो यात्राः राहुल गांधी बोले- हम चाहते हैं कि बहाल हो जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा     ||   MP में नहीं माने बजरंग दल और हिंदू जागरण मंच, 'पठान' की रिलीज के विरोध का किया ऐलान     ||   समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्या पर लखनऊ में FIR     ||   बजरंग पुनिया बोले - Oversight Committee बनाने से पहले हम से कोई परामर्श नहीं किया गया     ||   यमुना एक्सप्रेस-वे पर कोहरे की वजह से 15 दिसंबर से स्पीड लिमिट कम कर दी जाएगी     ||   भारत की यात्रा करने वाले ब्रिटेन के नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा फिर से शुरू     ||   दिल्ली में अफसरों के ट्रांसफर पोस्टिंग पर अधिकार को लेकर सुप्रीम कोर्ट में 10 जनवरी से सुनवाई     ||   महाराष्ट्र के अपमान के खिलाफ महाविकास अघाड़ी 17 दिसंबर को निकालेगा मार्च     ||

गहलोत का दांव पड़ा उल्टा , अब CM की कुर्सी तो जाएगी ही - नहीं लड़ पाएंगे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव!

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गहलोत का दांव पड़ा उल्टा , अब CM की कुर्सी तो जाएगी ही - नहीं लड़ पाएंगे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव!

नई दिल्ली । राजस्थान कांग्रेस में इन दिनों मचे घमासान के पीछे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का ही दिमाग कहा जा रहा है । खुद कांग्रेस आलाकमान इस पूरे घटनाक्रम से खासे नाराज हैं और संभावना इस बात की है कि इसकी सजा अशोक गहलोत समेत उनके गुट के कुछ बागी विधायकों को भुगतनी भी पड़े । ऐसी खबरें हैं कि आज राजस्थान के हालात को देखते हुए पर्यवेक्षक बनाए गए अजय माकन और खड़गे अपनी लिखित रिपोर्ट कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को सौपेंगे । अजय माकन के एक बयान पर गौर करें तो इस बात की संभावना है कि गहलोत गुट के कुछ बागी विधायकों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई (Disciplinary Action) की जा सकती है । इसके बाद यह भी आशंका प्रबल हो रही है कि जहां गहलोत के हाथ से सीएम की कुर्सी जा सकती है , वहीं अब शायद ही वह कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ें। 

सोनिया गांधी गहलोत से बेहद नाराज 

राजस्थान के घटनाक्रम के बाद सोनिया गांधी अशोक गहलोत से बेहद नाराज बताई जा रही हैं । कल सोनिया गांधी ने अपने आवास पर पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं को बुलाया था ।  इसी के साथ अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने पर सवालिया निशान माना जा रहा है । वहीं सचिन पायलट राहुल गांधी और प्रियंका से कई दौर की बात कर चुके हैं और अपनी स्थिति को लेकर नाराजगी भी जता चुके हैं , जहां से उन्हें इस बार कुछ अच्छा होने का भरोसा मिला है । 

गहलोत का कद घटेगा

असल में राजस्थान में गहलोत गुट की बगावत के बाद सचिन पायलट को सीएम बनाने के लिए विधायक दल की बैठक नहीं हो पाई । इस पूरे घटनाक्रम की एक रिपोर्ट अब से थोड़ी देर बाद पर्यवेक्षक के तौर पर राजस्थान भेजे गए मल्लिकार्जुन खड़गे और अजय माकन सोनिया गांधी को सौपेंगे । सोमवार को दिल्ली लौटे दोनों पर्यवेक्षकों ने 10 जनपथ जाकर सोनिया गांधी से मुलाकात की । खबरें छनकर आ रही हैं कि हालिया घटनाक्रम के चलते सोनिया गांधी ने गहलोत से अपनी नाराजगी जाहिर भी कर दी है । ऐसे में यह भी संभावना है कि गहलोत का पार्टी में कद कम हो ।

पलटने लगे गहलोत गुटे के विधायक


इस घटनाक्रम पर कांग्रेस आलाकमान के कड़े रुख को देखते हुए अब गहलोत गुटे के कई विधायक अपने रुख से पलटने लगे हैं । अब कई विधायक मीडिया के कैमरे के सामने कहते दिखाई दिए कि वह तो हमसे कागज पर साइन करवा लिए गए थे । पार्टी आलाकमान जो कहेगा हमे उसे मानेंगे । इसके साथ ही पहले जो विधायक अपना इस्तीफा दिए जाने की बात कहते दिखाई दे रहे थे अब वो पार्टी आलाकमान के फैसले के साथ ही जाने की बात कह रहे हैं । इससे गहलोत की कुर्सी हिलती नजर आ रही है ।

माकन घटनाक्रम पर बोले 

पर्यवेक्षक अजय माकन ने इस पूरे घटनाक्रम पर कहा- जब कांग्रेस विधायक दल की औपचारिक बैठक बुलाई जाती है और अगर उसके समानांतर कोई भी बैठक की जाती है तो वह प्रथम दृष्टया अनुशासनहीनता है। यह बात हमने कांग्रेस अध्यक्ष के समक्ष रखी है । अब तक के घटनाक्रम के बाद चर्चा है कि अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने पर सवालिया निशान लग गया है । वह 30 सितंबर तक नामांकन दाखिल करेंगे या नहीं, इस पर सबकी नजरें है । 

कांग्रेस अध्यक्ष पद की दौड़ में ये हैं शामिल

सोनिया  गांधी ने सोमवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल को भी मिलने के लिए दिल्ली बुलाया था । आज मंगलवार को ये नेता सोनिया गांधी से मिलेंगे । खबरें हैं कि इस बार दिग्विजय सिंह, मुकुल वासनिक, मल्लिकार्जुन खड़गे, कुमारी सैलजा , शशि थरूर समेत कुछ अन्य लोग चुनाव लड़ सकते हैं । इसमें कमलनाथ पहले ही कह चुके हैं कि उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ने में कोई दिलचस्पी नहीं है ।

 

Todays Beets: