Friday, July 19, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

LIVE - मुजफ्फरपुर में 108 बच्चों की मौत के बाद पहुंचे नीतीश कुमार , गुस्साई जनता बोली 'सीएम वापस जाओ'

अंग्वाल संवाददाता
LIVE - मुजफ्फरपुर में 108 बच्चों की मौत के बाद पहुंचे नीतीश कुमार , गुस्साई जनता बोली

मुजफ्फरपुर ।  बिहार में मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार के चलते बड़ी संख्या में बच्चों की मौत के मामले में मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर स्थित एसकेएमसीएच अस्पताल का दौरा किया । इस दौरान मौजूद लोगों ने नीतीश कुमार के विरोध में नारे लगाते हुए उन्हें वहां से चले जाने को कहा । लोगों ने विरोध इस बात को लेकर जताया कि राज्य के सीएम बच्चों की मौत को लेकर जरा भी संवेदनशील नहीं है । लगातार बच्चों की मौत के बावजूद उन्होंने परिजनों और पीड़ित परिवारों के साथ कोई संवाद तक नहीं किया । ऐसे में जब नीतीश कुमार आज अस्पताल पहुंचे तो लोगों ने नीतीश कुमार मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए । इतना ही नहीं अस्पताल परिसर में मौजूद परिजनों की मांग है कि उन्हें नीतीश कुमार से मिलने दिया जाए।

जम्मू कश्मीर - पुलवामा IED ब्लास्ट में 44वीं राष्ट्रीय राइफल्स 2 जवान शहीद , 7 घायल

नीतीश कुमार के दौरे से गुस्साए लोगों ने राज्य सरकार पर आरोप लगाए कि सरकार इस तरफ ध्यान नहीं दे रही है । अब तक सौ से ज्यादा बच्चों की मौत हो चुकी है लेकिन शासन के स्तर पर कोई भी पीड़ित परिवारों की सुध लेने नहीं आया है । लोगों ने आरोप लगाया कि सीएम आए और किसी से बात किए बिना चले गए । क्या सरकार का अपनी जनता के प्रति यही रुख है । हालांकि एसकेएमसीएच के परिसर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किया गया है। लोगों की नाराजगी के मद्देनजर बेरिकेडिंग लगाई लगी है । लोगों को अभी भी उम्मीद है कि नीतीश कुमार के आने से चीजें शायद पहले से बेहतर हो जाए । वहीं, लोगों का मानना है अगर नीतीश कुमार पहले आते तो स्थिति बेहतर होती।


 

सुरक्षाबलों ने लिया पुलवामा का बदला , आत्मघाती हमले के लिए अपनी कार देने वाला जैश कमांडर सज्जाद भट्ट भी ढेर

विदित हो कि अस्पताल के अंदर मीडिया पर पाबंदी लगा दी गई है । लोगों का कहना है कि अस्पताल की व्यवस्था है खराब है और सरकार की तरफ से कोई दवा नहीं दी जा रही है । बड़ी संख्या में वहां परिजन मौजूद हैं और सभी 'नीतीश कुमार वापस जाओ', और 'हाय-हाय' का नारा लगाया जा रहा है । कुछ लोगों ने यहा नीतीश कुमार मुर्दाबाद के नारे भी लगाए । मुजफ्फरपुर में इन दिनों चमकी बुखार ने बड़ी संख्या में बच्चों को अपनी चपेट में ले रखा है । अस्पताल में करीब 400 बच्चों का इलाज चल रहा है ।

पीएम मोदी ने फिर सबको चौंकाया , ओम बिड़ला होंगे लोकसभा के नए स्पीकर

Todays Beets: