Sunday, February 5, 2023

Breaking News

   Supreme Court: कलेजियम की सिफारिशों को रोके रखना लोकतंत्र के लिए घातक: जस्टिस नरीमन     ||   Ghaziabad: NGT के फैसले पर नगर निगम को SC की फटकार, 1 करोड़ जमा कराने की शर्त पर वूसली कार्रवाई से राहत     ||   दिल्लीः फ्लाइट में स्पाइसजेट की क्रू के साथ अभद्रता के मामले में एक्शन, आरोपी गिरफ्तार     ||   मोरबी ब्रिज हादसा: ओरेवा ग्रुप के मालिक जयसुख पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी     ||   भारत जोड़ो यात्राः राहुल गांधी बोले- हम चाहते हैं कि बहाल हो जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा     ||   MP में नहीं माने बजरंग दल और हिंदू जागरण मंच, 'पठान' की रिलीज के विरोध का किया ऐलान     ||   समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्या पर लखनऊ में FIR     ||   बजरंग पुनिया बोले - Oversight Committee बनाने से पहले हम से कोई परामर्श नहीं किया गया     ||   यमुना एक्सप्रेस-वे पर कोहरे की वजह से 15 दिसंबर से स्पीड लिमिट कम कर दी जाएगी     ||   भारत की यात्रा करने वाले ब्रिटेन के नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा फिर से शुरू     ||

Bihar Liquor Case - नीतीश का पीड़ितों को मुआवजा देने से इनकार , कहा - दारू पीकर मरने वालों के प्रति दया नहीं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
Bihar Liquor Case - नीतीश का पीड़ितों को मुआवजा देने से इनकार , कहा - दारू पीकर मरने वालों के प्रति दया नहीं

पटना । बिहार विधानसभा से लेकर दिल्ली में संसद तक उछल रहे छपरा जिले के जहरीली शराब कांड में बयानबाजी और तीखी होती जा रही है । पहले बिहार भाजपा के नेताओं पर अपना गुस्सा जाहिर करने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अब जहरीली शराब पीकर मरने वाले लोगों को मुआवजा देने से मना कर दिया है । नीतीश कुमार का गुस्सा अभी भी कामय है । नीतीश कुमार ने विधानसभा के शीत सत्र में भाषण देते हुए कहा - बिहार में दारू पीकर मरने से सरकार मुआवजा नहीं देगी । अगर कोई शराब पिएगा और गड़बड़ पिएगा तो वो मरेगा । अगर कोई शराब पीकर मर जाता है, तो उसके प्रति दया नहीं रखनी चाहिए । लोगों को शराब पीने से मना करना चाहिए । 

बता दें कि बिहार के छपरा में पिछले दिनों जहरीली शराब पीने से अब तक करीब 50 लोगों की मौत हो गई है । वहीं कई अभी भी गंभीर रूप से बीमार हैं । छपरा में जहरीली शराबकांड के चलते एसएचओ रितेश मिश्रा और कांस्टेबल विकेश तिवारी को गुरुवार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है । 

इस घटनाक्रम पर भाजपा ने संसद से लेकर सड़क तक नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है । नीतीश कुमार भी अपनी सरकार के ऊपर लग रहे आरोपों और अपने इस्तीफे की मांग से बौखलाए नजर आ रहे हैं । उन्होंने जिस तरह के बयान देना जारी रखा हुआ है , उसके मद्देनजर सांसद सुशील मोदी ने गुरुवार (15 December) को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनकी टिप्पणी पर माफी मांगने की मांग की । 


सुशील मोदी ने कहा, "पिछले छह सालों में जहरीली शराब के कारण बिहार में 1000 से अधिक लोग मारे गए है , क्या बिहार में पुलिस का राज है? जिस तरह से नीतीश कुमार ने विधानसभा में व्यवहार किया, वह शालीनता नहीं है, उन्हें माफी मांगनी चाहिए । "

इसके साथ ही बिहार के विपक्ष के नेता विजय कुमार सिन्हा ने गुरुवार को राज्य सरकार पर बिना किसी पोस्टमॉर्टम के शवों को जलाकर छपरा में हुई मौतों की वास्तविक संख्या को छिपाने का आरोप लगाया ।

Todays Beets: