Friday, September 24, 2021

Breaking News

   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||   तालिबान की अमेरिका को धमकी, 31 अगस्त के बाद भी रही सेना तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे    ||   कर्नाटक CM से स्थानीय BJP विधायक की मांग- कोरोना के चलते किसी भी हिंदू पर्व पर ना लगे बंदिशें    ||   तेजप्रताप की नाराजगी के सवाल पर बोले तेजस्वी- राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर ही देंगे जवाब    ||   अंडमान एंड निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में महसूस किए गए 4.3 तीव्रता के भूकंप     ||   दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कनॉट प्लेस पर भारत के पहले स्मॉग टावर का उद्घाटन किया     ||   गुजरात में शराबबंदी के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका मंजूर, 12 अक्टूबर को होगी सुनवाई     ||   सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री ने चेताया, आर्थिक गतिविधियां खुलने के साथ ही बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले     ||   पत्नी शालिनी के आरोपों पर बोले हनी सिंह- सभी आरोप गलत, कोर्ट में चल रहा केस     ||   रांचीः महिला हॉकी में झारखंड से शामिल हर खिलाड़ियों को मिलेंगे 50-50 लाख रुपयेः CM हेमंत सोरेन     ||

बिहार में भी ''तालिबानी फरमान'' , महिला कॉलेज में लड़कियां बाल न लहराएं , चोटी बनाकर आएँ

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बिहार में भी

भागलपुर । इन दिनों देश दुनिया में अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे और उसके बाद वहां महिलाओं पर लागू होने वाले कड़े कानूनों की निंदा हो रही है । लेकिन इस सबके बीच बिहार के भागलपुर में भी एक महिला कॉलेज ने अपना नया ड्रेस कोड जारी किया है , जिसकी तुलना तालिबानी नियमों से हो रही है । असल में नए ड्रेस कोड के तहत अब छात्राओं के लहराते और खुले बालों पर प्रतिबंध लगाया गया है । इतना ही नहीं अब युवतियां कॉलेज में सेल्फी भी नहीं ले सकेंगी । बिहार में विपक्षी दलों ने इस फैसले का विरोध शुरू कर दिया है । 

सुंदरवती महिला महाविद्यालय का है मामला

बता दें कि बिहार (Bihar) के भागलपुर (Bhagalpur) जिले में स्थित महिला कॉलेज सुंदरवती महिला महाविद्यालय में हाल में नया ड्रेस कोड जारी किया है , जिसमें अब कॉलेज आने वाली लड़कियां न तो खुले बाल रख सकेंगी न ही वह कॉलेज में सेल्फी खींच सकेंगी । कालेज में करीब 1500 छात्राएं पढ़ती हैं. कॉलेज की प्रिंसिपल की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि अब छात्राओं को कालेज परिसर के अंदर सेल्फी लेने पर भी मनाही रहेगी । अगर किसी छात्रा ने बाल खुले होंगे तो उसे कॉलेज में प्रवेश नहीं दिया जाएगा । यह फैसला महाविद्यालय की कमेटी की ओर से लिया गया है, जिसपर प्राचार्य ने अपनी मुहर लगा दी है । 

जानें क्या है आदेश में 

- छात्राओं को सख्त निर्देश है कि वो खुले लहराते बालों के साथ कॉलेज नहीं आ सकतीं ।

- छात्राओं को एक या दो चोटी बांधकर ही कॉलेज आना होगा । 

- नए सेशन में रायल ब्लू कुर्ती, सफेद सलवार, सफेद दुपट्टा, सफेद मौजा, काला जूता और बालों में दो या एक चोटी जबकि सर्दियों में रायल ब्लू ब्लेजर और कार्डिगन पहनना अब अनिवार्य कर दिया है । 


- बिना ड्रेस कोड के महाविद्यालय में प्रवेश वर्जित रहेगा । 

-  नए कोड के हर नियम पर छात्राओं की पूरी सहमति है लेकिन बालों में चोटी बांधने वाले फरमान पर उनमें भारी नाराजगी है । 

 

राजद ने बताया तुगलकी फरमान

कॉलेज के इस ड्रेस कोड को लेकर अब हंगामा शुरू हो गया है । सूबे की प्रमुख विपक्षी पार्टी आरजेडी (RJD) से जुड़े छात्रों ने इसे तुगलकी फरमान बताया तो कई छात्रों ने इसकी तुलना कट्टरपंथियों और शरिया कानून से की है । हालांकि चौंकाने वाली बात यह है कि कुछ छात्राओं ने इस फैसले का स्वागत भी किया है , यहां तक कि एक छात्रा ने इस फैसले के लिए कॉलेज प्रशासन को धन्यवाद दिया है।

 

Todays Beets: