Sunday, June 7, 2020

Breaking News

   उत्तराखंड: कोरोना के 46 नए मामले, कुल पॉजिटिव केस हुए 1199     ||   माले: ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत आईएनएस जलश्व से मालदीव में फंसे 700 भारतीय लाए जा रहे वापस     ||   बिहार: ADG लॉ एंड ऑर्डर ने जताई आशंका, प्रवासियों के आने से बढ़ सकता है अपराध     ||   दिल्ली: बीजेपी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने संभाला अपना पदभार     ||   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||

शराब की बिक्री बंद होने से आबकारी विभाग के पास सैलरी देने का पैसा नहीं, मंत्री को पीएम से राहत की उम्मीद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शराब की बिक्री बंद होने से आबकारी विभाग के पास सैलरी देने का पैसा नहीं, मंत्री को पीएम से राहत की उम्मीद

बेंगलुरु । कोरोना महामारी के बीच देश में पिछले 35 दिनों से लॉकडाउन जारी है । देश का पूरी दुनिया इस समय ठहरी हुई है , जिसके चलते अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आर्थिक मंदी भी शुरू हो गई है । भारत भी इससे अछूता नहीं है । भारत में भी आर्थिक चुनौतियां सामने आने लगी हैं। देश में उद्योगों और मल्टीनेशनल कंपनियों ने इस मंदी के चलते अपने स्टाफ को निकालना शुरू कर दिया है । इस सबके बीच खबर कर्नाटक के आबकारी विभाग की सामने आई है , जहां हालात इस कदर खराब हो गए हैं कि अब विभाग के पास अपने कर्मचारियों को सैलरी देने तक का फंड नहीं है । राज्य के आबकारी मंत्री एच. नागेश ने इस स्थिति पर काफी चिंता जताते हुए कहा है कि विभाग के हालात काफी नाजुक हैं और सैलरी व दूसरे खर्चे उठाने तक के लिये पैसा नहीं बचा है । 

विदित हो कि देश में गत 25 मार्च से लॉकडाउन जारी है । तब से अब तक देश में शराब की बिक्री बंद है । देश के सभी राज्यों में बार और पब भी बंद हैं । ऐसे में शराब की बिक्री बंद होने से कर्नाटक सरकार को हर महीने 1800 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है । आबकारी मंत्री नागेश ने मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को भी इस संबंध में जानकारी दी है । आबकारी मंत्री ने बताया, 'मैंने मुख्यमंत्री से कहा है कि 3 मई के बाद हमें थोड़ी छूट देनी चाहिये । सीएम ने मुझसे कहा है कि हालात देखेंगे और फिर कोई फैसला लिया जाएगा । सीएम ने भी दुकानें खोलने में रूचि दिखाई है , क्योंकि हमें सैलरी देने और दूसरे खर्चों के लिये पैसों की जरूरत है । हमारा खजाना खाली हो गया है , मुझे यकीन है कि राहत दी जायेगी । 


हालांकि सोमवार को पीएम मोदी के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने कर्नाटक में यथास्थिति जारी रखने का फैसला लिया है । यानी प्रदेश में अभी शराब की दुकानें नहीं खुलने जा रही हैं। लेकिन प्रदेश के लोगों के साथ अब मंत्रियों को भी लॉकडाउन 2 खत्म होने के बाद कुछ राहत मिलने की उम्मीद है । 

Todays Beets: