Friday, September 17, 2021

Breaking News

   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||   तालिबान की अमेरिका को धमकी, 31 अगस्त के बाद भी रही सेना तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे    ||   कर्नाटक CM से स्थानीय BJP विधायक की मांग- कोरोना के चलते किसी भी हिंदू पर्व पर ना लगे बंदिशें    ||   तेजप्रताप की नाराजगी के सवाल पर बोले तेजस्वी- राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर ही देंगे जवाब    ||   अंडमान एंड निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में महसूस किए गए 4.3 तीव्रता के भूकंप     ||   दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कनॉट प्लेस पर भारत के पहले स्मॉग टावर का उद्घाटन किया     ||   गुजरात में शराबबंदी के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका मंजूर, 12 अक्टूबर को होगी सुनवाई     ||   सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री ने चेताया, आर्थिक गतिविधियां खुलने के साथ ही बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले     ||   पत्नी शालिनी के आरोपों पर बोले हनी सिंह- सभी आरोप गलत, कोर्ट में चल रहा केस     ||   रांचीः महिला हॉकी में झारखंड से शामिल हर खिलाड़ियों को मिलेंगे 50-50 लाख रुपयेः CM हेमंत सोरेन     ||

यूपी - दो से ज्यादा बच्चे हैं तो न प्रमोशन - न सरकारी नौकरी, पढ़ें योगी सरकार के जनसंख्या नियंत्रण कानून का मसौदा 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपी - दो से ज्यादा बच्चे हैं तो न प्रमोशन - न सरकारी नौकरी, पढ़ें योगी सरकार के जनसंख्या नियंत्रण कानून का मसौदा 

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले मुख्मयंत्री योगी ने नई जनसंख्या नियंत्रण नीति  (New Population Policy) लाने का ऐलान कर सियासत गर्मा दी है । सरकार ने ऐसे संकेत दिए हैं कि आगामी अगस्त के दूसरे हफ्ते में इसके मसौदे को सदन में पेश किया जाएगा । इस समय डॉफ्ट को अंतिम रूप दिया जा रहा है । हालांकि इस नई जनसंख्या नीति के मसौदे के के अनुसार , आने वाले समय में राज्य में उन लोगों को लाभ होगा , जिनके दो बच्चे हैं । नए प्रस्तावित कानून के तहत दो से अधिक बच्चों के पिता को किसी भी सरकारी सब्सिडी या किसी कल्याणकारी योजना का लाभ नहीं मिलेगा । इस पॉलिसी को लेकर राज्य विधि आयोग ने 19 जुलाई तक आम जनता से राय मांगी है ।   

नहीं कर सकेंगे सरकारी नौकरी का आवेदन 

डाफ्ट को लेकर सामने आया है कि जिन लोगों के दो से ज्यादा बच्चे होंगे ऐसे लोग किसी सरकारी नौकरी के लिए भी आवेदन नहीं कर पाएंगे । इतना ही नहीं ऐसे लोग स्थानीय निकाय चुनाव भी नहीं लड़ पाएंगे । यूपी विधि आयोग के चेयरमैन आदित्यनाथ मित्तल ने बताया कि जो कोई भी कानून का उल्लंघन करेगा ऐसे लोगों को सरकारी नौकरी में प्रमोशन नहीं मिलेगा। इतना ही नहीं ऐसे लोगों का राशन कार्ड सिर्फ चार सदस्यों तक सीमित होगा और वो किसी भी प्रकार की सरकारी सब्सिडी भी नहीं ले सकेगा । 

संत समाज ने किया स्वागत

सीएम योगी की इस पहल का देश के संत समाज ने स्वागत किया है । जनसंख्या को लेकर योगी सरकार के इस जागरुकता अभियान को लेकर भी संत समाज ने योगी सरकार की जमकर सराहना की है । संत समाज का कहना है कि इस समय देश में एक धर्म को शिक्षित करने की ज्यादा जरूरत है । साध्वी गितांबा तीर्थ ने भी कहा कि सरकार का ये सराहनीय कदम है,  लेकिन देश में एक कॉम ऐसी है जो 2-3 शादी करती है । वह किसी नियम को नहीं मानती और कई बच्चे पैदा करती है । इसलिए बिना उनको शिक्षित किए ऐसा करना संभव नहीं है । 


'टोपी से टाई की तरफ लाना होगा 

योगी सरकार में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा (Mohsin Raza) ने भी अपनी टिप्पणी दी है । उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में जनसंख्या नियंत्रण पॉलिसी को लागू किया जाना बेहद जरूरी है । भाजपा मुसलमानों को टोपी से टाई की तरफ ले जाना चाहती है । लेकिन विपक्ष नहीं चाहता कि जनसंख्या नियंत्रण कानून बने । इसी मकसद से ओवैसी बहराइच आ रहे हैं । मैं उनसे कहना चाहता हूं कि पहले हैदराबाद और तेलंगाना को संभालें, और तुष्टिकरण की राजनीति करना बंद करें।

शिया पर्सनल लॉ बोर्ड प्रवक्ता बोले कानून सही, लेकिन...

इस मसौदे को लेकर ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी । उन्होंने कहा जनसंख्या नियंत्रण कानून सही है । मैं बचपन से यह नारा सुनता आ रहा हूं कि हम दो और हमारे दो. लेकिन इस पर अमल इसलिए नहीं हो सकता लेकिन प्रेक्टिकली ऐसा मुमकिन नहीं है । उन्होंने कहा कि अगर इस मसौदे की आड़े में सिर्फ मुसलमानों को टारगेट किया जा रहा है तो यह गलत है मैं इसका विरोध करता हूं ।  

Todays Beets: