Monday, February 24, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

सिंधिया ने दी MP के CM कमलनाथ को चेतावनी , कहा - अगर सरकार के वादे पूरे न हुए तो साथ विरोध करने उतरूंगा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सिंधिया ने दी MP के CM कमलनाथ को चेतावनी , कहा - अगर सरकार के वादे पूरे न हुए तो साथ विरोध करने उतरूंगा

भोपाल । मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है । एक समय कांग्रेस की सरकार बनने पर सीएम पद के दावेदार रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पार्टी महासचिव रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया अब अपनी ही कमलनाथ सरकार के खिलाफ बागी अंदाज में नजर आ रहे हैं ।  सिंधिया ने कमलनाथ सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार घोषणापत्र को पूरी तरह लागू नहीं करती है तो वह सड़क पर उतरेंगे ।  एक सभा के दौरान उन्होंने कहा 'घोषणापत्र का एक-एक अंश पूरा होगा और अगर ऐसा नहीं हुआ तो आपके साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया भी सड़क पर उतरेगा। यह पहला मौका नहीं है जब सिंधिया अपनी ही पार्टी के खिलाफ बागी तेवर में नजर आए हों ।

बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने टीकमगढ़ जिले में कुडीला गांव में आयोजित एक जनसभा में कहा - राज्य में कमलनाथ सरकार बने हुए एक साल हो गया है । थोड़ा इंतजार किजिए , आपकी बारी आएगी और अगर आपकी बारी नहीं आयी तो मैं आपकी ढाल भी बनूंगा और तलवार भी । वह बोले - मेरे अतिथि शिक्षकों को मैं कहना चाहता हूं,  आपकी मांग मैंने चुनाव के पहले भी सुनी थीं।  मैंने आपकी आवाज उठाई थी और ये विश्वास मैं आपको दिलाना चाहता हूं कि आपकी मांग जो हमारी सरकार के घोषणापत्र में अंकित है वो घोषणापत्र हमारे लिए हमारा ग्रंथ है । 


वह बोले - अगर उस घोषणापत्र का एक-एक अंग पूरा न हुआ तो अपने को सड़क पर अकेले मत समझना । आपके साथ सड़क पर ज्योतिरादित्य सिंधिया भी उतरेगा । 

विदित हो कि सिंधिया ने मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार के खिलाफ इस तरह की तल्ख टिप्पणी पहली बार नहीं की है । अब से पहले भी वह अपनी ही सरकार को कई बार आड़े हाथ ले चुके हैं । पिछले साल सार्वजनिक सभाओं में सिंधिया कर्जमाफी और बाढ़ राहत सर्वे को लेकर सवाल उठा चुके हैं । पिछले दिनों दिल्ली विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को मिली प्रचंड हार पर उन्होंने कहा था कि यह पराजय दुर्भाग्यपूर्ण है । देश बदल रहा है इसी तरह लोगों की सोच भी बदल रही है । हमें (कांग्रेस) बदलना होगा और लोगों के बीच नए दृष्टिकोण के साथ पहुंचना होगा ।  

Todays Beets: