Thursday, April 9, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

यूपी के जुमे की नमाज के चलते हाई अलर्ट , 22 जिलों में इंटेलीजेंस ब्यूरो भी सतर्क, बिजनौर में छतों से पत्थरों के बोरे मिले

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपी के जुमे की नमाज के चलते हाई अलर्ट , 22 जिलों में इंटेलीजेंस ब्यूरो भी सतर्क, बिजनौर में छतों से पत्थरों के बोरे मिले

लखनऊ । दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले में हुई हिंसा के बाद अब शुक्रवार को जुम्मे की नमाज से पहले यूपी के कईआ जिलों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है । जहां अलीगढ़ में इंटरनेट सेवा को कुछ समय के लिए ठप कर दिया गया है , वहीं पुलिस प्रशासन ने सतर्कता बढ़ा दी है । दिल्ली में फैली हिंसा की चिंगारी कहीं यूपी के शहरों को न भड़का दे , इसके लिए अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है । प्रदेश के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने एडीजी, आइजी व डीआइजी स्तर के कई अधिकारियों को अलग-अलग जिलों में शांति-व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं । डीजीपी से निर्देश मिलने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अपने अपने कार्यक्षेत्र के संवेदनशील स्थानों पर कैंप लगाने के साथ ही फ्लैग मार्च कर रहे हैं । इस सब के बीच बिजनौर के कुछ घरों की छतों पर पत्थरों के बोरे मिले हैं । 

एडीजी अविनाश चंद्र को अलीगढ़, एडीजी प्रशांत कुमार को मेरठ, आइजी प्रवीण कुमार त्रिपाठी को गाजियाबाद, आइजी रमित शर्मा को संभल, आइजी ज्योति नारायण को बुलंदशहर और हापुड़, आइजी लक्ष्मी सिंह को मुजफ्फरनगर और डीआइजी जे. रविंद्र गौड को बिजनौर जिले की मॉनीटरिंग की जिम्मेदारी सौंपी है। विदित हो कि यूपी के कई जिलों ने बीते साल 20 दिसंबर को नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हिंसा और आगजनी हुई थी, जिसमें 19 लोगों की मौत हो गई थी । इस सब के बाद एक बार फिर से हिंसा न भड़के इसके मद्देनजर यूपी रे गाजियाबाद, नोएडा, बागपत और बुलंदशहर के अलावा लखनऊ, आगरा, मथुरा, अलीगढ़, रामपुर, मेरठ, मुजफ्फरनगर, आजमगढ़, मऊ, कानपुर नगर, संभल, बरेली समेत 22 से अधिक जिलों में इंटेलीजेंस ब्यूरो भी सतर्क है। 


बता दें कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में शुक्रवार सुबह तक मरने वाली की संख्या 39 तक पहुंच गई है । स्थानीय लोगों का कहना है कि हिंसा करने वाले बाहर से आए थे और उन्होंने बड़ी संख्या में हथियारों का इस्तेमाल किया । दिल्ली का सौहार्द बिगाड़ने के बाद अब आशंका जताई जा रही है कि इस हिंसा की चिंगारी को यूपी में भड़काने की भी साजिश है । इस सब के मद्देनजर पुलिस प्रशासन अलर्ट पर है । कई शहरों में शुक्रवार को जुम्मे की नमाज के चलते अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है । 

इतना ही नहीं सोशल मीडिया पर कड़ी नजर रखी जा रही है । लोगों द्वारा आपत्तिजनक पोस्टों और वायरल संदेशों पर कड़ी नजर रखी जा रही है । ऐसे पोस्ट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश भी पुलिस की साइबर सेल को दिया गया है ।

Todays Beets: