Tuesday, November 12, 2019

Breaking News

   दिल्ली में भी भोपाल जैसा हनी ट्रैप , कई रईसजादों को विदेशी लड़कियों की मदद से फंसाया    ||   घाटी में घनघटाने लगीं मोबाइल फोन की घंटियां, इंटरनेट पर अभी भी प्रतिबंध    ||   इकबाल मिर्ची की इमारत में प्रफुल्ल पटेल का भी फ्लैट , ईडी ने भेजा समन    ||   रणवीर सिंह ने ठुकराया संजय लीला भंसाली की फिल्म का ऑफर , आलिया भट्ट हैं फिल्म की हिरोइन    ||   वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति ने भी माना- अर्थव्यवस्था की हालत खराब     ||   दिल्ली में डेंगू ने तोड़ा रिकॉर्ड, इस हफ्ते में 111 नए मामले आए सामने     ||   अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्ड्रिंग केस: 25 अक्टूबर तक बढ़ी रतुल पुरी की न्यायिक हिरासत     ||   तमिलनाडु: मसाले की फैक्ट्री में लगी आग, मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद     ||   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||

झारखंड में भाजपा ने कांग्रेस - JMM को दिया ''धोबी पछाड़' , चुनावों से ठीक पहले विपक्ष के 6 विधायक भाजपा में शामिल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
झारखंड में भाजपा ने कांग्रेस - JMM को दिया

रांची । झारखंड विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा को बुधवार एक बड़ा झटका लगा है । असल में विपक्ष के 6 विधायकों ने बुधवार को अपनी पार्टी से इस्तीफा देते हुए सीएम रघुवर दास की मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी का कमल थाम लिया है । इन्हें सदस्यता दिलाने के लिए भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में सुबह 11 बजे समारोह का आयोजन किया गया । भाजपा में शामिल होने वाले विधायकों में बहरागोड़ा से झामुमो के विधायक कुणाल षाडंगी, मांडू के विधायक जयप्रकाश भाई पटेल (झामुमो से निष्कासित), लोहरदगा के कांग्रेस विधायक सुखदेव भगत, बरही के कांग्रेस विधायक मनोज कुमार यादव और भवनाथपुर से नवजवान संघर्ष मोर्चा के विधायक भानु प्रताप शाही का नाम शामिल है।

Jharkhand Assembly Election 2019 विधानसभा चुनाव की आधिकारिक घोषणा से ठीक पहले विपक्षी दलों को करारा झटका दिया है । इस कड़ी में विपक्षी दलों के लगभग आधा दर्जन विधायकों ने प्रदेश भाजपा कार्यालय में भाजपा का दामन थाम लिया। इस समारोह में मुख्यमंत्री रघुवर दास , नंद किशोर यादव, लक्ष्‍मण गिलुवा के साथ तमाम दिग्‍गज नेता मौजूद रहे।


असल में  कांग्रेस और झामुमो के ये सभी विधायक कुछ समय से भाजपा के संपर्क में थे । हालांकि कांग्रेस ने अपने विधायकों को रोकने के लिए काफी दम लगाया लेकिन वह सफल साबित नहीं हुए । 

Todays Beets: