Friday, February 26, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

यूपी पुलिस ने कासगंज कांड में आरोपी के भाई को मुठभेड़ में ढेर किया , आरोपी के लिए दबिश जारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपी पुलिस ने कासगंज कांड में आरोपी के भाई को मुठभेड़ में ढेर किया , आरोपी के लिए दबिश जारी

लखनऊ । यूपी के कासगंज में एक बार फिर से दबंगों द्वारा पुलिस टीम पर हमला करने और जमकर पीटने की घटना सामने आई है , जिसमें जहां शऱाब माफियाओं ने न केवल पीट पीटकर एक सिपाही देवेंद्र की हत्या कर दी , बल्कि दारोगा अशोक की भी जमकर पिटाई की और उसकी वर्दी तक फाड दी । इस घटना के बाद पुलिस टीम ने पलटवार करते हुए मुख्य आरोपी मोती धीमर के भाई एलकार को मुठभेड़ मे ढेर कर दिया है । उसके ऊपर भी 4 मुकदमें चल रहे थे । वहीं योगी सरकार ने इस घटना में शहीद हुए पुलिसकर्मी के परिजनों को 50 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है । वहीं मोती धीमर की धरपकड़ के लिए दबिश दी जा रही हैं । यूपी सरकार ने सभी आरोपियों को पर एनएसए लगाने के निर्देश दिए हैं ।  

विदित हो कि उत्तर प्रदेश के कासगंज में एक बार फिर पुलिस को बदमाशों ने अपना शिकार बनाया है । शराब माफियाओं ने बीते दिन कासगंज के नगला धीमर गांव में एक पुलिस टीम पर उस समय हमला कर दिया , जब दारोगा अशोक एक सिपाही देवेंद्र के साथ कासगंज के सिढ़पुरा क्षेत्र में नगला धीमर में अवैध शराब का कारोबार बंद करवाने के लिए गए थे । इस दौरान बदमाशों ने दोनों पुलिसकर्मियों को बंधक बना लिया और दोनों की जमकर पिटाई की । इस दौरान सिर पर गंभीर चोट लगने से जहां सिपाही की मौत हो गई , वहीं दरोगा को भी जमकर पीटा । 


काफी देर तक थाने नहीं लौटने पर जब पुलिस टीम ने दारोगा और सिपाही की खोज की तो दोनों सुनसान इलाके में पड़े मिले , जिसमें सिपाही मृत अवस्था में था , जबकि दारोगा बहुत बुरी तरह से घायल थे और बोल पाने की हालत में भी नहीं थे । बदमाशों ने उन्हें इतना मारा था कि उनके शरीर पर कई घाव थे । इतना ही नहीं बदमाशों ने उनके शरीर से वर्दी तक पूरी तरह फाड़ डाली थी । 

इस घटना के बाद पुलिस की टीम हमलावर बदमाशों की छानबीन में जुटी , इस दौरान पुलिस और आरोपी बदमाशों के बीच सिढ़पुरा थाना क्षेत्र के नगला धीमर के निकट काली नदी के किनारे यह मुठभेड़ हुई । इस दौरान हुए एनकाउंटर में पुलिस वालों ने एक शख्स को मार गिराया , जबकि उसके साथी भाग गए । मारे गए शख्स की पहचान मोती धीमर के भाई एलकार के रूप में हुई । एलकार पर भी हत्या के 4 मामले दर्ज हैं ।  

Todays Beets: