Monday, February 24, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

चीन ने वुहान शहर में हजारों लोगों के शव जलाने का शक , सैटेलाइन तस्वीरों में आग के गोले नजर आए 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चीन ने वुहान शहर में हजारों लोगों के शव जलाने का शक , सैटेलाइन तस्वीरों में आग के गोले नजर आए 

नई दिल्ली । चीन से पूरी दुनिया में फैले जानलेवा कोरोनावायरस को लेकर कई तरह के अलर्ट जारी हो चुके हैं । अब तक पूरी दुनिया में इस वायरस की चपेट में करीब 41 हजार लोग आ चुके हैं , वहीं करीब 1100 लोगों की अब तक इसके चलते मौत हो गई है । हालांकि इन सब आंकड़ों के बीच चीन के वुआन शहर की कुछ सैटेलाइन तस्वीरें सामने आई हैं । ऐसी रिपोर्ट भी सामने आई है कि चीन अपने यहां इस वायरस से मरने वालों की संख्या को छिपा रहा है और इसके लिए वह बहुत बड़ी संख्या में शवों को जला रहा है । असल में चीन के वुआन शहर की जो सैटेलाइट तस्वीरें सामने आई हैं , उनमें बहुत बड़ी आग के गोले नजर आ रहे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि फोटो में नजर आने वाला आग का गोला , यह बता रहा है कि सल्फर डाइऑक्साइड गैस (Sulphur dioxide Gas) बहुत ज्यादा मात्रा में निकल रही है । इतना ही नहीं यह गैस शवों को जलाने के दौरान बहुत मात्रा में निकलती है । ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि चीनी सरकार ने मौत के आंकड़ों को छिपाने के लिए बड़ी संख्या में लोगों के शव जलाए हैं, जिसके चलते यह गैस निकलती पाई गई है ।

बता दें कि वुहान (Wuhan) शहर के ऊपर से ली गई कुछ सैटेलाइट तस्वीरें सामने आई हैं, जिनमें दिखाई दे रहा है कि शहर के ऊपर आग के बड़े गोले जैसा कुछ दिख रहा है । दुनियाभर के वैज्ञानिकों का मानना है कि इतनी ज्यादा मात्रा में सल्फर डाइऑक्साइड गैस (Sulphur dioxide Gas) तभी निकलती है जब या तो कोई मेडिकल वेस्ट जलाया जा रहा हो या फिर लोगों के शव जलाए जा रहे हो । वहीं चीन की सोशल मीडिया पर इस तरह की जानकारी भी साझा की जा रही है कि वुहान (Wuhan) शहर के बाहरी हिस्से में लोगों के शव जलाए जा रहे हैं । 


जानकारों का कहना है कि वुहान में सल्फर डाइऑक्साइड का स्तर 1700 यूजी/क्यूबिक मीटर पाया गया है , जो खतरे के स्तर से 21 गुना ज्यादा है । कुछ ऐसी ही तस्वीरें चीन के चोंगक्विंग की भी है, जहां यह महामारी बड़े पैमाने पर फैली है । 

जानकारों के मुताबिक , इतना ज्यादा सल्फर डाइऑक्साइड गैस (Sulphur dioxide Gas) निकलने का मतलब है कि हजारों शव जलाए गए हैं । वहीं कुछ ऐसी भी रिपोट्स सामने आ रही हैं , जिसमें कहा जा रहा है कि वुहान में अगले कुछ दिनों में करीब 5 लाख लोग कोरोनावायरस (Coronavirus) की चपेट में आ सकते हैं । 

Todays Beets: