Friday, May 14, 2021

Breaking News

   कोरोनाः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लगाई गई वैक्सीन     ||   महाराष्ट्रः वसूली केस की होगी सीबीआई जांच, फडणवीस बोले- अनिल देशमुख दें इस्तीफा     ||   ड्रग्स केस में गिरफ्तार अभिनेता एजाज खान कोरोना पॉजिटिव, NCB टीम का भी होगा टेस्ट     ||   मथुराः लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार बने वन स्ट्राइक कोर के कमांडर     ||   कर्नाटकः भ्रष्टाचार के मामले की जांच पर स्टे, सीएम येदियुरप्पा को SC ने दी राहत     ||   छत्तीसगढ़ः नक्सल के खिलाफ लड़ाई अब निर्णायक चरण में, हमारी जीत निश्चित है- अमित शाह     ||   यूपीः पंचायत चुनाव में 5 से अधिक लोगों के साथ प्रचार करने पर रोक, कोरोना के कारण फैसला     ||   स्विटजरलैंड में चेहरा ढकने पर लगाई गई पाबंदी , मुस्लिम संगठनों ने जताई आपत्ति     ||   सिंघु बॉर्डर के नजदीक अज्ञात लोगों ने रविवार रात की हवाई फायरिंग, पुलिस कर रही छानबीन     ||   जम्मू कश्मीर - प्रोफेसर अब्दुल बरी नाइक को पुलिस ने किया गिरफ्तार, युवाओं को बरगलाने का आरोप     ||

नए साल से बदलने जा रहा है ड्राइविंग नियम , RC - DL और पॉल्यूशन सर्टिफिकेट होंगे मोबाइल नंबर से लिंक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
नए साल से बदलने जा रहा है ड्राइविंग नियम , RC - DL और पॉल्यूशन सर्टिफिकेट होंगे मोबाइल नंबर से लिंक

नई दिल्ली । केंद्र की मोदी सरकार की ओर से हाल में वाहन चालकों से जुड़ी एक अधिसूचना जारी की गई है , जिसे लेकर लोगों से राय मांगी जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार , 1 अप्रैल 2020 से मोदी सरकार वाहनों के सभी दस्तावेजों ( रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट , RC) ड्राइविंग लाइसेंस (DL) , पॉल्यूशन सर्टिफिकेट समेत अन्य को मोबाइल नंबर से लिंक कराना जरूरी होने जा रहा है । इस मामले में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने जारी की अपनी अधिसूचना में नियम को लेकर लोगों की राय मांगी  है । 

विदित हो कि केंद्र की मोदी सरकार वाहन दस्तावेजों के साथ मोबाइल नंबर लिंक करने की पहल करने जा रही है । ऐसा होने से गाड़ी की चोरी, खरीद-फरोख्त पर अंकुश लगाने की संभावना जताई जा रही है । वाहन के दस्तावेजों से मालिक के मोबाइल नंबर के लिंक होने से गाड़ी चोरी होने की जानकारी जुटाने में मदद मिलेगी । अगर जरूरत पड़ी तो पुलिस, आरटीओ या कोई अन्य एजेंसी आसानी से वाहन चालक या उसके मालिक से संपर्क कर सकेगी। 


इतना ही नहीं वाहन डाटा बेस में मोबाइल नंबर दर्ज होने से GPS के अलावा मोबाइल नंबर की मदद से किसी भी व्यक्ति की लोकेशन का पता किया जा सकता है । इतना ही नहीं केंद्र सरकार और अन्य सरकारी संस्थाओं के पास सभी वाहनों और ड्राइविंग लाइसेंस का पूरा डाटा, मोबाइल नंबर सहित उपलब्ध होगा ।

 

Todays Beets: