Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

अदालत में अपने बयान से पलटने वाले गवाह को झेलना होगा मुकदमा 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अदालत में अपने बयान से पलटने वाले गवाह को झेलना होगा मुकदमा 

नई दिल्ली । किसी आपराधिक वारदात का चश्मदीद पुलिस को जो बयान दे और बाद में कोर्ट में अपने बयान से पलटे तो उसे परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे ही एक मामले में दिल्ली की साकेत स्थित अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश आरके सिंह ने वारदात का चश्मदीद गवाह होने के बावजूद अपने बयान से पलटने पर उस नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने उसे भेज नोटिस में पूछा है कि क्यों ने उसेके बयान से पलटने के चलते उसके खिलाफ मुकदमा चलाया जाए। हालांकि न्यायाधीश ने लूट व हत्या से जुड़े एक मामले में  (जिसमें गवाह चश्मदीद था) दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई है। 

वारदात देख लोग अनदेखा कर देते हैं

कोर्ट ने लूट का विरोध करने पर एक व्यक्ति की हत्या किए जाने के मामले में सुनवाई करते हुए कहा- मौजूदा समय में लोग अपराध होता देखते रहते हैं। वह घटना को अनदेखा कर देते हैं, जबकि वह एकजुट हो जाएं तो अपराधियों के हौसले पस्त हो जाएं। अगर जनता इन अपराधियों के खिलाफ खड़ी होती तो ही अपराध को कम किया जा सकता है। इसके साथ ही कोर्ट ने लूट-हत्या के इस मामले के चश्मदीद गवाह रहे संदीप को सीआरपीसी की धारा 344 के तहत नोटिस जारी किया है।


पार्क में लूट-हत्या की वारदात 

असल में कोर्ट ने जिस मुकदमे को लेकर यह बयान दिए हैं, वह मामला लूट और उसके बाद व्यक्ति की हत्या से जुड़ा है। घटना 17 जनवरी 2017 की है। दिल्ली के अंबेडकर नगर थानाक्षेत्र के दक्षिणपुरी स्थित एक पार्क में तीन लोगों ने सुरेश नाम के व्यक्ति से लूट का प्रयास किया। लूटेरे में से एक नाबालिग था। इन तीनों ने सुरेश द्वारा लूट का विरोध करने पर उसकी चाकू से गोदकर हत्या कर दी थी। इस मामले मे संदीप एक चश्मदीद गवाह था साथ ही आरोपियों के पार्क में घुसने और भागने की तस्वीर एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी, जिसके आधार पर वह पकड़े गए थे। 

Todays Beets: