Monday, March 30, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

सपा का आरोप - भाजपा करवाना चाहती है अखिलेश यादव की हत्या , महिला सम्मेलन में घुस आया था युवक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सपा का आरोप - भाजपा करवाना चाहती है अखिलेश यादव की हत्या , महिला सम्मेलन में घुस आया था युवक

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को लेकर सपा ने भारतीय जनता पार्टी पर एक गंभीर आरोप लगाया है । सपा नेताओं का कहना है कि भाजपा अखिलेश यादव की हत्या करवाना चाहती है । खुद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कन्नौज में आयोजित एक महिला सम्मेलन में एक युवक के घुसने और जयश्रीराम के नारे लगाने के साथ ही , पत्रकार वार्ता में एक LIU इंस्पेक्टर के पत्रकार बनकर पहुंचने पर सवाल उठाए थे। अखिलेश यादव का कहना है कि सरकार ऐसे लोगों का समर्थन कर रही है, जिससे साफ हो रहा है कि उनकी मंशा क्या है । 

बता दें कि शनिवार को कन्नौज में अखिलेश यादव ने महिला कार्यकर्ताओं का एक सम्मेलन बुलाया था , जिसमें उन्होंने अपनी सरकार के कार्यकाल के दौरान किए गए कार्यों पर चर्चा की । इस दौरान एक युवक सम्मेलन में जबरन घुस आया और अखिलेश से बेरोजगारों के लिए क्या किया? जैसे सवाल पूछने लगा । उसके इस दौरान जयश्रीराम के नारे लगाने और हंगमा करने पर सपा कार्यकर्ताओं ने उसकी जमकर पिटाई करते हुए उसे पुलिस को सौंप दिया । 

इस घटना के बाद अखिलेश ने कहा था कि दो दिन पहले ही उन्हें फोन पर जान से मारने की धमकी मिली थी । ऐसे में संभव है कि भाजपा के किसी नेता ने ही इस युवक को सभा में भेजा हो ।  


उन्होंने कहा कि आखिल कन्नौज की सभा में भाजपा का यह कार्यकर्ता अवैध तरीके से कैसे पहुंच गया । इतना ही नहीं सपा की प्रेस वार्ता में एलआईयू का इंस्पेक्टर पत्रकार बनकर पहुंचा तो हंगामा खड़ा हो गया । 

इस सब पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपनी जान को खतरा होने की बात कही । ऐसे में सुरक्षा में चूक से नाराज अखिलेश ने मौके पर तालाग्राम थाना प्रभारी को जमकर फटकार लगाई । 

Todays Beets: