Sunday, July 25, 2021

Breaking News

   बिहार: पटना में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़, 2 गिरफ्तार     ||   जम्मू-कश्मीर: आतंकवादियों ने पुलिस कांस्टेबल की पत्नी और बेटी पर गोलियां चलाईं, दोनों जख्मी     ||   पेगासस मामला: दुनिया के 14 बड़े नेताओं की भी की गई जासूसी, PM इमरान समेत कई अन्य का लिस्ट में नाम     ||   जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट केस: कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की पत्नी के खिलाफ गैर जमानती वॉरंट जारी     ||   पेगासस मामला: शिवसेना ने की जेपीसी जांच की मांग, कहा- यह हमला आपातकाल से भी बदतर     ||   महाराष्ट्र सरकार ने भी HC से कही थी ऑक्सीजन की कमी से मौत ना होने की बात- अमित मालवीय     ||   नवजोत सिंह सिद्धू के आवास पर पहुंचे 62 MLA, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बोले- बदलाव की बयार     ||   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||

विश्व कप विजेता टीम के सदस्य पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा का निधन , सुबह हार्ट अटैक के चलते हुई मौत

अंग्वाल न्यूज डेस्क

विश्व कप विजेता टीम के सदस्य पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा का निधन , सुबह हार्ट अटैक के चलते हुई मौत

नई दिल्ली । क्रिकेटर कपिल देव के नेतृत्व में भारत को पहला विश्वकप दिलवाने में अहम भूमिका निभाने वाले पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा का मंगलवार सुबह निधन हो गया । वह 66 साल के थे । आज सुबह उन्हें हार्ट अटैक आया , जिसके चलते उनका निधन हो गया । उनके निधन पर उनसे साथी खिलाड़ियों के साथ ही उनके प्रशंसकों और क्रिकेट जगत के कई दिग्गजों ने अपनी श्रद्धांजलि दी है । पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि आज हमारा परिवार टूट गया है , वह यशपाल शर्मा ही थे , जिन्होंने 1983 विश्वकप जीत का एजेंडा तय किया था । 

मिली जानकारी के अनुसार , मंगलवार सुबह यशवाल शर्मा अपनी मॉर्निंग वॉक करने के बाद जब घर लौटे तो उन्हें सीने में दर्द की शिकायत की । उन्होंने अस्पताल में ले जाया गया, लेकिन तब तक उन्होंने दम तोड़ दिया था । डॉक्टरों ने बताया कि उन्हें हार्ट अटैक आया था , जिसके चलते उनका निधन हुआ है । 

बता दें कि यशपाल शर्मा ने वर्ष 1978 में अपना वन डे और वर्ष 1979 में अपने टेस्ट क्रिकेट का डेब्यू किया था । उनका करियर काफी छोटा ही रहा । उन्होंने जहां 1985 में अपना अंतिम वन डे खेला था तो वहीं 1983 में अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला था । उनके निधन पर उनके साथी खिलाड़ी रहे मदनलाल ने कहा कि यह काफी दुखद खबर है । यशपाल अपने पीछे अपनी पत्नी और तीन बच्चों को छोड़कर गए हैं । हालांकि उनके बच्चे विदेश में पढ़ाई करते हैं । कुछ सालों पहले वह भारतीय नेशनल टीम के सलेक्टर भी रहे हुए हैं । 


यशपाल शर्मा को 83 के विश्वकप में उनकी वेस्टइंडीज के खिलाफ 89 रनों की दमदार पारी के लिए भी याद रखा जाएगा । 

मूल रूप से पंजाब के रहने वाले यशपाल शर्मा का जन्म 11 अगस्त 1954 को हुआ था । पंजाब में स्कूल क्रिकेट खेलने के दौरान उनकी 260 रनों की एक पारी ने उन्हें सुर्खियों में ला दिया था , जिसके बाद उनका राष्ट्रीय टीम में चयन हुआ था । हालांकि 83 विश्वकप के बाद उनकी परफॉर्मेंस लगातार गिरती गई और वह टेस्ट और कुछ समय बाद वनडे टीम में वापसी नहीं कर पाए। 

 

Todays Beets: