Thursday, June 30, 2022

Breaking News

   मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया, कुलगाम में बैंक मैनेजर की हत्या में शामिल था: IGP कश्मीर     ||   जालंधर: अरविंद केजरीवाल के दौरे से पहले दीवारों पर लिखे मिले खालिस्तान के सपोर्ट वाले स्लोगन     ||   पुलिस लॉरेंस बिश्नोई को लेकर मोहाली पहुंची, अज्ञात जगह हो रही पूछताछ     ||   राष्ट्रपति चुनाव: ममता बनर्जी की मीटिंग में जाएंगे मल्लिकार्जुन खड़गे और जयराम रमेश     ||   दिल्ली: कांग्रेस कार्यकर्ताओं का उग्र प्रदर्शन, बैरिकेड तोड़े, टायर जलाए     ||   सुवेंदु अधिकारी समेत निलंबित भाजपा विधायकों ने पश्चिम बंगाल विधानसभा में धरना दिया     ||   18 जून को 100 साल की हो जाएंगी नरेंद्र मोदी की मां हीराबा, मिलने जाएंगे पीएम     ||    रोडरेज मामले में सिद्धू को 1 साल कठोर कारावास की सजा, SC ने 34 साल पुराने केस में सुनाई सज़ा    ||   बिहार विधानसभा में कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा, CPI-ML के 12 विधायकों को किया गया बाहर     ||   गौतमबुद्ध नगर के तीनों प्राधिकरणों के 49,500 करोड़ नहीं चुका रहीं रियल एस्टेट कंपनियां     ||

केजरीवाल बोले - खेलोगे कूदोगे बनोगे साहब! अब खिलाड़ी कर सकेंगे BA कबड्डी - पा सकेंगे BA in Cricket की डिग्री

अंग्वाल न्यूज डेस्क
केजरीवाल बोले - खेलोगे कूदोगे बनोगे साहब! अब खिलाड़ी कर सकेंगे BA कबड्डी - पा सकेंगे BA in Cricket की डिग्री

नई दिल्ली । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को दिल्ली के खिलाड़ियों को लेकर एक बहुत बड़ा ऐलान किया है । उन्होंने अपने खेलकूद के चलते पढ़ाई में पिछड़ जाने वाले खिलाड़ियों को लेकर एक दमदार योजना को मीडिया के सामने रखा । उन्होंने खेलोगे कूदोगे बनोगे साहब '' पर अपनी बात कहते हुए कहा कि अब खिलाड़ी अपने खेल के चलते नहीं पिछड़ेंगे । उन्होंने कहा कि अब स्कूलों में 6-7 के बच्चों को आगे साइंस , अकाउंट्स , मैथ के लिए तैयार नहीं किया जाएगा बल्कि खेलकूद में अच्छे ऐसे बच्चों को पढ़ाई के बजाए खेलकूद के लिए तैयार किया जाएगा । ऐसे बच्चों को अब BA क्रिकेट और BA कबड्डी जैसी डिग्री मिल सकेगी । वह मिशन एक्सीलेंस स्कीम के तहत दिल्ली के प्रतिभावान खिलाड़ियों को चेक देने के लिए आए थे । 

हमारी सरकार ने किया अनोखा प्रयोग

उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों के साथ एक समस्या आती है कि अगर आप खेल में निकल गए तो बढ़िया अगर नहीं निकल पाए तो आपसे नौकरियों में पूछा जाता है कि आखिर आपने किया क्या है ...बीए किया है या बीएससी की है....लेकिन अब हमने देश में नया तरीके का प्रयोग हमने किया है । अब अगर.. खिलाड़ी तैयार करेंगे , ऐसे खिलाड़ी भले ही आप कब्बडी खेलते हैं या किक्रेट खेलते हैं तो आपको बीए क्रिकेट , बीए कब्बडी की डिग्री मिलेगी । इससे आपकी नौकरी का रास्ता बंद नहीं होगा । आने वाले समय में दिल्ली देश का नाम रौशन करेगी , ऐसी मैं उम्मीद करता हूं । आज जिन जिन लोगों को मदद मिली है मैं उम्मीद करता हूं कि आप देश का नाम रौशन करेंगे और मेडल लेकर आएंगे ।      

पहले मेडल के लिए बहुत मेहनत करनी होती है


केजरीवाल ने इन खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि जब आप पहला मेडल लाते हैं तो उस पहले मेडल के लिए बहुत मेहनत करनी होती है । कई से कोई सहारा नहीं मिलता , हर जगह से दुत्कार मिलती है । परिजन कहते हैं कि पढ़ ले खेलने से क्या होगा । सरकारें भी कोई मदद नहीं देती । ऐसे में जो भी खिलाड़ी देश के लिए सम्मान और पदक लाए हैं , उनको हमारा सलाम है । बिना सुविधा के मेडल लाना बहुत बड़ा काम है । हमारे देश में ऐसे जो भी खिलाड़ी विपरीत परिस्थितयों में राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जो भी मेडल लाए हैं उनके हौंसले को सलाम । एक बार मेडल मिल जाने पर तो बहुत लोग सुविधाएं लेकर उनके पास आ जाते हैं । 

इस बार 60 खिलाड़ियों को दिए चेक

हमारी सरकार का मिशन एक्सिलेंस ऐसे ही युवा खिलाड़ियों के लिए हैं जो अपने पहले मेडल के लिए मशक्कत कर रहे हैं ।  स्कूलों में मदद पहुंचाने के लिए कि खिलाड़ी को ट्रेनिंग डाइट के साथ बहुत सी चीजों की जरूरत होती है , लेकिन गरीब घर से होने के चलते वह इस सबसे वंचित रह जाते हैं । ऐसे ही खिलाड़ियों के लिए हम अपनी स्कीम लेकर आए हैं , जो बहुत प्रतिभावान हैं लेकिन सुविधाएं नहीं मिल पा रहीं । पहले साल हमने 117 ऐसे खिलाड़ियों को मदद दी थी और आज हम 60 ऐसे खिलाड़ियों को मदद दे रहे हैं , जिन्होंने इस स्कीम के तहत आवेदन किया था । सबको अलग अलग रकम दी गई है । 

16 लाख रुपये तक की मिलती है मदद

वह बोले कि इसमें सबसे बेहतर बात यह है कि इसमें कोई राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं है । एक कमेटी खिलाड़ियों की मांग की जांच करती है , जिसके तहत 16 लाख रुपये तक दिए जाते हैं । कुछ को 12 किसी को 10 लाख तो किसी को 8 लाख रुपये मिलते हैं । उन्होंने कहा कि हमारे देश में हुनर की कमी नहीं है । लेकिन हमारे देश में खेलों में राजनीति का हस्तक्षेप बहुत ज्यादा है । सलेक्शन के समय कई बार नेताओं के फोन आने पर उनके लोगों को लाभ पहुंचा दिया जाता है । लेकिन इस स्कीम के तहत मदद पाने वालों में मेरा कोई जानकार भी नहीं है ।

Todays Beets: