Wednesday, February 19, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

नो- बॉल विवाद पर भड़के 'कैप्टन कूल' को गुस्से की मामूली सजा , प्रशंसक बोले - नहीं देखा कभी ऐसा

अंग्वाल संवाददाता
नो- बॉल विवाद पर भड़के

नई दिल्ली । क्रिकेट जगत में 'कैप्टन कूल' के नाम से विख्यात महेंद्र सिंह धोनी का पारा गुरुवार को जयपुर के सिवाई मान सिंह स्टेडियम में ऊपर चढ़ गया । राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेले गए IPL के एक मुकाबले में अंतिम ओवर में ग्राउंड अंपायर द्वारा बेन स्टोक की एक गेंद को नो-बॉल देने का इशारा करने के बाद उसे नो-बॉल नहीं दिया । इसे लेकर धोनी भड़क गए । गुस्सा इतना ही वह चलते मैच में मैदान में जा घुसे। धोनी ने अपनी गुस्सा और विरोध दोनों दर्ज कराया , लेकिन अंपायर ने अपना फैसला नहीं बदला । उनके इस व्यवहार को उनके प्रशंसक भी नहीं पचा पाए । वहीं  धोनी को अपने इस व्यवहार के लिए IPL के कोड ऑफ कंडक्ट 2.20 के तहत लेवल 2 का दोषी पाया गया है। धोनी ने इसे स्वीकार भी कर लिया है । यूं तो उनपर उनकी इस हरकत के लिए धोनी पर एक मैच का बैन भी लगाया जा सकता था लेकिन उन्हें मामूली सजा देते हुए उनकी मैच फीस की 50 फीसदी राशि का जुर्माना ही लगाया गया है।

मुंबई में IPL पर 'आतंकी साए ' का खुफिया अलर्ट , खिलाड़ियों पर हो सकता है होटल-पार्किंग पर आतंकी हमला

बता दें मिस्टर कूल और कैप्टन कूल के नाम से अपनी पहचान बना चुके महेंद्र सिंह धोनी जयपुर के सवाई मानसिंह स्‍टेडियम पर घरेलू टीम के साथ एक मुकाबला खेल रहे थे। पहले बल्लेबाजी करते हुए राजस्थान ने निर्धारित 20 ओवरों में 151 रन बनाए । बाद में बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई सुपरकिंग्स को शुरुआती झटके लगे, जिसके बाद धोनी ने रायडू के साथ पारी को संभाला और दोनों मैच को जीत के करीब ले गए । इस दौरान राडयू आउट हो गए और मैच अंतिम ओवर तक जा पहुंचा , जिसमें जीत के लिए धोनी की टीम को 18 रन बनाने थे । इस ओवर की पहली गेंद पर ही रवींद्र जडेजा ने बेन स्टोक्स की गेंद पर छक्‍का जड़ दिया । दूसरी गेंद नोबॉल रही जिस पर जडेजा ने एक रन लिया। अब  स्‍ट्राइक धोनी (MS Dhoni) के पास थी, जिन्‍होंने फ्री-हिट वाली बॉल पर दो रन ले लिए । ओवर की तीसरी गेंद पर स्‍टोक्‍स ने धोनी को बेहतरीन यॉर्कर पर बोल्‍ड कर दिया।

COCA COLA बाजार में लाएगी आम पन्ना और छाछ , सेहत के लिए फिक्रमंद जनता को लुभाने की नई योजना


अब तीन गेंद पर चेन्‍नई को आठ रन की जरूरत थी। स्‍टोक्‍स ने चौथी गेंद, कमर की ऊंचाई तक की लो-फुलटॉस फेंकी, जिस पर मिचेल सेंटनर (Mitchell Santner) ने दो रन लिए। इस गेंद के फेंके जाने के साथ ही ग्राउंड अंपायर उल्‍हास गंधे ने अपना हाथ नो-बॉल के लिए उठाया लेकिन फिर हाथ रोक दिया । स्‍क्‍वेयर लेग अम्‍पायर ब्रूस आक्‍सेनफोर्ड ने नोबॉल को 'ओवररूल' कर दिया। इसे लेकर जडेजा ग्राउंड अपायर से बात करने लगे, लेकिन उनकी मांग खारिज किए जाने पर ब्राउंड्री पर खड़े धोनी एकाएक मैदान में चल दिए । उन्होंने भी दोनों अंपायरों से उनके फैसलों को लेकर बात की, लेकिन अंपायरों ने अपना फैसला नहीं बदला । हालांकि मैच का अंत काफी रोमांचक रहा, जहां सेंटनर ने अंतिम गेंद पर छक्का लगाकर अपनी टीम को जीत दिलाई ।

 

 

Todays Beets: