Friday, January 22, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

IPS और महोबा के एसपी रहे मणिलाल पाटीदार का नाम यूपी के कुख्यात बदमाशों की सूची में , इनाम 50 हजार

अंग्वाल न्यूज डेस्क

IPS और महोबा के एसपी रहे मणिलाल पाटीदार का नाम यूपी के कुख्यात बदमाशों की सूची में , इनाम 50 हजार

लखनऊ । महोबा के एसपी रहे IPS मणिलाल पाटीदार का नाम इन दिनों उत्तर प्रदेश के कुख्यात बदमाशों की सूची में शामिल हुआ है । महोबा के ही एक व्यापारी की संदिग्ध मौत के बाद से फरार चल रहे एसपी मणिलाल पर शासन ने इनाम बढ़ाकर 50 हजार रुपये कर दिया है । इतना ही नहीं अब उन्हें दबोचने के लिए STF की टीम को भी लगाया गया है । हालांकि व्यापारी की संदिग्ध मौत के बाद इनके फरार होने और हत्याकांड में इनकी भूमिक संदिग्ध होने के चलते इन्हें निलंबित कर दिया गया है ।

बता दें कि महोबा में क्रशर व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी को 8 सितंबर को गोली मारी गई थी, जिसके कुछ दिनों बाद उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई । हालांकि इंद्रकांत ने अपनी मौत से पहले एक वीडियों में मणिलाल पाटीदार पर संगीन आरोप लगाते हुए अपनी हत्या की आशंका जताई थी । बहरहाल , हत्या के बाद उनके भाई रविकांत ने आईपीएस मणिलाल समेत कबरई थाने के तत्कालीन थानेदार समेत दो अन्य के खिलाफ हत्या और साजिश की एफआईआर दर्ज करवाई । 

इस एफआईआर में कहा गया कि  IPS मणिलाल पाटीदार ने व्यापारी से कारोबार करने के लिए 6 लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी । आरोप है कि खुद एसपी मणिलाल ने धमकी दी थी कि यदि एक हफ्ते के अंदर रकम नहीं दी तो जान से मार दिया जाएगा या जेल भेज दिया जाएगा । रिश्वत की रकम नहीं देने पर एसपी द्वारा उसकी हत्या कर दी गई । 


विदित हो कि इस घटना के बाद से महोबा (Mahoba) एसपी रहे IPS मणिलाल पाटीदार, इंस्पेक्टर देवेंद्र शुक्ला और कांस्टेबल अरुण यादव फरार चल रहे हैं । मामला दर्ज होने के बाद कोर्ट ने एसपी समेत अन्य पुलिस वालों को 15 नवंबर को कोर्ट में हाजिर होने के आदेश दिए थे , लेकिन समय पर हाजिर नहीं होने के चलते लखनऊ की स्पेशल कोर्ट ने उन्हें भगोड़ा घोषित कर दिया ।

इसके साथ ही शासन ने IPS मणिलाल पाटीदार (Manilal Patidar) और कॉन्स्टेबल अरुण यादव को निलंबित कर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया था । इन तीनों का कोई सुराग हाथ नहीं लगने पर प्रशासन ने इन तीनों को खोजने के लिए एसटीएफ की एक टीम को तैनात किया गया है । इसके साथ ही अब प्रशासन ने इनकी इनामी राशि भी बढ़ाकर 50 हजार रुपये कर दी है । मणिलाल पाटीदार को पकड़ने के इस अभियान की निगरानी यूपी पुलिस के ADG और IG कर रहे हैं । 

Todays Beets: