Tuesday, October 4, 2022

Breaking News

   MHA ने NIA के 2 नए विंग को दी मंजूरी, 142 जांच अधिकारी-कर्मचारी बढ़ाए     ||   पाकिस्तान को बाढ़ से निपटने के लिए 10 अरब डॉलर की जरूरत, मंत्री का बयान     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 1992 बाबरी मस्जिद विध्वंस से जुड़े सभी मामलो को बंद किया     ||   मनीष के घर-लॉकर से कुछ नहीं मिला, ईमानदार साबित हुए: CM केजरीवाल     ||   दिल्ली: JP नड्डा को बताना चाहता हूं, बच्चा चुराने लगी है BJP- मनीष सिसोदिया     ||   टेस्ला के मालिक एलन मस्क को कोर्ट में घसीटने की तैयारी, ट्विटर संग होगी कानूनी जंग    ||   गोवा में कांग्रेस पर सियासी संकट! सोनिया ने खुद संभाला मोर्चा    ||   जयललिता की पार्टी में वर्चस्व की जंग हारे पनीरसेल्वम, हंगामे के बीच पलानीस्वामी बने अंतरिम महासचिव     ||   देशभर में मानसून एक्टिव हो गया है और ज्यादातर राज्यों में जोरदार बारिश हो रही है. भारी बारिश ने देश के बड़े हिस्से में तबाही मचाई है    ||   अगले साल अंतरिक्ष जाएंगे भारतीय , एक या दो भारतीयों को भेजने की योजना है     ||

ताजमहल का नाम बदलकर होगा ''तेजो महालय'! , भाजपा पार्षद आगरा नगर निगम की बैठक में रखेंगे प्रस्ताव

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ताजमहल का नाम बदलकर होगा

आगरा । दुनिया के सात अजूबों में शुमार ताजमहल का नाम बदलने की कवायद एक बार फिर से तेज हो गई है । असल में इस बार आगरा में भाजपा पार्षद ने नाम बदलने की मांग उठी है , जिसे लेकर बुधवार को आगरा नगर निगम में नाम बदलने संबंधी एक  प्रस्ताव पेश किया गया । भाजपा पार्षद शोभाराम राठौर ने ताजमहल का नाम बदलकर तेजोमहालय रखने की मांग रखी है । उनका कहना है कि मैंने नाम बदलने के प्रस्ताव के साथ कई तथ्य भी सदन में रखे हैं । आशा करता हूं कि जल्द ही नाम बदल जाएगा । 

आखिर क्या दिए पार्षद ने तर्क

बता दें कि आगरा के तारगंज इलाके से भाजपा पार्षद शोभाराम राठौर ने सदन में नाम बदलने का प्रस्ताव पेश करते हुए अपने तर्क में कहा है कि पिछले साढ़े 4 साल में करीब 80 सड़कों और चौराहों का नाम बदला गया है । कई रिसर्च में यह बात साबित हो चुकी है कि ताजमहल में हिंदू सभ्यता के कई निशान जैसे दीवारों पर कमल की आकृति मिली है । कई अन्य ऐसे तथ्य हैं , जिनसे ये बात पुख्ता हो चुकी है कि ताजमहल कोई मकबरा नहीं था । ऐसे में ताजमहल का नाम बदलना चाहिए ।  


आखिर क्या है अब तक के दावे 

विदित हो कि लंबे समय से ताजमहल का नाम बदलने की मांग अलग अलग संगठनों द्वारा की जाती रही है । इसके लिए कई तरह के दावे भी हुए हैं । कुछ रिसर्च में दावा किया गया है कि ताजमहल की जगह पहले शिव मंदिर था । 1212 ई. में परमाद्देव ने तेजो महालय बनवाया था । ताजमहल के 22 कमरे में मंदिर के सबूत हैं । इसके अलावा दावा किया जाता है कि ताजमहल के आसपास हिंदू आर्किटेक्चर है । 'ताज' और 'महल' दोनों ही संस्कृत के शब्द हैं । संगमरमर की जाली में 108 कलश हैं ।      

 

Todays Beets: