Thursday, April 2, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

कोर्ट ने Delhi Police को झटकते हुए पूछा - आप ऐसे बर्ताव कर रहे हैं, जैसे जामा मस्जिद पाकिस्‍तान में हैं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कोर्ट ने Delhi Police को झटकते हुए पूछा - आप ऐसे बर्ताव कर रहे हैं, जैसे जामा मस्जिद पाकिस्‍तान में हैं

नई दिल्‍ली । नागरिकता संशोधन कानून (CAA ) और NRC के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए दिल्ली आए भीम आर्मी (Bhim Army) के चीफ चंद्रशेखर आजाद को पिछले दिनों पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था । अब तीस हजारी कोर्ट ने Chandra Shekhar Azad की जमानत याचिका पर ने दिल्ली पुलिस से सवाल पूछते हुए कहा कि आप ऐसे बर्ताव कर रहे हैं, जैसे जामा मस्जिद पाकिस्तान (Pakistan) हो और आप पाकिस्तान में है । कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से सवाल किया कि क्या आपत्तिजनक बयान दिए गए है? इस मामले में कानून क्या कहता है... आपने अब तक क्या कारवाई की है? 

बता दें कि पिछले दिनों जामा मस्जिद के बाहर सीएए के विरोध के साथ ही  दरियागंज इलाके में हुई हिंसा-आगजनी मामले में भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था । अब उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से सवाल पूछे हैं । कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को आड़े हाथों लेते हुए पूछा कि आप ऐसा बर्ताव क्यों कर रहे हैं । जैसे जामा मस्जिद पाकिस्तान में हो । 


इस दौरान सरकारी वकील ने कोर्ट से कहा कि मैं आपको नियम दिखाना चाहता हूं, जो धार्मिक संस्थानों के बाहर प्रदर्शन पर रोक की बात करता है । इस पर जज ने दिल्ली पुलिस से कहा कि क्या आपको लगता है कि हमारी दिल्ली पुलिस इतनी पिछड़ी हुई है कि उनके पास कोई रिकॉर्ड नहीं है? छोटे मामलों में दिल्ली पुलिस ने सबूत दर्ज किए हैं कि इस घटना में क्यों नहीं?

बहरहाल , अभी इस मामले में सुनवाई जारी है ।  

Todays Beets: