Saturday, January 16, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

राजस्थान भाजपा के वरिष्ठ नेता दिल्ली तलब , बैठक में वसुंधरा राजे को नहीं बुलाया , बड़ी रणनीति के संकेत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राजस्थान भाजपा के वरिष्ठ नेता दिल्ली तलब , बैठक में वसुंधरा राजे को नहीं बुलाया , बड़ी रणनीति के संकेत

नई दिल्ली । भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शुक्रवार को राजस्थान भाजपा के नेताओं को दिल्ली बुलाया है । हालांकि इस सबके बीच राजस्थान में सियासी चर्चाओं का दौर तेज हो गया है, क्योंकि नड्डा से मिलने के लिए राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौर दिल्ली पहुंच गए हैं , लेकिन इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे दिल्ली नहीं आई हैं । 

खबर है कि इस बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को नहीं बुलाया गया है । एकाएक भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा बुलाई गई इस बैठक के बाद अब कयास लगाए जा रहे हैं कि एक बार फिर से राजस्थान की सरकार पर संकट के बादल छा सकते हैं । असल में पिछली बार जब भाजपा के नेता दिल्ली नड्डा से मिलने आए थे तो उसके बाद ही राजस्थान में कांग्रेस के भीतर विरोध के स्वर सामने आए थे । 

राजनीति से जुड़े लोगों के बीच इस समय सुगबुगाहट तेज हो गई है कि आखिर जेपी नड्डा ने राजस्थान के इन तीनों बड़े नेताओं को दिल्ली क्यों बुलाया है? ऐसी संभावना है कि इस बैठक के बाद राजस्थान में भाजपा की रणनीति में कोई अहम बदलाव देखा जा सकता है । हालांकि प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि ये सामान्य बैठक है । 


उन्होंने कहा-  राजस्थान में विधानसभा के तीन उप चुनाव होने हैं, इसके अलावा निकायों के चुनाव होने हैं, इसकी तैयारियों के सिलसिले में यह बैठक बुलायी गई है । 

बहरहाल , इस सारे मामले में यह बात को साफ हो गई है कि अब राजस्थान में वसुंधरा का दौर खत्म हो गया है । असल में हाल में वसुंधरा राजे के विरोधी नेता घनश्याम तिवाड़ी की बीजेपी में वापसी हुई थी । 

 

Todays Beets: