Monday, February 17, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

Delhi assembly election - भाजपा आलाकमान ने बनाई 'मिनी जनसभा' की रणनीति , करेगी 5000 जनसभाएं

अंग्वाल संवाददाता
Delhi assembly election - भाजपा आलाकमान ने बनाई

नई दिल्ली । भारतीय जनता पार्टी ने दिल्ली विधानसभा चुनावों के मद्देनजर अपने 57 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करने के साथ ही अब अपनी रणनीति को जमीन पर उतारने के लिए भी कमर कस ली है । दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों पर अपने विरोधियों के खिलाफ चक्रव्यूह रचने के लिए भाजपा ने दिल्ली में करीब पांच हजार जनसभाएं करने की योजना बनाई है । इसके साथ ही अपने स्टॉर प्रचारकों के नाम का ऐलान करने के साथ ही भाजपा ने अपने सुपर स्टार प्रचारक पीएम नरेंद्र मोदी की भी एक दर्जन से ज्यादा चुनावी सभाएं आयोजित करने की रणनीति बनाई है । इसके साथ ही दिल्ली की जनता को भाजपा की नीतियों से अवगत करवाने और चुनाव प्रचार में उतारने के लिए 100 बड़े नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों को जिम्मेदारी दी गई है । भाजपा की रणनीति की खास बात इस बार यह नजर आएगा कि भाजपा नेता बड़ी रैलियों की जगह मात्र 200-250 लोगों की छोटी छोटी जनसभाएं करेंगे , ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक व्यक्तिगत रूप से मिलकर उनतक अपनी पहुंचा पाएं । 

निर्भया की मां ने PM Modi से की भावुक अपील , कहा- बच्ची की मौत के साथ मजाक न होने दें

22 सालों का वनवास खत्म होगा!

दिल्ली की सत्ता पर पिछले 22 सालों से दूर रहने वाली भाजपा को इस बार सीधी चुनौती सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी से मिलने जा रही है । इस सयम सत्तारूढ़ आप के 67 विधायक हैं । एक बार फिर से आम आदमी पार्टी अपना पूरा दम लगा चुकी है लेकिन आम आदमी पार्टी की टीम अब उतनी मजबूत नहीं है जितना पिछले विधानसभा चुनावों में थी । पार्टी के कई नेता अब दूसरे दलों का दामन थाम चुके हैं । ऐसे में भाजपा ने उम्मीद जताई है कि जहां कांग्रेस अपना अस्तित्व खोजने के लिए चुनावी मैदान में उतरेगी , वहीं आप के अंदर के गतिरोध का फायदा भाजपा उठा सकती है । 

ये भी पढ़ें - Delhi assembly election 2020 – टिकट बंटवारे को लेकर भाजपा कार्यकर्ता हुए बागी , नड्डा के घर प्रदर्शन

5000 जनसभाओं से लोगों तक पहुंच


भाजपा ने दिल्ली की सत्ता पर काबिज होने के लिए जो रणनीति बनाई है , उसके तहत पार्टी के छोटे बड़े नेता दिल्ली में करीब पांच हजार जनसभाएं करेंगे । इतना ही नहीं इस दौरान पीएम मोदी भी खुद 10-12 जनसभा करेंगे । भाजपा दिल्ली में केजरीवाल के सामने अपना कोई प्रदे्श स्तर का नेता नहीं बल्कि पीएम मोदी को चेहरा बनाकर मैदान में उतरना चाह रही है ।

भाजपा आलाकमान का सख्त निर्देश

इस दौरान पार्टी आलाकमान ने भाजपा के छोटे-बड़े नेताओं को निर्देश दिए हैं कि वह इस बार बड़ी बड़ी जनसभाएं न करें , बल्कि पार्टी नेता छोटी छोटी जनसभाएं करें । ऐसा करने के पीछे पार्टी की मंशा है कि उनके नेता ज्यादा से ज्यादा लोगों से मिल सकें । 

नड्डा खुद करेंगे बूथ - मंडल कार्यकर्ताओं से संवाद

खबरों के अनुसार , भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा दिल्ली की सभी 70 विधानसभा के बूथ और मंडल कार्यकर्ताओं के साथ सीधा संवाद करेंगे । जेपी नड्डा अबतक 17 विधानसभा में कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर चुके हैं ।  

Todays Beets: