Monday, August 26, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

पाकिस्तान से मैच के दौरान याद आता है भारत देश , रोजमर्रा के काम में देश याद नहीं रहता - अरविंद केजरीवाल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पाकिस्तान से मैच के दौरान याद आता है भारत देश , रोजमर्रा के काम में देश याद नहीं रहता - अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली । देश में गुरुवार को 73वां स्वतंत्रता दिवस बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा है । इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने परेड की सलामी ली । इतना ही नहीं उन्होंने इस मौके पर कहा कि रोजमर्रा के काम में हमें देश याद नहीं रहता । जब भारत-पाकिस्तान का मैच होता है तब देश की याद आती है । हमारे स्कूलों में सभी सब्जेक्ट पढ़ाया जाता है लेकिन देशभक्ति का जज्बा नहीं पढ़ाया जाता । सभी स्कूलों में देश भक्ति का पाठ्यक्रम होगा । इसी क्रम में उन्होंने महिलाओं के लिए मुफ्त बस यात्रा का भी ऐलान किया । केजरीवाल ने कहा कि 29 अक्टूबर से दिल्ली की सभी डीटीसी और क्लस्टर बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा की व्यवस्था शुरू की जाएगी. फ्री मेट्रो की तैयारियां की जा रही हैं । 

इस दौरान सीएम ने कहा कि आजादी के 72 साल बाद हम कल्पना भी नहीं कर सकते कि कितने बलिदान दिए गए हैं । बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने लंबा संघर्ष किया है। ऐसे में हमें रोजमर्रा के दिनों में देश याद नहीं रहता । देश की याद तब आती है जब भारत और पाकिस्तान के बीच मैच खेला जा रहा होता है । यहां तक कि स्कूलों में सभी सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं लेकिन देशभक्ति का जज्बा नहीं पढ़ाया जाता। पिछले चार साल से देश भावना बढ़ाने के लिए हम प्रयासरत हैं । हमें बच्चों में देश भक्ति का जज्बा भरना है । देशभक्ति पाठ्यक्र में लक्ष्यों में बच्चों को देशभक्ति भी सिखाना है। उन्हें देश पर गर्व करना सिखाना है । देश की ऑनरशिप बच्चों को सौंपनी है ।  देश और परिवार के बीच हमें देश को तरजीह देनी चाहिए। अगले साल से यह पाठ्यक्रम सिखाया जाएगा ।


केजरीवाल बोले - दिल्ली में शिक्षा क्रांति हुई है, यह अपने आप में ऐतिहासिक है । दिल्ली में 3 चीजें हासिल की गई हैं । सरकारी स्कूलों का इन्फ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट स्कूलों से बेहतर है ।  क्लास रूम, स्विमिंग पूल और प्ले ग्राउंड सरकारी स्कूलों में भी बनाए गए हैं । सरकारी स्कूलों के नतीजे प्राइवेट स्कूलों से बेहतर आए हैं । शिक्षा में लोगों का विश्वास पैदा हुआ है। विद्यार्थी भी आत्मविश्वास से लबरेज हैं । 

Todays Beets: