Saturday, July 20, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

Fire in Metro Hospital LIVE - मेट्रो हार्ट से दूसरे अस्पतालों में भेजे गए मरीज, अपनों को खोजने में तिमारदारों के छुट रहे पसीने 

अंग्वाल संवाददाता
Fire in Metro Hospital LIVE - मेट्रो हार्ट से दूसरे अस्पतालों में भेजे गए मरीज, अपनों को खोजने में तिमारदारों के छुट रहे पसीने 

नोएडा । मेट्रो हार्ट अस्पताल में गुरुवार दोपहर लगी आग के बाद वहां से अफरा-तफरी में जिला प्रशासन और अस्पताल प्रशासन की टीमों ने मरीजों को शहर के दूसरे अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है। वहीं कुछ मरीजों को अपनी सेक्टर 11 वाले अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। लेकिन इस सब के बीच अब मरीजों को तीमारदार यहां वहां भटक रहे हैं। असल में गंभीर रूप से बीमार मरीजों के साथ अन्य मरीजों को आग लगने की सूरत में नोएडा के दूसरे अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है, लेकिन किसे कहां भर्ती करवाया गया है, इसकी सूची न बनने से अब उनके तिमारदार अपने मरीजों को ढूंढने के लिए अस्पतालों के चक्कर काट रहे हैं। इतना ही नहीं सेक्टर 11 स्थित मेट्रो हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों के तिमारदारों को भी अब अंदर प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। अस्पताल प्रबंधन ने कई गार्ड अस्पताल के बाहर तैनात कर दिए हैं, जो अब तिमारदारों को भी अस्पताल के अंदर नहीं आने दे रहे।

आग पर काबू पर अफरातफरी जारी

बता दें कि गुरुवार दोपहर नोएडा के सेक्टर 12 स्थित मेट्रो हार्ट अस्पताल की 2-3 मंजिल पर आग लग गई। आग लगने से उठने वाले धुएं के चलते दोनों फ्लोर पर अफरातफरी मच गई। मरीजों और उनके तिमारदारों ने मदद के लिए गुहार लगाना शुरू किया। धुएं के चलते अंदर सांस लेने में दिक्कत होने लगी। ऐसे में कुछ लोगों ने अस्पताल के बाहर लगे शीशे तोड़े ताकि धुंआ बाहर निकल सके। इसी क्रम में 2 घंटे की मशक्कत के बाद आग और धुएं के गुबार से छुटकारा मिल पाया। इस बीच मरीजों को दूसरे अस्पतालों में भर्ती करवाया गया। लेकिन अस्पताल और जिला प्रशासन की टीमों ने किस मरीज को किस अस्पताल में भर्ती करवाया है, इसका डाटा एकदम से नहीं बन पाने के चलते मरीजों के तिमारदारों की आफत आ गई।

अस्पताल -अस्पताल घूम रहे हैं तिमारदार

इस सब के बीच दिनेश रावल का कहना है कि वह अपने रिश्तेदार के साथ अस्पताल में मौजूद था, लेकिन आग लगने के बाद मची अफरातफरी में अस्पताल प्रबंधन की टीम उनके मरीज को लेकर चली गई। अब वह सेक्टर 11 स्थित मेट्रो अस्पताल और कैलाश अस्पताल में अपने रिश्तेदार को खोज रहा है। अभी तक उनका पता नहीं चला है। वहीं मेट्रो हार्ट अस्पताल के बाद बैठीं 70 वर्षीय पुष्पा का कहना है कि वह यहां अपने भतीजे से मिलने आईं थी, लेकिन अब उसे कहां ले जाया गया है, परिजनों को भी नहीं पता है। वह खुद भटक रहे हैं।


सेक्टर 11 वाले परिसर में तैनात किए गार्ड

नोएडा सेक्टर 12 स्थित मेट्रो हार्ट में आग लगने की घटना के बाद सेक्टर 11 स्थित मेट्रो हॉस्पिटल के गेट पर अस्पताल प्रशासन ने गार्ड बढ़ा दिए, जिन्होंने बाहर खड़े मरीजों को तिमारदारों को ही अंदर नहीं आने दिया। कुछ लोग इन गार्डों से मिन्नत करते नजर आए।  

अस्पताल प्रशासन बोला-सभी मरीज सुरक्षित 

इस दौरान मेट्रो हार्ट की ओर से कहा गया कि सभी मरीजों को सुरक्षित दूसरे स्थानों पर शिफ्ट कर दिया गया है। अस्पताल प्रबंधन की टीम ने जिला प्रशासन की टीमों को साथ मिलकर मरीजों को शहर के दूसरे अस्पतालों में भर्ती करवाया है। जल्द ही मरीजों को वापस अस्पताल में लाया जाएगा।  

Todays Beets: