Tuesday, November 12, 2019

Breaking News

   दिल्ली में भी भोपाल जैसा हनी ट्रैप , कई रईसजादों को विदेशी लड़कियों की मदद से फंसाया    ||   घाटी में घनघटाने लगीं मोबाइल फोन की घंटियां, इंटरनेट पर अभी भी प्रतिबंध    ||   इकबाल मिर्ची की इमारत में प्रफुल्ल पटेल का भी फ्लैट , ईडी ने भेजा समन    ||   रणवीर सिंह ने ठुकराया संजय लीला भंसाली की फिल्म का ऑफर , आलिया भट्ट हैं फिल्म की हिरोइन    ||   वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति ने भी माना- अर्थव्यवस्था की हालत खराब     ||   दिल्ली में डेंगू ने तोड़ा रिकॉर्ड, इस हफ्ते में 111 नए मामले आए सामने     ||   अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्ड्रिंग केस: 25 अक्टूबर तक बढ़ी रतुल पुरी की न्यायिक हिरासत     ||   तमिलनाडु: मसाले की फैक्ट्री में लगी आग, मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद     ||   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||

महाराष्ट्र LIVE -  CM फणनवीस ने राज्यपाल को दिया इस्तीफा , कहा- शिवसेना ने गलत रुख अपनाया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
महाराष्ट्र LIVE -  CM फणनवीस ने राज्यपाल को दिया इस्तीफा , कहा- शिवसेना ने गलत रुख अपनाया

मुंबई । महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस ने शुक्रवार शाम राजभवन में जाकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात करने के बाद मुख्यमंत्री पद से अपना इस्तीफा दे दिया । इस दौरान उनके साथ भाजपा के कई अन्य नेता भी मौजूद थे । इसके बाद उन्होंने अपनी एक प्रेस वार्ता में कहा कि मुझे पांच साल प्रदेश की सेवा करने का जो मौका मिला , उसके लिए मैं पार्टी आलाकमान और प्रदेश की जनता का आभार प्रकट करता हूं । मेरी सरकार ने पूरी पारदर्शिता से काम किया । हमने ईमानदारी से सरकार चलाई । इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछले 5 साल में महाराष्ट्र में हमारी सरकार ने जो विकास के कार्य किए वह लोगों ने महसूस किए होंगे, लेकिन मैं यह भी मानता हूं कि अभी भी राज्य के विकास के लिए बहुत से काम किए जाने बाकी है । उन्होंने कहा कि इस बार भी प्रदेश की जनता ने भाजपा और शिवसेना को जनादेश दिया है। 

इस दौरान उन्होंने कहा कि मेरे सामने शिवसेना को सीएम पद पर 50-50 के फॉर्मूले पर सरकार बनाने का कोई वादा नहीं किया गया था । किसी ओर के सामने बात हुई होगी तो मुझे बता नहीं । सरकार गठन को लेकर अगर कोई वादा किया गया तो वह बातचीत के द्वारा सुलझाया जा सकता था , लेकिन इस बारे में कोई बात ही नहीं करना गलत रहा । 

वहीं भाजपा के इस फैसले के बाद अब साफ हो गया है कि महाराष्ट्र भाजपा अब सरकार गठन के लिए शिवसेना से आगे कोई बात नहीं करने जा रही है । इस सब के बाद अब महाराष्ट्र की नई सरकार के गठन पर गेंद राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के पाले में चली गई है । ऐसी भी संभावना है कि राज्यपाल अब प्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी भाजपा को सरकार बनाने का न्योता दे सकते हैं । इसी क्रम में शिवसेना नेता संजय राउत एनसीपी नेता शरद पवार से मुलाकात करने उनके घर पहुंचे हैं ।


बता दें कि भाजपा शिवसेना गठबंधन को मिला जनादेश किसी मंजिल पर पहुंचतना नजर नहीं आ रहा है । गठबंधन एक साथ महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में उतरा और बहुमत का आंकड़ा भी पार कर गया , लेकिन सीएम पद को लेकर शिवसेना ने 50-50 का फॉर्मूला लागू करने को कहा । जिसे भाजपा ने साफ खारिज कर दिया । इस सब के बाद से राज्य में सरकार गठन को लेकर हर दल ने अपनी भूमिका को लेकर मंथन किया , लेकिन किसी के हाथ कुछ नहीं लगा । 

बहरहाल , अब गेंद राज्यपाल के पाले में आ गई है । अब देखना यह होगा कि वह सरकार गठन के लिए किसे बुलाते हैं या राष्ट्रपति शासन की ओर राज्य आगे बढ़ता है । 

 

Todays Beets: