Friday, August 19, 2022

Breaking News

   टेस्ला के मालिक एलन मस्क को कोर्ट में घसीटने की तैयारी, ट्विटर संग होगी कानूनी जंग    ||   गोवा में कांग्रेस पर सियासी संकट! सोनिया ने खुद संभाला मोर्चा    ||   जयललिता की पार्टी में वर्चस्व की जंग हारे पनीरसेल्वम, हंगामे के बीच पलानीस्वामी बने अंतरिम महासचिव     ||   देशभर में मानसून एक्टिव हो गया है और ज्यादातर राज्यों में जोरदार बारिश हो रही है. भारी बारिश ने देश के बड़े हिस्से में तबाही मचाई है    ||   अगले साल अंतरिक्ष जाएंगे भारतीय , एक या दो भारतीयों को भेजने की योजना है     ||   कोरोना से 24 घंटे में 16678 लोग हुए संक्रमित     ||   उद्धव ठाकरे ने विधायकों को लिखी भावुक चिट्ठी     ||   सुप्रीम कोर्ट मे विजय माल्या का बड़ा झटका, अवमानना मामले में दोषी करार     ||   सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र में विधायकों की अयोग्यता पर फैसला लेने से स्पीकर को रोका     ||   मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया, कुलगाम में बैंक मैनेजर की हत्या में शामिल था: IGP कश्मीर     ||

Commonwealth Games में भारत की ऐतिहासिक ''छलांग'' , 6 गोल्ड के साथ कुल 20 पदक जीते , जानें विजेताओं की सूची

अंग्वाल न्यूज डेस्क
Commonwealth Games में भारत की ऐतिहासिक

नई दिल्ली । बर्मिघम में आयोजित राष्ट्रमंडल खेल 2022 (Commonwealth Games 2022) को शुरू हुए 7 दिन बीत चुके हैं । इस दौरान भारत ने 6 स्वर्ण पदकों के साथ कुल 20 पदकों पर कब्जा कर लिया है । इनमें 6 गोल्ड ,  7 सिल्वर और 7 ब्रॉन्ज हैं । अभी तक भारत ने वेटलिफ्टिंग में अपना दबदबा दिखाया है , जिसमें उसे अबतक कुल 10 पदक मिले हैं । इसके साथ ही इस बार भारत ने एथलेटिक्स में अच्छा प्रदर्शन करते हुए 2 पदक जीत लिए हैं । गुरुवार को मुरली श्रीशंकर ने गुरुवार को राष्ट्रमंडल खेलों में पुरुषों की लंबी कूद स्पर्धा में रजत पदक जीतकर भारत को एथलेटिक्स में दूसरा पदक दिलाया। इससे पहले तेजस्वी शंकर ने ऊंची कूद में भारत को कांस्य पदक दिलवाया था । इसके साथ ही भारत के सुधीर ने देश के लिए पैरा पावरलिफ्टिंग में स्वर्ण जीतने वाले पहले एथलीट बन गए हैं । सुधीर कॉमनवेल्थ खेलों की पैरा पावरलिफ्टिंग स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी है ।

भारत इस समय इन खेलों की पदक तालिका में (CWG 2022 Medal Tally) में सातवें पायदान पर है । आज शुक्रवार को भी कई भारतीय खिलाड़ी पदक की दौड़ में हिस्सा लेंगे । लेकिन इससे पहले चलिए आपको बता देते हैं कि अब तक किन खिलाड़ियों ने किस प्रतियोगिता में जीता है पदक....

पहला पदक : संकेत महादेव सागर (सिल्वर मेडल)

भारत के लिए पहला पदक वेटलिफ्टर संकेत महादेव सरगर ने जीता । खेलों के दूसरे ही दिन उन्होंने पुरुषों के 55kg भारवर्ग में कुल 248kg वजन उठाकर सिल्वर अपने नाम किया। 

दूसरा पदक : गुरुराज पुजारी (ब्रॉन्ज मेडल)

वहीं दूसरा मेडल भी वेटलिफ्टिंग में गुरुराजा पुजारी ने जीता , जिन्होंने पुरुषों के 61kg भारवर्ग में 269kg वजन उठाकर ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया । 

तीसरा मेडल: मीराबाई चानू (गोल्ड मेडल)

इसके बाद उस खिलाड़ी ने देश के लिए पहला गोल्ड जीता , जिससे न केवल हमारे ही देश को बल्की दुनिया भर को उम्मीद थी कि वह अपनी प्रतिस्पर्था में गोल्ड ही जीतेंगी । जी हां , हम बात कर रहे हैं ओलंपिक मेडलिस्ट मीराबाई चानू की , जिन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भी भारत को पहला गोल्ड दिलाया । उन्होंने 49kg कैटगरी में कुल 201kg वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीता । 

चौथा पदक : बिंदियारानी देवी (सिल्वर मेडल)

वेटलिफ्टिंग का सिलसिला अब शुरू हो गया था , महिलाओं के 55 किलोग्राम भारवर्ग कैटगरी में वेटलिफ्टर बिंदियारानी देवी ने भारत को सिल्वर दिलाया । उन्होंने कुल  202kg वजन उठाकर सिल्वर अपने नाम किया, वह महज 1kg से गोल्ड चूंक गईं । 

5वां पदक : जेरेमी लालरिनुंगा (गोल्ड मेडल)

वेटलिफ्टर जेरेमी लालरिनुंगा ने एक बार फिर कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को दूसरा गोल्ड मेडल दिलाया। इस बार उन्होंने 67 किलोग्राम कैटगरी में 300kg वजन उठाकर स्वर्ण अपने नाम किया । 

6वां पदक - अचिंता शिउली (गोल्ड मेडल)

वेटलिफ्टिंग में पदक आने का क्रम जारी रहा और वेटलिफ्टर अचिंता शिउली ने पुरुषों के 73 किलोग्राम भार वर्ग में कुल 313 किलो वजन उठाकर भारत की झोली में तीसरा में तीसरा गोल्ड डाल दिया । 

7वां पदक : सुशीला देवी (सिल्वर मेडल)

अब बारी आई जूडो की , जिसमें सुशीला देवी लिकमाबाम ने 48 किलोग्राम भारवर्ग में सिल्वर मेडल जीता । 

8वां पदक :  विजय कुमार यादव (ब्रॉन्ज मेडल)

जूडो में ही विजय कुमार यादव ने भारत को ब्रॉन्ज मेडल दिलाया । विजय ने ब्रॉन्ज मेडल मैच में साइप्रस के प्रेटो को 10-0 से मात दी । 

9वां  पदक : हरजिंदर कौर (ब्रॉन्ज मेडल)

वेटलिफ्टर हरजिंदर कौर ने महिलाओं के 71kg भारवर्ग में कुल 212 किलोग्राम वजन उठाकर ब्रॉन्ज मेडल जीता । 

10वां पदक - महिला लॉन बॉल्स टीम (गोल्ड)

इस बार भारत ने इतिहास रचते हुए पहली बार लॉन बॉल्ड के महिला फोर इवेंट में अपना कब्जा किया । लवली चौबे, पिंकी, नयनमोनी सैकिया, रूपा रानी ने भारत को स्वर्ण पदक दिलाया । फाइनल मुकाबले में भारत ने साउथ अफ्रीका को 17-10 से मात देकर गोल्ड जीता । यह भारत के लिए चौथा स्वर्ण पदक था ।


11वां पदक : पुरुष टेबल टेनिस टीम (गोल्ड)

गोल्ड मेडल के क्रम में अगली बारी थी भारत की पुरुष टेबल टेनिस टीम की । उन्होंने  फाइनल मुकाबले में भारत ने सिंगापुर को 3-1 से हराकर गोल्ड जीता । शरद कमल, जी साथियान और हरमीत देसाई की तिकड़ी ने भारत को यह गोल्ड दिलाया । 

12वां पदक: विकास ठाकुर (सिल्वर)

एक बार फिर से वेटलिफ्टिंग में पदक मिला । विकास ठाकुर ने पुरुषों के 96 किलो भारवर्ग में सिल्वर जीता। उन्होंने कुल 346 किलो वजन उठाकर सिल्वर पदक पर कब्जा किया । 

13वां पदक : मिक्स्ड बैडमिंटन टीम (सिल्वर)

भारत को अब तक अगर किसी टीम ने निराश किया तो वह मिक्स्ड बैडमिंटन टीम इवेंट में रहे खिलाड़ी । यह टीम फाइनल में मलेशिया से 1-3 से हार गई । गोल्ड की प्रबल दावेदार मानी जा रही यह टीम खराब प्रदर्शन के चलते सिल्वर पर ही सिमट गई । यहां सात्विक साईराज रेंकी रेड्डी और चिराग शेट्‌टी की जोड़ी पहला मैच हार गई । पीवी सिंधु ने अपना मुकाबला जीता, लेकिन इसके बाद किदांबी श्रीकांत अपना सिंग्लस का मुकाबला हार गए और फिर ट्रीजा जॉली और गायत्री गोपीचंद की महिला जोड़ी भी अपना अहम मुकाबला हार गईं । 

14वां पदक : लवप्रीत सिंह (ब्रॉन्ज)

वेटलिफ्टिंग में पदक जीतने का क्रम जारी रखते हुए पुरुषों की 109kg कैटगरी में लवप्रीत सिंह ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया । उन्होंने कुल 355kg वजन उठाकर यह पदक अपने नाम किया । 

 

15वां पदक : सौरव घोषाल (ब्रॉन्ज)

स्क्वाश के पुरुष सिंगल्स में सौरव घोषाल ने ब्रॉन्ज अपने नाम किया । वह कॉमनवेल्थ गेम्स के इतिहास में भारत को स्क्वाश में पदक दिलाने वाले पहले खिलाड़ी बने ।. उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल मैज में इंग्लैंड के जेम्स विलस्ट्रॉप को 11-6, 11-1, 11-4 से हराया । 

16वां मेडल: तुलिका मान (सिल्वर)

भारतीय महिला जूडो खिलाड़ी तुलिका मान ने +78kg भारवर्ग में भारत को सिल्वर दिलाया । वह गोल्ड की दावेदार थी लेकिन फाइनल में उन्हें हार का सामना करना पड़ा । 

17वां मेडल: गुरदीप सिंह (ब्रॉन्ज)

गुरदीप सिंह ने वेटलिफ्टिंग के 109kg+ भारवर्ग में 390kg वजन उठाकर ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया । इस कॉमनवेल्थ गेम्स में यह वेटलिफ्टिंग में भारत को मिला 10वां पदक है.

18वां मेडल: तेजस्विन शंकर (ब्रॉन्ज)

तेजस्विन शंकर ने हाई जंप में 2.22 मीटर ऊंची छलांग लगाकर ब्रॉन्ज जीता. यह इस कॉमनवेल्थ गेम्स में एथलेटिक्स में भारत का पहला पदक है । कॉमनवेल्थ के अब तक के इतिहास में हाई जंप में भारत का पहला पदक है ।

19वां पदक : सुधीर भारत (गोल्ड)

इसी क्रम में भारत के सुधीर ने देश के लिए पैरा पावरलिफ्टिंग में स्वर्ण जीतने वाले पहले एथलीट बन गए हैं । सुधीर कॉमनवेल्थ खेलों की पैरा पावरलिफ्टिंग स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी है । उन्होंने अपने दूसरे प्रयास में 212 किग्रा वजन उठाकर रिकॉर्ड 134.5 अंक के साथ स्वर्ण पदक जीता. सुधीर हालांकि अपने अंतिम प्रयास में 217 किग्रा वजन उठाने में नाकाम रहे । 

20वां - मुरली श्रीशंकर  (सिल्वर)

मुरली श्रीशंकर ने गुरुवार को राष्ट्रमंडल खेलों में पुरुषों की लंबी कूद स्पर्धा में रजत पदक जीतकर भारत को एथलेटिक्स में दूसरा पदक दिलाया। 23 वर्षीय राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक ने पुरुषों की लंबी कूद के फाइनल में बहामास के लाखन नायर के बाद दूसरे स्थान पर रहने के अपने पांचवें प्रयास में 8.08 मीटर की छलांग लगाई। 

Todays Beets: