Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

मायावती ने अपने करीबी नेता को पार्टी से निलंबित किया , भाजपा उम्मीदवारों का समर्थन करने का लगा आरोप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मायावती ने अपने करीबी नेता को पार्टी से निलंबित किया , भाजपा उम्मीदवारों का समर्थन करने का लगा आरोप

लखनऊ ।राज्य के पूर्व मंत्री और बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती के करीबी नेता रामवीर उपाध्याय को पार्टी से निलंबित कर दिया गया है । पार्टी ने उनके खिलाफ यह कार्रवाई लोकसभा चुनाव के दौरान अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने के चलते की है। बसपा के राष्ट्रीय महासचिव मेवालाल गौतम ने यह कार्रवाई की है । रामबीर उपाध्याय पर आम चुनावों में आगरा, फतेहपुर सीकरी, अलीगढ़ समेत कई सीटों पर पार्टी प्रत्याशी का विरोध करने के आरोल गए हैं । पार्टी ने साफ किया है कि अब वह बसपा के किसी भी कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे ।

आय से अधिक संपत्ति के मामले में मुलायम-अखिलेश यादव को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत

बसपा के राष्ट्रीय महासचिव ने इस बाबत एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की है, जिसमें कहा गया है कि रामवीर उपाध्याय ने न केवल लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल हुए, बल्कि चेतावनी के बाद भी उन्होंने लोकसभा चुनाव में आगरा, फतेहपुर सीकरी, अलीगढ़ समेत कई सीटों पर पार्टी प्रत्याशी का खुलकर विरोध किया और विरोधी पार्टियों के प्रत्याशियों का समर्थन किया। ऐसे में पार्टी उन्हें पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने के चलते निलंबित करती है । इतना ही नहीं उन्हें मुख्य सचेतक के पद से भी हटाती है , अब उन्हें पार्टी के किसी कार्यक्रम में भी नहीं बुलाया जाएगा।

विपक्षी दलों का नया आरोप - हैकिंग नहीं अब हो रही EVM की अदला-बदली , महबूता मुफ्ती बोलीं- दूसरे बालाकोट की तैयारी


विदित हो कि बसपा ने पूर्व मंत्री रामवीर उपाध्याय की पत्नी सीमा उपाध्याय को फतेहपुर सिकरी से प्रत्याशी बनाया था, लेकिन उन्होंने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया । इसके बाद रामवीर उपाध्याय अलीगढ़ में भाजपा प्रत्याशी सतीश गौतम के चुनाव प्रचार और आगरा से भाजपा प्रत्याशी एसपी बघेल के साथ भी दिखे । उन पर आरोप लगे हैं कि उन्होंने सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवारों के बचाए भाजपा के उम्मीदवारों के लिए चुनाव मांगे ।

 

 

 

Todays Beets: