Friday, September 20, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

लोकसभा अध्यक्ष बोले - समाज में ब्राह्मण सर्वश्रेष्ठ , कांग्रेस - बसपा ने बयान की जमकर की निंदा , कह दिया कुछ ऐसा

अंग्वाल संवाददाता
लोकसभा अध्यक्ष बोले - समाज में ब्राह्मण सर्वश्रेष्ठ , कांग्रेस - बसपा ने बयान की जमकर की निंदा , कह दिया कुछ ऐसा

कोटा । लोकसभा के दमदार और दबंग दिखने वाले अध्यक्ष ओम बिड़ला ने मंगलवार को ब्राह्मणों को समाज में सर्वश्रेष्ठ करार दिया । उन्होंने कहा - यह स्थान उन्हें त्याग और तपस्या के चलते मिला है । यही वजह है कि ब्राह्मण समाज हमेशा से मार्गदर्शक की भूमिका में रहा है.हालांकि लोकसभा अध्यक्ष के इस बयान के बाद विपक्षी दलों के नेताओं ने कई सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं।  ओम बिड़ला के बयान पर सवाल खड़े होने लगे हैं । कांग्रेस ने लोकसभा अध्यक्ष के बयान की निंदा करते हुए कहा कि जाति के आधार पर किसी को भी छोटा बड़ा नहीं माना जा सकता है । 

विदित हो कि राजस्थान के कोटा में अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के कार्यक्रम को लेकर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने एक ट्वीट किया । इसमें उन्होंने लिखा -  समाज में ब्राह्मणों का हमेशा से उच्च स्थान रहा है । यह स्थान उनकी त्याग और तपस्या का परिणाम है. यही वजह है कि ब्राह्मण समाज हमेशा से मार्गदर्शक की भूमिका में रहा है । 


उनके इस बयान पर कांग्रेसी नेता पीएल पुनिया ने कड़ी निंदा की है । उन्होंने कहा - जाति के आधार पर किसी को छोटा-बड़ा नहीं घोषित कर सकते । जाति और जन्म के आधार पर नहीं बल्कि मेरिट के आधार पर कोई श्रेष्ठ होता है । लोकसभा स्पीकर का बयान गलत मानसिकता का नतीजा है ।  योग्यता से लोग प्रेरणास्त्रोत बनते हैं न की जाति से ।

वहीं बसपा के राज्यसभा सांसद वीर सिंह ने भी लोकसभा अध्यक्ष के बयान का विरोध किया । वह बोले - जाति के आधार पर समाज में कोई सर्वश्रेष्ठ नहीं होता है बल्कि उसका कर्म उसे श्रेष्ठ बनाता है । ब्राह्मण को जन्म के आधार पर समाज का मार्गदर्शक नहीं बताया जाना चाहिए, क्योंकि ब्राह्मण वो होता है, जो शिक्षित और काबिल होता है । डॉ. भीमराव अंबेडकर बहुत पड़े लिखे थे,उन्होंने समाज और देश को मार्ग दिखाया इसीलिए वह श्रेष्ठ थे । ऐसे में जन्म से किसी को ब्राह्मण नहीं बताया जाना चाहिए । 

 

Todays Beets: