Sunday, June 7, 2020

Breaking News

   उत्तराखंड: कोरोना के 46 नए मामले, कुल पॉजिटिव केस हुए 1199     ||   माले: ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत आईएनएस जलश्व से मालदीव में फंसे 700 भारतीय लाए जा रहे वापस     ||   बिहार: ADG लॉ एंड ऑर्डर ने जताई आशंका, प्रवासियों के आने से बढ़ सकता है अपराध     ||   दिल्ली: बीजेपी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने संभाला अपना पदभार     ||   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||

जुए की लत ने पैरा कमांडो को बनाया बैंक लूटेरा , पुलिस ने दिल्ली एयरपोर्ट से दबोचा , कई बड़े खुलासे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जुए की लत ने पैरा कमांडो को बनाया बैंक लूटेरा , पुलिस ने दिल्ली एयरपोर्ट से दबोचा , कई बड़े खुलासे

नई दिल्ली/ गुरुग्राम  । हरियाणा पुलिस ने दिल्ली एयरपोर्ट से एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है , जो पेशे से था तो एक पैरा कमांडो लेकिन जुए की लत ने उसे आज सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है । पुलिस की अपराध शाखा ने हरियाणा के चरखी दादरी निवासी अनिक को दबोचा है, जिसपर 20 से ज्यादा बैंकों में चोरी - डकैती की वारदातों को अंजाम देने का आरोप है । पुलिस का कहना है कि चोरी डकैती की वारदातों को अंजाम देने वाला यह कोई पेशेवर चोर न होकर सेना का एक जवान था लेकिन जुए की बुरी लत के चलते वह यह सब करने लगा । खास बात यह है कि अनिल न केवल एक साधारण जवान था बल्कि उसने सेना के पैरा कमांडों का प्रशिक्षण भी लिया हुआ है । 

एसीपी क्राइम ब्रांच ने अनिल के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि  हरियाणा के चरखी दादरी का रहने वाले अनिल को फौज में जुआ खेलने की लत लग गई । जुए में काफी रकम हारने के चलते यह छुट्टी पर आया और वापस नहीं लौटा । ऐसे में वर्ष  2008 में फौज ने इसे भगोड़ा घोषित कर दिया । इसके बाद यह अपने गांव वापस आ गया लेकिन गांव पहुंचने पर एक बार फिर से इसने जुआ खेलना शुरू कर दिया और एक बार फिर से इस पर काफी कर्ज चढ़ गया । 

अपने कर्ज को उतारने के लिए यह अपराध की दुनिया में आ गया और बैंकों में चोरी डकैती करने लगा । इसके बाद अनिल को लोग अनिल फौजी के नाम से जानने लगे और उसने एक गिरोह बना लिया । इसके बाद जुए की लत के चलते सेना से पैरा कमांडो की ट्रैनिंग लिया एक जवान 38 साल की उम्र में बैंकों में चोरी और डकैती करने वालों का सरगना बन गया । 


पुलिस का कहना है कि गुरुग्राम के बादशाहपुर, पटौदी और वजीरपुर जैसे इलाकों में भी अनिल के गिरोह ने लाखों की चोरी की वारदातों को अंजाम दिया । हालांकि पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उसके तीन गुर्गों को दबोच लिया था , जिसके बाद उसके नाम का खुलासा हुआ । इस सब के बावजूद अनिल पुलिस से बचता फिर रहा था । गत 28 फरवरी को एक मुखबिर की सूचना के आधार पर अनिल को दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया गया । 

पुलिस की पूछताछ में अनिल फौजी ने कई वारदातों को अंजाम देने की बात स्वीकार की हैं ।  सामने आया है कि अनिल पहले भी एक बार चोरी के मामले में जेल की हवा खा चुका है लेकिन जेल से बाहर आने के बाद वह फिर से बड़ा गिरोह बनाकर वारदातों को अंजाम देने लगा था ।

Todays Beets: