Monday, February 17, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

नए साल से बदलने जा रहा है ड्राइविंग नियम , RC - DL और पॉल्यूशन सर्टिफिकेट होंगे मोबाइल नंबर से लिंक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नए साल से बदलने जा रहा है ड्राइविंग नियम , RC - DL और पॉल्यूशन सर्टिफिकेट होंगे मोबाइल नंबर से लिंक

नई दिल्ली । केंद्र की मोदी सरकार की ओर से हाल में वाहन चालकों से जुड़ी एक अधिसूचना जारी की गई है , जिसे लेकर लोगों से राय मांगी जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार , 1 अप्रैल 2020 से मोदी सरकार वाहनों के सभी दस्तावेजों ( रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट , RC) ड्राइविंग लाइसेंस (DL) , पॉल्यूशन सर्टिफिकेट समेत अन्य को मोबाइल नंबर से लिंक कराना जरूरी होने जा रहा है । इस मामले में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने जारी की अपनी अधिसूचना में नियम को लेकर लोगों की राय मांगी  है । 

विदित हो कि केंद्र की मोदी सरकार वाहन दस्तावेजों के साथ मोबाइल नंबर लिंक करने की पहल करने जा रही है । ऐसा होने से गाड़ी की चोरी, खरीद-फरोख्त पर अंकुश लगाने की संभावना जताई जा रही है । वाहन के दस्तावेजों से मालिक के मोबाइल नंबर के लिंक होने से गाड़ी चोरी होने की जानकारी जुटाने में मदद मिलेगी । अगर जरूरत पड़ी तो पुलिस, आरटीओ या कोई अन्य एजेंसी आसानी से वाहन चालक या उसके मालिक से संपर्क कर सकेगी। 


इतना ही नहीं वाहन डाटा बेस में मोबाइल नंबर दर्ज होने से GPS के अलावा मोबाइल नंबर की मदद से किसी भी व्यक्ति की लोकेशन का पता किया जा सकता है । इतना ही नहीं केंद्र सरकार और अन्य सरकारी संस्थाओं के पास सभी वाहनों और ड्राइविंग लाइसेंस का पूरा डाटा, मोबाइल नंबर सहित उपलब्ध होगा ।

 

Todays Beets: