Monday, July 13, 2020

Breaking News

   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||   कानपुर गोलीकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, 31 जुलाई तक सौंपनी होगी रिपोर्ट     ||   धमकी देकर फरीदाबाद में रिश्तेदार के घर रुका था विकास, अमर दुबे से हुआ था झगड़ा     ||   राजस्थान: विधायकों को राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए सीमा पर बढ़ाई गई चौकसी     ||   हार्दिक पटेल गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त     ||   गुवाहाटी केंद्रीय जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता अखिल गोगोई समेत 33 कैदी कोरोना पॉजिटिव     ||   अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, नानावती अस्पताल में कराए गए भर्ती     ||   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||

शराब की बिक्री बंद होने से आबकारी विभाग के पास सैलरी देने का पैसा नहीं, मंत्री को पीएम से राहत की उम्मीद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शराब की बिक्री बंद होने से आबकारी विभाग के पास सैलरी देने का पैसा नहीं, मंत्री को पीएम से राहत की उम्मीद

बेंगलुरु । कोरोना महामारी के बीच देश में पिछले 35 दिनों से लॉकडाउन जारी है । देश का पूरी दुनिया इस समय ठहरी हुई है , जिसके चलते अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आर्थिक मंदी भी शुरू हो गई है । भारत भी इससे अछूता नहीं है । भारत में भी आर्थिक चुनौतियां सामने आने लगी हैं। देश में उद्योगों और मल्टीनेशनल कंपनियों ने इस मंदी के चलते अपने स्टाफ को निकालना शुरू कर दिया है । इस सबके बीच खबर कर्नाटक के आबकारी विभाग की सामने आई है , जहां हालात इस कदर खराब हो गए हैं कि अब विभाग के पास अपने कर्मचारियों को सैलरी देने तक का फंड नहीं है । राज्य के आबकारी मंत्री एच. नागेश ने इस स्थिति पर काफी चिंता जताते हुए कहा है कि विभाग के हालात काफी नाजुक हैं और सैलरी व दूसरे खर्चे उठाने तक के लिये पैसा नहीं बचा है । 

विदित हो कि देश में गत 25 मार्च से लॉकडाउन जारी है । तब से अब तक देश में शराब की बिक्री बंद है । देश के सभी राज्यों में बार और पब भी बंद हैं । ऐसे में शराब की बिक्री बंद होने से कर्नाटक सरकार को हर महीने 1800 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है । आबकारी मंत्री नागेश ने मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को भी इस संबंध में जानकारी दी है । आबकारी मंत्री ने बताया, 'मैंने मुख्यमंत्री से कहा है कि 3 मई के बाद हमें थोड़ी छूट देनी चाहिये । सीएम ने मुझसे कहा है कि हालात देखेंगे और फिर कोई फैसला लिया जाएगा । सीएम ने भी दुकानें खोलने में रूचि दिखाई है , क्योंकि हमें सैलरी देने और दूसरे खर्चों के लिये पैसों की जरूरत है । हमारा खजाना खाली हो गया है , मुझे यकीन है कि राहत दी जायेगी । 


हालांकि सोमवार को पीएम मोदी के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने कर्नाटक में यथास्थिति जारी रखने का फैसला लिया है । यानी प्रदेश में अभी शराब की दुकानें नहीं खुलने जा रही हैं। लेकिन प्रदेश के लोगों के साथ अब मंत्रियों को भी लॉकडाउन 2 खत्म होने के बाद कुछ राहत मिलने की उम्मीद है । 

Todays Beets: