Friday, August 23, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

मेरठ में एक अफवाह ने उजाड़ दिए 100 घर , हिंसा पर उतारु लोगों का हाईवे पर उत्पात, रोडवेज की बसों -वाहनों में तोड़फोड़

अंग्वाल संवाददाता
मेरठ में एक अफवाह ने उजाड़ दिए 100 घर , हिंसा पर उतारु लोगों का हाईवे पर उत्पात, रोडवेज की बसों -वाहनों में तोड़फोड़

मेरठ । यूपी के मेरठ स्थित सदर में मलिन बस्ती में अवैध निर्माण को ढहाने पहुंची कैंट बोर्ड की टीम को लेकर फैली एक अफवाह ने शहर में हालात तनावपूर्ण कर दिए हैं। खबर फैली की पुलिस की टीम अवैध वसूली के लिए पहुंची है, जिसके बाद कैंट बोर्ड के कर्मियों और पुलिस के जवानों की स्थानीय लोगों के साथ झड़प हो गई। कुछ देर बाद वहां लोगों ने पुलिस दल पर पथराव कर दिया। इस दौरान कुछ शरारती तत्वों ने इलाके की कुछ कच्चे घरों में आग लगा दी। यह आग इस कदर फैली की करीब 100 कच्चे घरों को पूरी तरह स्वाहा कर गई। इसके बाद गुस्साए लोगों ने हाईवे पर पहुंचकर वहां रोडवेज की गाड़ियों समेत कुछ अन्य वाहनों में जमकर तोड़फोड़ की। इसके चलते इलाके में तनाव फैल गया है। पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

बता दें कि मेरठ कैंट के थाना सदर इलाके की मलिन बस्ती में कैंट बोर्ड की टीम पुलिस के साथ अवैध निर्माण हटवाने गई थी। तभी ये बात फैल गई कि बोर्ड और पुलिस की टीम अवैध वसूली के मकसद से पहुंची है। इसके बाद कुछ लोग जहां इस टीम से भिड़ गई, वहीं कुछ लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने ऐसे हालात में लाठाचीर्ज कर दिया। हालांकि इस दौरान कुछ शरारती तत्वों ने कुछ घरों में आग लगा दी, जबकि स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस वालों ने ही घरों में आग लगाई है। इन झुग्गियों और कच्चे मकानों में मौजूद सिलेंडरों ने आग को भड़काने का काम किया। आलम ये हो गया कि करीब 100 से ज्यादा घरों को यह आग तबाह कर गई।


फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियों ने इस आग पर घंटों की मशक्कत के बाद काबू पाया, लेकिन तब तक लोगों के घर का सामान पूरी तरह स्वाहा हो गया था।

उधर, इस घटना से गुस्साए लोगों ने मेरठ हाईवे पर जाकर रोडवेज की बसों समेत सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाना शुरू कर दिया । इन लोगों ने सड़क पर जाम लगाते हुए जमकर उत्पाद मचाया। मामले की गम्भीरता को देखते हुए आस-पास के इलाकों से पुलिस बल को बुला कर तैनात कर दिया गया। इतना ही नहीं मौके पर एनडीआरएफ की टीम भी पहुंच गई।

इस दौरान खबर है कि इस हंगामे में जहा पुलिस समेत कई स्थानीय लोग घायल हुए हैं, वहीं पुलिसवालों के हथियार और वायरलेस भी छीन लिए।

 

Todays Beets: