Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

गोमतीनगर में दिखी यूपी पुलिस की ‘गुंडागर्दी’, गाड़ी नहीं रोकने पर शख्स को मारी गोली

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गोमतीनगर में दिखी यूपी पुलिस की ‘गुंडागर्दी’, गाड़ी नहीं रोकने पर शख्स को मारी गोली

लखनऊ। उत्तरप्रदेश में अपराधियों का लगातार एनकाउंटर करने वाली पुलिस अब आम लोगों को भी अपनी गोलियों का निशाना बनाने लगी है। शनिवार तड़के लखनऊ के गोमतीनगर इलाके में पुलिस ने एक मल्टीनेशनल कंपनी मंे बतौर एरिया मैनेजर काम करने वाले विवेक तिवारी को गोली मार दी जिसकी अस्पताल में मौत हो गई। इस गोलीकांड के बाद यूपी पुलिस पर कई तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि ऐसी क्या बात हो गई थी कि बिना किसी आपराधिक रिकाॅर्ड वाले व्यक्ति पर पुलिस को गोली चलानी पड़ी? फिलहाल आरोपी सिपाहियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है और जांच शुरू कर दी गई है। 

गौरतलब है कि लोग इसे यूपी पुलिस की गुंडागर्दी कह रहे हैं। बताया जा रहा है कि रात करीब ढाई बजे मल्टीनेशनल कंपनी में काम करने वाले विवेक तिवारी नाम का शख्स अपनी महिला मित्र के साथ कहीं जा रहे थे। पुलिसकर्मियों के इशारे पर गाड़ी नहीं रोकने पर पुलिस ने गोली चला दी जिससे विवेक तिवारी बुरी तरह से घायल हो गए और अस्पताल में उनकी मौत हो गई। 

ये भी पढ़ें - बीएसएफ ने सीमा पर हुई बर्बरता का लिया बदला, 11 पाकिस्तानी सैनिकों को उतारा मौत के घाट 


यहां बता दें कि विवेक तिवारी की महिला मित्र की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी सिपाहियों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं, महिला मित्र को पुलिस ने नजरबंद कर दिया है। पुलिस के अनुसार गोमतीनगर विस्तार के सीएमएस स्कूल के पास शुक्रवार रात करीब ढाई बजे एक कार खड़ी थी। उसी दौरान पुलिस बाइक पर सवार होकर गोमतीनगर थाने में तैनात सिपाही प्रशांत चौधरी और एक अन्य सिपाही वहां पहुंचे। दोनों ने कार में एक युवक और युवती को देखा तो मामला संदिग्ध समझकर उनसे पूछताछ के लिए कार के पास पहुंचे। इतने में ही कार चला रहे विवेक तिवारी ने गाड़ी बढ़ा दी। इसके बाद प्रशांत चौधरी ने गोली चला दी और गोली सीधे जाकर विवेक के सिर में लगी। कुछ दूरी पर गाड़ी एक दीवार से टकराकर रुक गई।

बताया जा रहा है कि बुरी तरह से घायल तिवारी को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन बचाया नहीं जा सका। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। 

Todays Beets: