Wednesday, October 16, 2019

Breaking News

   दिल्ली में भी भोपाल जैसा हनी ट्रैप , कई रईसजादों को विदेशी लड़कियों की मदद से फंसाया    ||   घाटी में घनघटाने लगीं मोबाइल फोन की घंटियां, इंटरनेट पर अभी भी प्रतिबंध    ||   इकबाल मिर्ची की इमारत में प्रफुल्ल पटेल का भी फ्लैट , ईडी ने भेजा समन    ||   रणवीर सिंह ने ठुकराया संजय लीला भंसाली की फिल्म का ऑफर , आलिया भट्ट हैं फिल्म की हिरोइन    ||   वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति ने भी माना- अर्थव्यवस्था की हालत खराब     ||   दिल्ली में डेंगू ने तोड़ा रिकॉर्ड, इस हफ्ते में 111 नए मामले आए सामने     ||   अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्ड्रिंग केस: 25 अक्टूबर तक बढ़ी रतुल पुरी की न्यायिक हिरासत     ||   तमिलनाडु: मसाले की फैक्ट्री में लगी आग, मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद     ||   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||

भाजपाध्यक्ष के बयान पर शिवसेना का पलटवार, कहा-भाजपा को दफना देंगे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपाध्यक्ष के बयान पर शिवसेना का पलटवार, कहा-भाजपा को दफना देंगे

मुंबई। लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा और शिवसेना के बीच शब्दवाण चलने शुरू हो गए हैं। पिछले दिनों भाजपा अध्यक्ष अपने महाराष्ट्र दौरे पर कहा था कि अगर लोकसभा चुनाव में उनका गठबंधन नहीं होता है तो वह सहयोगी पार्टी को विरोधी की तरह हराएगी। भाजपाध्यक्ष के इस बयान पर पलटवार करते हुए शिवसेना के वरिष्ठ नेता रामदास कदम ने कहा कि अगर ऐसा होता है तो वह भाजपा को दफना देगी। कदम ने यह भी कहा कि भाजपा को यह नहीं भूलना चाहिए कि वह 2014 में प्रचंड मोदी लहर के बावजूद 63 सीटों पर जीत हासिल की थी।

गौरतलब है कि शिवसेना नेता ने कहा कि हाल ही में हुए 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों में भाजपा को करारी हार मिली है। उन्होंने कहा कि ‘‘वे न तो महाराष्ट्र आएं और न ही हमें धमकी दें। अगर भाजपा के साथ उनका गठबंधन नहीं होता है तो वे भाजपा को दफना देंगे।’’ बड़ी बात यह है कि भाजपा को यह नहीं भूलना चाहिए कि 5 राज्यों मंे उनकी हार हो चुकी है। 


ये भी पढ़ें - राहुल गांधी LIVE - किसान -जनता और युवा हमारे मालिक , आप जो कहेंगे कांग्रेस की सरकार वहीं काम करेगी

यहां बता दें कि रविवार को महाराष्ट्र में अमित शाह ने कहा था कि लोकसभा चुनाव के लिए अगर शिवसेना के साथ गठबंधन नहीं होता है तो वे उसे भी विरोधी पार्टी की तरह ही चुनाव में शिकस्त देगी। इसी पर पलटवार करते हुए शिवसेना नेता रामदास कदम का यह बयान सामने आया है। कदम ने सरकार के द्वारा सवर्ण समुदाय के लिए 10 फीसदी आरक्षण के फैसले पर कहा कि यह सिर्फ चुनाव को ध्यान में रखते हुए फैसला लिया गया है। 

Todays Beets: