Thursday, December 12, 2019

Breaking News

   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||   दिल्ली: राजनाथ सिंह के सामने आया शख्स, पीएम मोदी से मिलाने की मांग की     ||   उत्तराखंड के बद्रीनाथ में भारी हिमपात , तापमान माइनस पर पहुंचा    ||   नेपालः कास्की में कम्युनिस्ट पार्टी के बैठक स्थल के पास पार्किंग में धमाका     ||   राम मंदिर मामले में रिव्यू याचिका दायर करेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड     ||   दिल्ली हाईकोर्ट ने मालविंदर सिंह और सुनील गोड़वानी को एक दिन की ED हिरासत में भेजा     ||   बीजेपी ने पार्टी महासचिव अरुण सिंह को यूपी से राज्यसभा उम्मीदवार बनाया     ||   पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम की न्यायिक हिरासत 11 दिसंबर तक बढ़ाई गई     ||   INX मीडिया केस: पी चिदंबरम को झटका, दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका     ||   वकील VS पुलिस मामला: HC ने कहा- जांच पूरी होने तक पुलिस पक्ष से नहीं होगी गिरफ्तारी     ||

ये है NCP- Congress का वो फॉर्मूला , जिसपर लगनी है अंतिम मुहर , फिर शिवसेना के साथ होगा मंथन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ये है NCP- Congress का वो फॉर्मूला , जिसपर लगनी है अंतिम मुहर , फिर शिवसेना के साथ होगा मंथन

मुंबई । महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर एनसीपी नेता अजित पवार ने भले ही कांग्रेस और अपनी पार्टी के बीच एक कमेटी बनाए जाने की बात कहीं हो , लेकिन सूत्रों के हवाले से खबर है कि कांग्रेस और एनसीपी ने सरकार गठन के लिए अपना फॉर्मूला तैयार कर लिया है । खबर मिल रही है कि शिवेसना और एनसीपी राज्य में 50-50 के फॉर्मूले के तहत काम करेगी । राज्य में ढाई साल शिवसेना का सीएम रहेगा और ढाई साल एनसीपी का सीएम रहेगा। इस फॉर्मूले में कांग्रेस को पूरे पांच साल के लिए डिप्टी सीएम का पद मिलेगा । अगर इसमें शिवसेना कोई आपत्ति दिखाती है तो कांग्रेस विधानसभा स्पीकर के पद को लेकर मांग रखेगी । यही कारण है कि एनसीपी नेता अजित पवार ने बुधवार दोपहर कहा कि उनके और कांग्रेस के बीच तो फॉर्मला जल्द बन जाएगा , अब हमें शिवसेना से बात करनी है ।

असल में राज्य में शिवसेना (Shiv Sena), एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) के बीच गठबंधन सरकार के लिए फॉर्मूला तैयार कर लिया गया है । तीनों दलों के बीच लगभग सभी मुद्दों पर चर्चा हो चुकी है लेकिन कुछ विषय है जिनपर चर्चा होना बाकि जिनमें धर्मनिरपेक्षता और कॉमन मिनिमम प्रोग्राम भी है । एनसीपी और कांग्रेस क्योंकि एक साथ चुनाव में उतरे थे , इसलिए इन दोनों दलों ने शिवसेना से बात करने से पहले आपस में सरकार गठन का एक फॉर्मूला तैयार कर लिया है । सीएम और डिप्टी सीएम पद को लेकर जहां कई दौर की चर्चा हो चुकी है, वहीं तीनों पार्टियों के बीच स्पीकर पोस्ट को लेकर कोई फैसला नहीं हो सका है । यही कारण है कि अभी पदों को लेकर तीनों दल झुकते नजर नहीं आ रहे है  और यही इस गठबंधन के मूर्तरूप में नजर नहीं आने का कारण भी है । 


बता दें कि भले ही राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया हो , लेकिन कोई गठबंधन राज्यपाल के पास जाकर बहुमत का जादुई आंकड़ा पाने का समर्थन पत्र दिखा देता है , तो राष्ट्रपति शासन को हटाया भी जा सकता है । इस सब में अभी भी कुछ दिन लगने की उम्मीद जताई जा रही है ।  

 NCP    sharad pawar    committee    common minimum program    ajit pawar    former congress CM    prithviraj chavan    BMC    bombay municipal corporation    bjp shivsena alliance in BMC    sonia gandhi    congress ncp shivsena alliance    devendra fadnavis resign from CM post    maharashtra politics    bjp    CM devendra fadnavis    shiv sena    uddhav thackeray    congress    ncp    devendra fadnavis    CM maharashtra    shivsena    RSS chif    mohan bhagwat    maharashtra government reform    NCP    congress    sonia gandhi panwar meeting    samna magazine artical    sanjay raut    president rule in maharashtra    shivsena    chief minister    सोनिया गांधी    शरद पवार    शिवसेना को समर्थन    गठबंधन सरकार    maharashtra govt    maharashtra assembly election    CM maharashtra    उद्धव ठाकरे    शिवसेना    महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव    संजय राउत    महाराष्ट्र की नई सरकार    संजय साउत का ट्वीट    भाजपा पर निशाना    नई सरकार का गठन    bhagat singh khosiyari    nitin gadkari    नितिन गडकरी    संघ प्रमुख    मोहन भागवत    नया गठबंधन    शिवसेना कांग्रेस एनसीपी गठबंधन    बाहर से समर्थन   

Todays Beets: