Sunday, October 20, 2019

Breaking News

   दिल्ली में भी भोपाल जैसा हनी ट्रैप , कई रईसजादों को विदेशी लड़कियों की मदद से फंसाया    ||   घाटी में घनघटाने लगीं मोबाइल फोन की घंटियां, इंटरनेट पर अभी भी प्रतिबंध    ||   इकबाल मिर्ची की इमारत में प्रफुल्ल पटेल का भी फ्लैट , ईडी ने भेजा समन    ||   रणवीर सिंह ने ठुकराया संजय लीला भंसाली की फिल्म का ऑफर , आलिया भट्ट हैं फिल्म की हिरोइन    ||   वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति ने भी माना- अर्थव्यवस्था की हालत खराब     ||   दिल्ली में डेंगू ने तोड़ा रिकॉर्ड, इस हफ्ते में 111 नए मामले आए सामने     ||   अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्ड्रिंग केस: 25 अक्टूबर तक बढ़ी रतुल पुरी की न्यायिक हिरासत     ||   तमिलनाडु: मसाले की फैक्ट्री में लगी आग, मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद     ||   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||

UP में बकाया बिजली बिल की वसूली के लिए अनोखा सरकारी आदेश , बिल बकाया है तो नहीं मिलेगी सरकारी सुविधाएं न राशन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
UP में बकाया बिजली बिल की वसूली के लिए अनोखा सरकारी आदेश , बिल बकाया है तो नहीं मिलेगी सरकारी सुविधाएं न राशन

लखनऊ । यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार में बैठे आला अधिकारी अब बिजली उपभोक्ताओं के बकाया बिजली के बिल की वसूली के लिए अनोखे आदेश जारी कर रहे हैं। इस कड़ी में जौनपुर और गोरखपुर जिला प्रशासन ने बिजली उपभोक्ताओं पर 700 करोड़ से अधिक के बकाए की वसूली के सख्त आदेश जारी किए हैं। इन आदेशों के अनुसार , अब 1 अक्टूबर से बिजली बिल भुगतान की रसीद दिखाने पर ही लोगों को सरकारी सुविधाओं का लाभ मिलेगा । इसके साथ ही राशन वालों को भी कह दिया गया है कि जो ग्राहण बिजली के बिल की अपडेटिड रसीद दिखाए उसे ही राशन दिया जाए । हालांकि प्रशासन के इस रुख पर सवाल उठने लगे हैं। 

मिली जानकारी के अनुसार , गत 18 सितंबर को डीएम जौनपुर ने एक जारी आदेश जारी कर कहा कि बिजली उपभोक्ता अपने बिजली के बिलों का भुगतान नहीं कर रहे हैं। ऐसे में अब 1 अक्तूबर से राज्य सरकार की ओर से संचालित जनसुविधा केंद्रों, तहसील, कलेक्ट्रेट और विभिन्न विभागों से आम जन को दी जाने वाली सेवाओं के लिए प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करते समय आवेदक को  विद्युत बिल भुगतान रसीद भी पेश करने होगी । इसके बाद ही इन लोगों को सुविधाओं का लाभ मिल पाएगा ।

असल में 1 अक्तूबर से बिजली का बिल नहीं भरने वालों को राजस्व विभाग से जाति, आय, अधिवास, हैसियत प्रमाफत्र, खतौनी की नकल नहीं मिलेगी । इसी क्रम में नगर विकास और पंचायती राज विभाग से जन्म और मृत्यु प्रमाणपत्र, कुटुंब रजिस्टर की नकल नहीं मिलेगी । वहीं  पासपोर्ट, पीएम आवास योजना, शस्त्र लाइसेंस, खनन के पट्टे, आबकारी लाइसेंस, वाहन रजिस्ट्रेशन जैसी सुविधाओं से भी इन लोगों को वंचित रहना होगा ।


विदित हो कि यूपी पॉवर कारपोरेशन लिमिटेड की ओर से लेटर ऑफ क्रेडिट के जरिए विद्युत उत्पादन निगम से बिजली की खरीद होती है , जिसके चलते विभाग के पास धनाभाव रहता है  और ऐसे में वह बिजली खरीदने में अक्षम होते हैं। इसी कारण अघोषित और आपातकालीन कटौती होती है ।  जौनपुर डीएम की देखादेखी अब गोरखपुर जिला प्रशासन  ने भी कुछ ऐसा ही आदेश निकाला है । 

 

Todays Beets: