Thursday, July 18, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

कर्नाटक की JDS - CONGRESS सरकार गिन रही 'अंतिम सांसें' , देवगौड़ा बोले- सरकार कब तक चलेगी कुछ पता नहीं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कर्नाटक की JDS - CONGRESS सरकार गिन रही

बेंगलुरु । कर्नाटक की जनता दल सेक्युलर (JDS) और कांग्रेस की गठबंधन सरकार पर खतरे के बादल मंडराने लगे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री और JDS चीफ एचडी देवगौड़ा ने हाल में राज्य की कांग्रेस कमेटी को भंग किए जाने के बाद सरकार को लेकर एक चौंकाने वाला बयान दिया है । देवगौड़ा ने अपने एक बयान में कहा कि कर्नाटक में कभी भी मध्यावधि चुनाव हो सकते हैं । उन्होंने कहा कि कांग्रेस का जिस तरह का बर्ताव है, वह जनता देख रही है । मैं कह नहीं सकता कि यह सरकार कब तक टिकेगी । उन्होंने कहा - मैंने नहीं कहा कि यह गठबंधन होना चाहिए । मैं यह आज कह रहा हूं और कल भी कहूंगा । वे (कांग्रेस) हमारे पास आए और कहा कि आपका बेटा मुख्यमंत्री बनेगा, चाहे जो हो जाए । तब मैं यह नहीं जानता था कि उनके सभी नेताओं के बीच सहमति थी या नहीं। लोकसभा चुनाव के बाद लगता है कि उन्होंने (कांग्रेस) अपनी ताकत खो दी है। उनके इस बयान पर भाजपा नेता येदियुरप्पा ने कहा कि कोई मध्यावधि चुनाव नहीं होंगे । हम पर्याप्त संख्याबल हैं, अगर ये सरकार नहीं चलाएंगे तो हम सरकार संभालेंगे । हम 1 साल के भीतर दोबारा चुनाव का बोझ देश और जनता पर नहीं डालने देंगे।

सरकार का टिका रहना कांग्रेस के हाथ में

इस दौरान देवगौड़ा ने कहा कि मुझे इस बात का नहीं बता कि यह सरकार कब तक रहेगी । हमारी तरफ से इस सरकार को लेकर कोई खतरा नहीं है लेकिन सरकार का बने रहना कांग्रेस के हाथ में है । हमने कैबिनेट में अपनी एक जगह भी उन्हें दे दी, इसके बावजूद कांग्रेस में गतिरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है । हमने वो सब किया जो उन्होंने कहा । लेकिन अब कोई शक नहीं कि मध्यावधि चुनाव होंगे । वे कहते हैं कि 5 साल हमें समर्थन देंगे. लेकिन ऐसा लगता नहीं है। राज्य की जनता भी कांग्रेसी नेताओं के व्यवहार को देख रही है ।

मैं मल्लिकार्जुन खड़गे को सीएम बनाना चाहता था

देवगौड़ा ने इस दौरान एक खुलासा करते हुए कहा कि कर्नाटक में गठबंधन को लेकर बैठकों का दौर जारी था । मैं वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को मुख्यमंत्री बनाना चाहता था । 0मैं गठबंधन के लिए गोंद की तरह था । इस सब के बीच कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने कीर्ति आजाद और अशोक गहलोत को बेंगलुरु भेजा था । हम तीनों ने साथ में बैठक की । इसके बाद सिद्धारमैया, मल्लिकार्जुन खड़गे, मुनियप्पा और परमेश्वर आ गए ।  

कांग्रेस आलाकमान कुमारस्वामी को सीएम बनाना चाहते थे

पूर्व के धटनाक्रम का खुलासा करते हुए देवगौड़ा ने आगे कहा कि - बैठकों के दौर के बीच मैंने कांग्रेस के नेताओं को आलाकमान तक संदेश पहुंचाया था कि मैं मल्लिकार्जुन खड़गे को मुख्यमंत्री बनाने का पक्षधर हूं । खुद खड़गे ने कहा था कि अगर कांग्रेस आलाकमान राजी होती है तो मुझे स्वीकार है। लेकिन कांग्रेस आलाकमान ने ऐसा नहीं होने दिया । मैंने आजाद को फोन लिया और राहुल गांधी से कहा कि खड़गे को मुख्यमंत्री बनाया जाए । इसके बाद आजाद ने बताया कि कांग्रेस हाई कमान कुमारस्वामी को ही मुख्यमंत्री चाहती है ।  मैंने उनकी बात मान ली और घर चला गया ।

कुमारस्वामी ने किया बचाव


देवगौड़ा के इस बयान के बाद राज्य के सीएम एचडी कुमारस्वामी बोले कि देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की बात नहीं कही, बल्कि उन्होंने स्थानीय निकाय चुनाव की बात की है । उन्होंने सिर्फ यह बताया कि 2018 में सरकार कैसे बनी थी । सरकार अगले 4 साल चलेगी और विकास के लिए काम करेगी ।  

भाजपा नेता येदियुरप्पा का तंज

वहीं देवगौड़ा के बयान पर कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने कहा, कुमारस्वामी कहते हैं कि मेरे पिता के बयान को गलत तरीके से लिया गया । जेडीएस और कांग्रेस गठबंधन टूट की कगार पर पहुंच गया है ।  मैं साफ कर दूं कि मध्यावधि चुनाव नहीं होंगे । हम 105 हैं , अगर उनमें क्षमता है तो उन्हें सरकार चलाने दीजिए या फिर वे चले जाएं तो हम प्रशासन संभाल लेंगे । एक साल में चुनाव की कोई जरूरत नहीं है. लोग इसके लिए हामी नहीं भरेंगे ।

जेडीएस-कांग्रेस में गतिरोध की खबरें

सरकार गठन के बाद से ही जेडीएस और कांग्रेस के बीच गतिरोध होने की खबरें आती रहीं हैं। खुद सीएम कुमार स्वामी ने इन गतिरोधों के चलते पद छोड़ने की बात तक कह डाली थी । दोनों दलों के नेताओं की ओर से एक दूसरे के लिए कई कड़वे बयान सामने आए हैं, लेकिन इस सब के बावजूद अभी तक सरकार सत्ता में बनी हुई है । इस सब के बीच भाजपा भी तख्तापलट का सही समय तलाश रही है । दोनों की दलों के कई नेता भाजपा के संपर्क में हैं और मौका लगते ही वह अपने दलों को छोड़ भाजपा का दामन थाम सकते हैं।

भाजपा है सबसे बड़ी पार्टी

बता दें कि 224 सदस्यों वाली कर्नाटक विधानसभा में पिछले साल हुए चुनावों के दौरान भाजपा सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद बहुमत का 113 सीटों का आंकड़ा सदन में साबित नहीं कर पाई थी और सरकार गिर गई थी । इसके बाद जेडीए और कांग्रेस ने गठबंधन करते हुए राज्य में सरकार बनाई थी । हालांकि जनादेश भाजपा के पक्ष में था ।  कांग्रेस विधानसभा चुनावों में 80 सीटों पर तो जेडीएस 37 सीटें जीती थी ।

Todays Beets: