Sunday, September 22, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

नो- बॉल विवाद पर भड़के 'कैप्टन कूल' को गुस्से की मामूली सजा , प्रशंसक बोले - नहीं देखा कभी ऐसा

अंग्वाल संवाददाता
नो- बॉल विवाद पर भड़के

नई दिल्ली । क्रिकेट जगत में 'कैप्टन कूल' के नाम से विख्यात महेंद्र सिंह धोनी का पारा गुरुवार को जयपुर के सिवाई मान सिंह स्टेडियम में ऊपर चढ़ गया । राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेले गए IPL के एक मुकाबले में अंतिम ओवर में ग्राउंड अंपायर द्वारा बेन स्टोक की एक गेंद को नो-बॉल देने का इशारा करने के बाद उसे नो-बॉल नहीं दिया । इसे लेकर धोनी भड़क गए । गुस्सा इतना ही वह चलते मैच में मैदान में जा घुसे। धोनी ने अपनी गुस्सा और विरोध दोनों दर्ज कराया , लेकिन अंपायर ने अपना फैसला नहीं बदला । उनके इस व्यवहार को उनके प्रशंसक भी नहीं पचा पाए । वहीं  धोनी को अपने इस व्यवहार के लिए IPL के कोड ऑफ कंडक्ट 2.20 के तहत लेवल 2 का दोषी पाया गया है। धोनी ने इसे स्वीकार भी कर लिया है । यूं तो उनपर उनकी इस हरकत के लिए धोनी पर एक मैच का बैन भी लगाया जा सकता था लेकिन उन्हें मामूली सजा देते हुए उनकी मैच फीस की 50 फीसदी राशि का जुर्माना ही लगाया गया है।

मुंबई में IPL पर 'आतंकी साए ' का खुफिया अलर्ट , खिलाड़ियों पर हो सकता है होटल-पार्किंग पर आतंकी हमला

बता दें मिस्टर कूल और कैप्टन कूल के नाम से अपनी पहचान बना चुके महेंद्र सिंह धोनी जयपुर के सवाई मानसिंह स्‍टेडियम पर घरेलू टीम के साथ एक मुकाबला खेल रहे थे। पहले बल्लेबाजी करते हुए राजस्थान ने निर्धारित 20 ओवरों में 151 रन बनाए । बाद में बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई सुपरकिंग्स को शुरुआती झटके लगे, जिसके बाद धोनी ने रायडू के साथ पारी को संभाला और दोनों मैच को जीत के करीब ले गए । इस दौरान राडयू आउट हो गए और मैच अंतिम ओवर तक जा पहुंचा , जिसमें जीत के लिए धोनी की टीम को 18 रन बनाने थे । इस ओवर की पहली गेंद पर ही रवींद्र जडेजा ने बेन स्टोक्स की गेंद पर छक्‍का जड़ दिया । दूसरी गेंद नोबॉल रही जिस पर जडेजा ने एक रन लिया। अब  स्‍ट्राइक धोनी (MS Dhoni) के पास थी, जिन्‍होंने फ्री-हिट वाली बॉल पर दो रन ले लिए । ओवर की तीसरी गेंद पर स्‍टोक्‍स ने धोनी को बेहतरीन यॉर्कर पर बोल्‍ड कर दिया।

COCA COLA बाजार में लाएगी आम पन्ना और छाछ , सेहत के लिए फिक्रमंद जनता को लुभाने की नई योजना


अब तीन गेंद पर चेन्‍नई को आठ रन की जरूरत थी। स्‍टोक्‍स ने चौथी गेंद, कमर की ऊंचाई तक की लो-फुलटॉस फेंकी, जिस पर मिचेल सेंटनर (Mitchell Santner) ने दो रन लिए। इस गेंद के फेंके जाने के साथ ही ग्राउंड अंपायर उल्‍हास गंधे ने अपना हाथ नो-बॉल के लिए उठाया लेकिन फिर हाथ रोक दिया । स्‍क्‍वेयर लेग अम्‍पायर ब्रूस आक्‍सेनफोर्ड ने नोबॉल को 'ओवररूल' कर दिया। इसे लेकर जडेजा ग्राउंड अपायर से बात करने लगे, लेकिन उनकी मांग खारिज किए जाने पर ब्राउंड्री पर खड़े धोनी एकाएक मैदान में चल दिए । उन्होंने भी दोनों अंपायरों से उनके फैसलों को लेकर बात की, लेकिन अंपायरों ने अपना फैसला नहीं बदला । हालांकि मैच का अंत काफी रोमांचक रहा, जहां सेंटनर ने अंतिम गेंद पर छक्का लगाकर अपनी टीम को जीत दिलाई ।

 

 

Todays Beets: