Thursday, July 18, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

गुवाहटी के विश्वप्रसिद्ध कामाख्या मंदिर परिसर में सिर कटी लाश मिली , नर बलि की आशंका

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गुवाहटी के विश्वप्रसिद्ध कामाख्या मंदिर परिसर में सिर कटी लाश मिली , नर बलि की आशंका

गुवाहाटी । असम की राजधानी गुवाहाटी स्थित विश्वप्रसिद्ध शक्ति पीठ कामाख्या मंदिर परिसर के पास नवदुर्गा मंदिर की सीढ़ियों पर गुरुवार तड़के एक महिला की सिर कटी लाश बरामद की गई है । इस घटना के बाद वहा अफरातफरी फैल गई । घटना की सूचना मिलने पर आला अधिकारी मौके पर पहुंचे । घटनास्थल का मुआयना करने के बाद पुलिस ने बताया की लाश के पास से पूजन सामग्री भी बरामद हुई हैं । ऐसे में नर बलि की आशंका जताई जा रही है, फिलहाल पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं ।

बता दें कि कामाख्या मंदिर में आगामी 22 जून से सुप्रसिद्ध अम्बुवासी मेले की तैयारियां की जा रही है । स्थानीय प्रशासन इस मेले की सुरक्षा और व्यवस्था में जुटा हुआ है । सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। इन सब तैयारियों के बीच मंदिर परिसर के पास मिली सिर कटी लाश मिली है । शव की शिनाख्त नहीं हो पाई है । नीलांचल पहाड़ स्तिथ कामाख्या धाम क्षेत्र में रहने वाले लोगों ने संदेह जताया हैं की ये नर बलि की घटना हो सकती हैं ।

बता दें की हिन्दुओं के 51 शक्ति पीठों में से एक कामरूप कामाख्या मंदिर विशेष रूप से तंत्र साधना के लिए जाना जाता हैं । मान्यता हैं कि तांत्रिकों को तंत्र मन्त्र की सिद्धि कामाख्या धाम में पूजा अर्चना और भैंस ,बकरी की बलि देने के बाद ही पूर्ण होती है । हालांकि पुलिस इस मामले को नर बलि से जोड़कर नहीं देख रही है । पुलिस इस मामले में कुछ भी कहने से बच रही है । मंदिर परिसर में अम्बुवासी मेले के निगरानी में लगे 300 सीसीटीवी कैमरें की फुटेज खंगालने की बात कही हैं ।


 

 

Todays Beets: