Thursday, February 25, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

दिल्ली में कोरोना LIVE - केजरीवाल सरकार ने 24 घंटे में बाजार बंद करने का आदेश पलटा , SC ने 3 दिन में जवाब मांगा 

अंग्वाल न्यूज डेस्क

दिल्ली में कोरोना LIVE - केजरीवाल सरकार ने 24 घंटे में बाजार बंद करने का आदेश पलटा , SC ने 3 दिन में जवाब मांगा 

नई दिल्ली । देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने जहां दिल्ली सरकार से जवाब तलब करते हुए तीन दिन में रिपोर्ट मांगी है , वहीं कोर्ट का कहना है कि दिल्ली में कोरोना को काबू में लाने के लिए एक्शन की जरूरत है । इससे उलट दिल्ली सरकार ने 24 घंटे बाद ही अपना फैसला पलट दिया है और दिल्ली के 2 बाजारों को बंद करने का आदेश वापस ले लिया है । मिली जानकारी के अनुसार , दिल्ली के पंजाबी बाग और नागलोई में दुकानदारों को नियमों का पालन करने की हिदायत देने के बाद इन बाजारों को बंद करने का आदेश वापस लिया गया है । 

दिल्ली को देना होगा हलफनामा

बता दें कि पिछले कुछ दिनों में दिल्ली में कोरोना के संक्रमण में तेजी आई है । पिछले 6 दिनों में करीब 630 लोगों की मौत कोरोना के कारण हो गई है । इसी मसले पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई । सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि पिछले कुछ वक्त में दिल्ली में कोरोना के कारण हालात बिगड़े हैं, ऐसे में सरकार ने क्या व्यवस्था की है उस पर विस्तार से हलफनामा दे । कोर्ट ने  दिल्ली सरकार को तीन दिन का वक्त दिया गया है और पूरी रिपोर्ट देने को कहा गया है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली के साथ मुंबई सरकार को भी स्टेटस रिपोर्ट देने के लिए कहा है । 

दिल्ली सरकार को काम करने की जरूत

जस्टिस अशोक भूषण ने कहा कि दिल्ली में हालात बदतर हो चुके हैं।  इस पर सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि ये सिर्फ केंद्र-दिल्ली का मसला नहीं है । 15 नवंबर को केंद्र की ओर से गृह मंत्री ने कुछ निर्देश दिए हैं, लेकिन दिल्ली सरकार को अभी काम करने की जरूरत है । अदालत ने कहा है कि अगर राज्यों ने अभी से ही पर्याप्त कदम नहीं उठाए तो दिसंबर में स्थिति अधिक बिगड़ सकती है ।

इस मामले को लेकर थी सुनवाई


बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को कोरोना के चलते हुई मौत के बाद सम्मान के साथ अंतिम संस्कार करने के मसले को लेकर दायर एक याचिका पर सुनवाई हुई । इसी दौरान अदालत ने कोरोना की स्थिति को लेकर चिंता जाहिर की, अदालत ने पूछा कि मुख्य मुद्दा ये है कि इस वक्त अस्पतालों की स्थिति क्या है?

दिल्ली सरकार ने पलटा आदेश

जहां कोर्ट ने दिल्ली सरकार को एक्शन में आने के निर्देश दिए , वहीं दिल्ली सरकार ने सख्ती बरतते हुए हाल में दिल्ली के दो बाजारों को बंद करने के अपने आदेश को पलट दिया है । असल में कोरोना से बचाव की गाइडलाइन का पालन नहीं करने के चलते केजरीवाल सरकार ने  नांगलोई में पंजाबी बस्ती मार्केट और जनता मार्केट को बंद करने का आदेश दिया था, लेकिन 24 घंटे के अंदर ही फैसला वापस ले लिया गया है । बताया जा रहा है कि दुकानदारों को नियमों का पालन करने की हिदायत देने के बाद आदेश वापस लिया गया है । 

रेहड़ी-पटरी वालों के चलते भीड़ - प्रशासन 

इस पूरे मामले में पश्चिमी दिल्ली जिला प्रशासन का कहना है कि इलाके में रेहड़ी पटरी वालों के चलते भीड़ हो रही थी , इसलिए इन रेहड़ी वालों को हटा दिया गया है । इसके साथ ही दुकानदारों को हिदायत दी गई है कि वह अपने यहां मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कराएंगे । 

 

Todays Beets: